Posts

Showing posts from June, 2011

" BATAAO - KAISE - MARNA - PASAND - KAROGE -- -- ? ? ? ? ?

Image
मरने वालो दोस्तों प्रणाम !सलाम ! मरना तो सभी ने है ,कोई अपने समय पर तो कोई असमय पर मरता है  | पर हमारी चुनी हुई सरकार रोज़ हंटर मार - मार कर हमसे पूछ रही है कि बता हमें वोट देने वाले वोटर ,कैसे मरना पसंद करोगे ? ?रोजाना नए - नए प्राण हनन  निर्णयों से आप्शन भी दिए जा रही है | ( १) विदेशी नीतियाँ ऐसी बनादें जिससे कोई देश या तो लूट कर खा जाये या फिर हमला करके गोली मार दे ? ( २) या हम ,नेता,अफसर और माफिया, मिलकर देश को ही इतना लूट लें कि उक्त देशवासी वस्तुओं के अभाव में मारा  जाए ? (३) या मंहगाई इतनी करदें कि तू कोई चीज़ खरीद ही न सके ? ( ४ )या फिर तुझे जातिवाद, साम्प्रदायिकता के दंगों में आपस में लडवा के मरवा देवें ??? बोल ? ? ? बोल  ? बोल हिंदुस्तान के हिन्दू कैसे मरेगा ?? हिन्दू बनकर,इसाई,सिख,जैन,या मुस्लिम बनकर, कैसे मरना चाहता है ? ? ? ? सुन्न पड़ा नागरिक बोला , माई बाप, मरने से पहले मेरी अंतिम इच्छा तो पूरी करदो ----? सरकार बोली,बोल तेरी क्या इच्छा है ? नागरिक बोला मुझे एक दिन के लिए इस इंडिया का राजा बना दो !हा - हा - हा - हा ---हा राजा !!,बेवकूफ समझा है क्या ? तू हमारे बहकावे में …

" KRIYA" - " OSAMA " " PRATIKRIYA " - "ASEEMA" NAND "

Image
" राम मिलायी जोड़ी ,एक अँधा ,एक कोहडी "| एक "ओसामा"और दूसरा " असीमा" नन्द |एक ने जिहाद के नाम पर खून बहाया तो दुसरे ने बदले के नाम पर , लकिन मारा तो " इंसान " ही ??? रोये तो दोनों के रिश्तेदार ??? जिनका आसरा ही लुट गया वो क्या कर रहे होंगे ??? चौरासी लाख योनियों  के बाद मानव जीवन मिलता है | कैसे हम किसी का जीवन बर्बाद कर देने का अधिकार इन दोनों तरह के कातिलों को दे सकते हैं ??? ऐसा कौन सा जुलम हुआ जो जेहाद शुरू करने की नोबत आ गयी ???किसी ने जनता को बताया ??? या फिर जनता भूल गयी ??? अगर जुलम हुआ तो वहाँ की सरकारें क्या कर रही थीं ??? क्यों नहीं संतुष्ट कर पाई अपनी जनता को ???गोलियों से हम कितने जेहादियों और प्रतिक्रिया वादियों को मार सकेंगे या जेलों में डालेंगे ??? इस विश्व व्यापी समस्या हेतु दुनिया के समझदार लोग कुछ दिनों के लिए सारी गतिविधियाँ बंद करके जेहादियों की समस्या नहीं सुन सकती ???? और फिर उचित हल नहीं निकल सकता ??? प्रतिकिरिया तो अपने आप बंद हो जाएगी ????? इच्छा शक्ति की जरूरत है | राजनितिक स्वार्थ छोड़ कर सचे मन से लगने की जरूरत है ??…

" ARE - " O " SAMBHA , UTHA TO ZARA BANDOOK, OR LAGA TO NISANA-----------!!!

