Thursday, March 31, 2011

WAAH SONIA JI AAP BAN GAYEE HAIN POOREE INDIAN BAHOO !!

लो जी दोस्तों,अपनी सोनिया जी बन गयी हैं पूरी भारतीय बहू !! कल जिस तरह से भारत की जीत पर सोनिया जी ने दोनों हाथ उठा कर खुशी मनाई मेरा दिल बाग बाग़ हो गया मन कह उठा अब सोनिया जी बन गयी हैं पूरी तरह से भारतीय,किसी भी कन्या को अपने ससुराल में व्यवस्थित होने में समय तो लगता ही है !!ये तो इटली से बहुत ही कमसिन उम्र में आयी थीं !!एक घर के सदस्यों को समझने में सालों लग जाते हैं यहाँ तो पूरे हिन्दुस्तान को समझना था जहां हर १०० कि.मी.पर भाषा, व्यवहार और रिवाज़ बदल जाते हैं !!जिस तरह से पकिस्तान के साथ बातचीत शुरू करने मे किर्केट का उपयोग किया गया है ,वो भी काबिले तारीफ़ है!!सोनिया जी आप १०० साल से ज्यादा जियें यही मेरी परमात्मा से विनती है !!पाक.के कप्तान मियाँ अफरीदी ने जिस तरह से भारतीय खिलाडियों को जीतने पर मुबारकबाद दी वो भी काबिले तारीफ़ है !!कुछ लोग तंज हो रहे हैं कि देखो किर्केट मे कसाब और अफजल को भुला दिया,मैं कहता हूँ कि ऐसी बातों को भुलाना ही अछा है ----------बधाई और शुभकामनाएं  

Tuesday, March 29, 2011

HAAYE NI 6 KAA - - - - !! !! !!!!!!!!

हेलो दोस्तो,हाय !!ये हाय के भी बडे मतलब हैं ,दुख मे लोग हाये हाये कहते हैं!तो खुशी मे हाय,मै कल घर जा रहा था ,तभी मेरे कानो मे आवाज आयी ,हाये नी छक्का !!मैने देखा एक किन्नर जा रहा था ,थोडा आगे गया तो दुबारा सुनायी दिया "हाये छक्का"देखा तो पाया कि लोग टी.वि.पर मैच दैख रहे थे !कल पाकिस्तान ओर भारत मे मैच होगा ,दोनो ओर के शेर खेलेन्गे!जीते चाहे जो भी लेकिन मजा बहुत आयेगा !!सुना है इस अवसर पर दोनो प्रधानमन्त्री कुछ लेनदेन करेन्गे!तभी सुनायी दिया एक साथ दो दो छके, मेरी हन्सी निकल गयी ,क्योन्कि दोनो बेबस हैं ,कठ्पुत्लियान हैं ,अमेरिका,सोनिया,ओर सेना के  ,ये बाजु मेरे आज्माये HOOE हैं ----------------!!          

Thursday, March 24, 2011

GAYEE BHAINS PAANI MAIN -----!! !!

नमस्कार दोस्तो,कल जो संसद मे घटा,देखकर कहना होगा कि गयी भैन्स पानी मे !! बेशर्मी,मक्कारी,चालाकी ओर दबाव की राजनीति दिखायी दी !दोनो पक्षो ने मैच पहले से तय कर रखा था! जनता को दिखाया जा रहा था कि,हम सब एक है !मुस्क्राकर कटाक्ष हो रहे थे,शेरोशायरी की जा रही थी !सच तो दो सरदार बोल रहे थे,उनको अनसुना कर दिया गया !!अमेरिका के दलाल सभी दलो मे है !गुलामी देश से गयी नही है!!कलयुग मे यही तो होना है,जनता को हर हाल मे रोना है !! " जै माता की "

Monday, March 14, 2011

FUNNY DIALOGS ON' V.I.P.',S -- DONT FEEL BAD,---HOLI HAI !!

होली मुबराक् !!हन्सी,मजाक के इस महोल मेथोडी मजाकिया वाक्यहो जाये!१.महामहिम श्री मति प्रतिभा पातिल जी ,--खामोश,गुमसुम,गम्भीर, 'आग है या पानी २ श्रीमान मनमोहन सिन्घ  जी,  'एक बार मैदम से पूछःले !3श्री लालकृष्ण आडवाणी,मै प्रधानमन्त्री बनुगा !!4श्रीमती सुषमा स्वराज्,गरज गरज के बर्सुगी !!5श्री मान नरेन्दर मोदी ,दमदिखा दून्गा !६ ए.राजा ,बज गया बाजा !!७ पी.वि. थोमस ,जिद्दी बुधा !!8SHREEMATEE वसुन्धरा राजे ,मान गये ऊस्ताद !!आप भी रन्ग डालो अपनो पर मगर प्यार का                                           

Wednesday, March 9, 2011

KAMJOR KI PATNI BHAABHI SAB KI YAANI BHAARTIYA RAIL

दोस्तो,हाय !! होली की रन्गो भरी शुभ कामनाये !! पञ्जाबी मे कहतेहैं कि माडे दी जनानी यारो भाभी सभी की,ऐसी ही हमारी रेल है.जिसका जी चाहता है वो रेल की लाइन पर आ कर बेठःजाता है.ओर अपनी मान्गे पूरी करने की जिद ठानलेता है.राजनीतिक पार्टियो का सहयोग भी ऐसे लोगो को जल्दी मिलता है.राज्य सरकारे भी मस्त रहती है.माननीय उच्तम न्यायालय को ही इस मस्ले पर सखत कदम लेना पडेगा.अगर पूरी तरह बन्द ओर देश की संपत्ती का नुकसान नही रुक् सकता तो इसकी जिमेदारी उस दल की हो जो उस प्रदर्शन का आयोजक हो !!   होली मे रन्ग लगे ऐसा जिसकी खुशबू हो ऐसी की मस्ती छा जाये .नाकी ऐसा कि बदबु आये जैसी कान्ग्रेस्स ओर डी.एम.के.पारटीयो के सिटोके करार से आ रही है.ये भी भ्रष्टाचार है सोनिय जी ,राष्ट्रपति जी ,ओर मनमोहन जी.लगता है शोले के असरानि का वाक्य आप पर सही सेट होता है कि ''इतनी बद्लियो [बैज्ती]के बाद भी हम नही बदले ''.इस देश के लीडरो को सुधारने के लिये सारे कानून बदलने  होन्गे!! तो छोडो यार कहो 'आल ईस वेल ' हेप्पी होली   !!  !!  

Wednesday, March 2, 2011

CHAL GAYA HUNTER S.C.KA P. J..THOMAS PAR KYA HOGA SARKAAR KA ?? ??

पाठक मित्रो,प्यार के रन्गो से भरा नमस्कार स्वीकार करे, होली की शुरुआत सुप्रीम कोर्ट ने कर दी है ,सी.वि.सी.चेयरमैन पी.जी.थामस की नियुक्ति को अवैध् करार दे कर !काला रन्ग,चिदम्बरं,मनमोहन पर डालदिया गया है.जूते चप्प्लो की माला ले कर विपक्ष तैयार खडा है.गधे पर स्वारी कराने को जनता आतुर है .सोनिया जी जब त्याग की भावना से भरी हुइ थी,तब सारे कान्ग्रेसियो मे से सोनिया जी को अपने से दूर खडे मनमोहन सिण्घ ही पसंद आये ,सब् ने सोचा शायद खूबियो के कारण ,परन्तु तीन सालो मे कयी गलतिया हुइ है !ऐसा मनमोहन जी मान चुके हैं !तो जनता ये सोच रही है कि कहि सरदार होने कि वजह् से तो नहि बना दिया था ??क्या सरकार जायेगी ??ना जी ना फ़िर् हमे बेशरम कौन कहेगा ?? आखिर लालू जी का रिकार्ड भी तो तोड्ना है!! चलो जी आप तो होली खेलो ज्यादा मज़ाक् अछा नही.बुरा ना मानो होली है  !! 

"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...