Image
फिल्मी दुनिया के ख्वाबों में जीने वाले देशवासियों,नमस्कार !!!!! आज मुझे शोले के " गब्बर "की याद आ गयी | देश का माहोल ही ऐसा हुआ पड़ा है कि हर कोई चाहता है कि वो बस आर्डर करे और जैसा फिल्मो में होता है सब उसके कहने पर चले | फिल्मों में पहले तो किसी बुजुर्ग या विलीन का कहना माना जाता है | मध्यांतर के बाद या तो हीरो उस बजुर्ग का कहना मानना बंद कर देता है ,या फिर खलनायक के शिष्य उसका कहना मानना बंद कर देते हैं यंही से कहानी में नया मोड़ आ जाता है |आप कहेंगे कि आज शर्मा जी को क्या हो गया, आज भ्रष्टाचार का मुद्दा छोड़ कर फ़िल्मी मुद्दा क्यों पकड़ लिया ? नहीं - नहीं ऐसी बात नहीं है मुद्दा आज भी भ्रष्टाचार ही है लकिन मैं आज जनता का ध्यान समाजसेवकों के स्टाइल पर भी लेजाना चाहता हूँ | हम कल कुछ मित्र लोग एक होटल पर बैठ कर चाय पी रहे थे | जिसमे नेता,पत्रकार और समाजसेवक सब तरह के लोग थे | एक बोला ,यार नेता बड़े बईमान हो गए हैं |जब आतंकवादी संसद पर हमला करने आये थे तो ससुरे ये नेता बच क्यों गए ,सारों को उग्रवादी गोली मर देते तो अच्चा था ! दूसरा बोला हाँ यार मैं तो सोचता हूँ कि वो देश कि सा…

" BHRASHTACHARI - KOUN - ? ? ? AAP - WO - YA - MAIN - ????????

Image
आरोप लगाने वालो राम - राम !जी हाँ किसी से भी पूछ लो की भ्रष्टाचारी कौन है ? तो कोई भी अपना नाम नहीं लेगा सब किसी दुसरे का नाम लेंगे | ये भ्रष्टाचार  है किस चिड़िया का नाम ? कैसा,कब,क्यों और कैसे होता है ये भ्रष्टाचार ? कोई विस्तार से बताता तो है नहीं ? बस बहुत हो रहा है भ्रष्टाचार यही शोर सुनाई देता है | किसी ने अपने बाप से बड़े बूढ़े को तू या ओये कहकर संबोधित कर दिया तो क्या वो भ्रष्टाचार है ? किसी कार्यालय में अपना काम जल्दी करवाने हेतु बाबु को कुछ या ज्यादा रूपये दे दिए तो क्या वो भ्रष्टाचार है ? अचानक यात्रा करने पर रेल कंडक्टर को १०० \- रूपये दे कर एक बर्थ ले ली तो क्या भ्रष्टाचार है ?किसी मंत्री को दस - बीस हज़ार दे कर ट्रांसफर कर्वालिया तो क्या ये भ्रष्टाचार है ?किसी भूखे या मजबूर ने रूपये या भोजन चुरा लिया तो क्या ये भ्रष्टाचार है ? अख़बार वाले या चेनल वाले अपने पत्रकार  को पूरे पैसे न दे और वो पैसे लेकर कोई खबर चाप दे तो क्या ये भ्रष्टाचार है ?ऐसी कई लाइने हैं जिनमे भ्रष्टाचार को तोला जा सकता है |अगर ये भ्रष्टाचार है तो इसकी सजा क्या होनी चाहिए ?कोई कहेगा एक या दो साल , पर मैं त…

" KOUN - - SEWAK - - KOUN - - MALIK , SIRF - JHOOTE KHWAAB "- ????

Image
सपनो की दुनिया के निवासियों , नमस्कार !कल अन्ना जी कह रहे थे कि " जनता की सिविल सोसाइटी मालिक है और एम्.पी., एम्.एल.ऐ. सेवक हैं " | लालू यादव और प्रणब दा कहरहे हैं कि हम देखेंगे कि कैसे लोकपाल बिल संसद में पास होता है ? कांग्रेस के प्रवक्ता तिवाड़ी जी कहते हैं कि अन्ना जी जैसे सिविल सोसाइटी के लोग तानाशाह हैं | इस तरह से ये मामला भी " अटका " दिया गया है जैसे आरक्षण को समाप्त करना , महिला आरक्षण लागु करना,शिक्षा पद्धिति बदलना ,और युवाओं को रोज़गार गारंटी जैसे कई बिल अटके पड़ें हैं| दरअसल में जनता ने इन्हें सर पर चढ़ा लिया है | मेरा ये मानना है कि सभी राजनितिक पार्टियों कि मान्यता समाप्त करदी जानी चाहिए ताकि वर्करों कि झूटी जिंदाबाद सुन कर कोई इन्हें वोट न दे | चुनाव जितने से पहले इन्हें कोई गले में माला न डाले |किसी मुद्दे पर ये संसद न चलने दें तो उतनी देर इनसे काम ज्यादा करवाया जाए जितना समय बर्बाद हुआ है | "वेतन " बढ़ाने का बिल तो ये तुरंत इक्कठे हो कर पास करवा लेते हैं | लकिन देश हित के कार्यों हेतु ये तरह - तरह कि अडचने खड़ी करते हैं |पहले जैसे नेताओं जै…

" NIRDAYI - SARKAAR , BHRASHT WYVASTHA , ASANWDEN SHEEL - RAAJNITI OR WYVSAYI MIDIA"

Image
राम नाम सत्य है दोस्तों ,इसलिए आप सब को राम - राम !क्योंकि सरकार निर्दयी ,व्यवस्था भ्रष्ट ,राजनितिक दल असंवेदनशील ,और मिडिया व्यवसायी हो गया है | सब प्रतीक्षा में रहते हैं की कब कोई मरे और हम अपनी रोटीआं सेकें |बाबा का बी.पी. ठीक है तो कोई खास बात नहीं ,परन्तु अगर बाबा मरण आसन पर हों तो खबर है |"धुर फिट्टे मुंह तुहाडे जम्मन दे "| मुझे याद है की पहले जब किसी फिलम के किसी किरदार पर कोई पारिवारिक अत्याचार भी परदे पर दिखाया जाता था तो पूरा हाल रोने लग जाता था , और अब टी.वी. पर सरेआम गोली मारते दिखा दिया जाता है ,तो भी कुछ नहीं होता ?जिस केंद्रीय सरकार के चार - चार मंत्री बाबा के आगे - पीछे घूम कर कह रहे थे कि बाबा हम आपकी सारी बातें मान लेंगे आप अनशन पर मत बैठो , और अगर बैठो तो एक दो दिन में अपना धरना समाप्त कर देना ,हम आप को लिखित में दे देंगे ,आप अपनी तरफ से पहले लिख दो हमें प्रधानमंत्री जी को दिखाना है ताकि वो आदेश दे सकें | भोले बाबा ने अपने सहयोगी से लिखवा दिया |और जब उस दिन सरकार कि मंशा सामने आई तो बाबा समझ गए कि धोखा हो रहा है |तब सरकार ने आधी रात को उनका पंडाल तहस - नहस…

" SENA SHANTI HETU YA ASHANTI KE LIYE "

Image
राम - राम मित्रो !अब आप बताइए मैं साम्प्रदायिक हूँ या सेकुलर हूँ ?अगर मैं नमस्कार,नमस्ते हाय या फिर हेलो कंहूँ तो सेकुलर और राम- राम ,जय श्री क्रिशन या ऐसा ही कोई और अभिवादन करूं तो मैं साम्प्रदायिक हूँ | ऐसा ही कांग्रेसियों और अन्य तथाकथित सेकुलरों का मानना है |सेकुलर और सम्प्र्दयिकता की परिभाषा क्या है ?इसका नाप दंड क्या है ? कोई नहीं जानता | कुछ रानीतिज्ञ  लोगों ने अपनी सुविधा के लिए कुछ मनगढंत शब्द बना लिए हैं |देश में पिछले कई दिनों से हडकंप मचा हुआ है ,परन्तु कम्युनिस्ट पार्टिया आश्चर्यजनक रूप से अपना मुंह बंद किये बैठी हैं ?कोई नहीं पूछता क्यों ?शांति पूर्वक अनशन पर बैठे बाबा रामदेव से मिलने चंद ऐसे लोग मिलने पहुंच गए जो आर.एस.एस.,बी.जे.पी. या विश्व हिन्दू परिषद् के भी सदस्य हैं तो क्या पहाड़ टूट पड़ा ?ऐसे महत्वपूर्ण प्रश्नों को पूछने के लिए न तो मिडिया के पास समय है और ये "साले"सेकुलर नेता तो यही चाहते हैं की भ्रम की स्थिति बनी रहे |सेंकडों लोगों के साथ बाबा और उनके सहयोगी बालक्रिशन की सरकार  के सिपाहियों ने पीट - पीट कर अधनंगा कर दिया तो बाबा ने अपनी घोषणा में कहा क…

" GHAGH " MANTRI MANDAL KA " CHATUR " P.M. OR " SANCHALIKA "

Image
भारत के अचंभित देश वासिओ , नमस्कार ! जून का महिना देश के लिए मुसीबतों से भरा ही होता है | गर्मी से बेहाल जनता को जलभुन जानेवाली ख़बरें ही मिलती हैं ,जैसे : खाने पीने और रोज़मर्रा की चीजों के दाम बढ़ना,पेट्रोल,डीजल,और गैस के दामों में बढ़ोतरी आदि - आदि | लकिन ताज़ा रिसर्च ये हुई है कि देश के लिए जून का महिना हमेशां बुरा रहा है !जैसे देश का बंटवारा ,संजय गाँधी कि मृत्यु ,गोल्डेन टेम्पल पर सैनिक कार्यवाही और अब बाबा रामदेव और अन्ना हजारे का आन्दोलन और " राम लीला " सब जून मैं ही हुआ ? लेकिन मेरा मानना ये है कि इस देश मैं आज़ादी से पहले से गड़बड़ चल रही है | हिन्दुस्तानी सीधे सादे और धर्म के अनुसार चलने वाले लोग ज्यादा हुआ करते थे | चोर, कमीने,मक्कार,घाघ और गद्दार लोगों की संख्या कम हुआ करती थी | जैसे - जैसे समय बीता, वैसे - वैसे ये अनुपात बदलता गया | कारन "टोडी बच्चे " बढ़ते गए |पुराने लोग टोडी बच्चों का मतलब समझते हैं |चलिए आपको भी बता देता हूँ | पुराने जमाने में केवल राज घरानों और अमीरों में ही एक से ज्यादा शादियाँ रिवाज़ था | लेकिन आज़ादी से पहले १०० सालों तक अंग्रे…

" YUDH - KAB - SHURU - HOGA" ---- ? ? ?[BHRASHT SARKAAR KE KHILAF

Image
वन्दे मातरम , !उद्घोष होना चाहिए लोक तंत्र के समर्थको की और से |युद्ध का |भूल जाओ सारे मतभेद |अब अंतर करना होगा शरीफ और बदमाश राजनीतिज्ञों में |" अगर कोई शरीफ बचा है तो ?सभी समाज्सेविओं को और राष्ट्रीय ताकतों को एक मंच पर आना होगा |जैसे १९७५ में हुआ था |वो गठबंधन ढाई साल बाद टूट भी गया था सत्ता मिलने के बाद ,वो अब न टूटे ,ये भी ध्यान देने लायक बात है |सभी बुद्धिजीवी विचार करें |चार मंत्री चर्चा कर रहे थे ,तो मक्कार कपिल सिब्बल और द्विगविजय प्रहार करते रहे ?भोले भाले दवाई बताने वाले से गुमराह करके सहमती पत्र लिखवा लिया,और कहा अभी बताना नहीं ,बाद में वही पत्र दिखा कर बाबा को धोखेबाज़ साबित करने की कोशिश की गयी | आज प्रधान मंत्री और सोनिया गाँधी जहां पुलिस कार्यवाही के लिए जनता से माफ़ी मांग रहे हैं , तो  वही दो कमीने और मक्कार कंग्रेस्सी सारीकार्यवाही को जायज़ ठहरा रहे हैं |ढूध का ढूध और पानी का पानी हो चुका है |" क्रांति -- होनी -- चाहिए "|अगर शरीफ राजनीतिज्ञ हैं तो वो बदमाश राजनीतिज्ञों के साथ बैठ कर क्या कर रहे हैं ? जनता फैसला करे |  "संत को सिपाही बनना होगा &quo…

"KALA - DHAN ," " DESI YA VIDESHI " AB SAB BAHAR AA JAYEGA ---??

Image
गोरे रंग और काले धन के मालिको,नमस्कार !आप के लिए अच्छी खबर नहीं है, एक बाबा रामदेव नाम का आदमी योग सिखाता सिखाता नजाने किसके बहकावे में आ गया ,दिल्ली के रामलीला मैदान में कल ४,जून से आमरण अनशन पर बैठेगा, आप की सरकार के ६ मंत्री ,महात्मा गाँधी का पोता,शारुख खान और द्विगविजय सिंह जैसे लोग उन्हें मनाने के साथ -साथ एंटी बायटिक डोज़ भी दे रहे हैं | टी.वी. चेनलों के एंकर भी कुरेदने में लगे हैं ,अन्ना हजारे और बाबा के आन्दोलन में कम्पीटीशन भी करवा रहे हैं ,पर बाबा न जाने किस माटी का बना है ,अपने पत्ते खोल ही नहीं रहा | परन्तु आपलोग बिलकुल चिंता नहीं करें ,कई नेता,अभिनेता,पत्रकार और समाजसेवी आपकी मेहरबानियों पर ही जीवित हैं,वो साले किस दिन काम आयेंगे,वो इतनी बड़ी भीड़ में घुस कर किसी न किसी तरह से कलाकारी कर जायेंगे | भोले बाबा,और सिधान्तों के अनुयायी ,कंही न कंही आप की चाल में फंस जायेंगे | बस फिर आपकी बल्ले - बल्ले !!!! अच्छा जी नमस्ते ,क्या , कंही आपको ये तो नहीं लग रहा कि में बाबा के पक्ष कि बात कर रहा हूँ| मेरी बला से, जो समझना हो समझो,एक बात ध्यान से सुनलो " अगर बाबा विदेशी धन बहार…