Posts

Showing posts from August, 2014

" वार्ड चुनावों में ताल ठोकने हेतु महिलाओं ने कसी कमर , श्री मति रजनी मोदी , नीलम सांगवान , गीता देवी सरस्वा सुनीता शर्मा और संतोष गिरी जी खुलकर आयीं जनता के सामने ! अपने अपने वार्डों में शुरू किया जनसम्पर्क "!

Image
वार्ड नंबर 10 सेश्री मति सुनीता शर्मा ने अपने निवास पर भाजपा के नेताओं के समक्ष अपनी टिकेट की मांग रख दी !जो श्री पार्थ सारथी शर्मा की पत्नी और श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की पुत्रवधु हैं ! उन्होंने कहा कि हमारे परिवार ने 28 वर्षों से पार्टी की पूरी निष्ठां से सेवा की है , इसलिए उन्हें ये चुनाव लड़ने का मौका अगर पार्टी देगी तो वे अवश्य पार्षद का चुनाव लड़कर वार्ड के हितों की सेवा करेंगी ! उन्होंने अपने आपको B.A.B.ed.तक शिक्षित और कॉलेज की पूर्व में प्रधान होना बताया ! वार्ड नंबर 10 में अभी से ये चर्चा है की अगर उन्हें भाजपा ये चुनाव लड़ने का अवसर देती है तो पार्टी की जीत पक्की है ! क्योंकि इस वार्ड से श्री पीताम्बर दत्त शर्मा के सहयोग से ही पूर्व में बने पार्षद  जीत पाये हैं !

                       वार्ड नंबर 34 से ज़ाकिर हुसैन बहलिम भी अपना दावा लेकर सामने आये हैं !!जो की एक प्रसिद्ध समाजसेवी हैं दसवीं तक पढ़े हैं सूरतगढ़ के गणेश मंदिर के पास रहते हैं ! बड़े ही मृदुल स्वभाव के व्यक्ति हैं !कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए हैं ! पार्षद बनकर शहर की सेवा करना चाहते हैं !वार्ड के प्रमुख लोग इनका समर्थन…

"सूरतगढ़ नगर पालिका का पार्षद बनने हेतु चुनाव लड़ने के इच्छुक लोग , करवाने लगे अपना-अपना सर्वे "5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " की टीम से "!" कौन बनेगा पार्षद-चैयरमैन और मतदाता जागरूकता अभियान " कार्यक्रम के तहत !!

Image
बनने लगीं रणनीतियां , माँगी जाने लगीं राजनितिक दलों से टिकटें !!सम्पर्क भी शुरू !
           " इंटरनेट सोशियल मीडिया ब्लॉग प्रेस फिफ्थ पिल्लर करप्शन किल्लर " , साप्ताहिक समाचार पत्र " यश-केसरी और सूरतगढ़ दूत " की संयुक्त टीम द्वारा सूरतगढ़ में पहले विधायक चुनावों में सर्वे किया गया था , जो पूरी तरह से सफल रहा था ! उसी से उत्साहित हो कर एक बार फिर नगरपालिका चुनावों में ये सर्वे करवाया जा रहा है !! जिसे चुनाव लड़ने वाले सभी प्रकार के संभावित प्रत्याशी अपने फार्म सर्वे करवाने हेतु  हैं ! इसमें उनको कई फायदे नज़र आते हैं !
             1. नामांकन भरने से पहले संभावित प्रत्याशियों को अपनी गुप्त सर्वे रिपोर्ट मिल जाएगी कि उनके पक्ष के वोट कितने हैं !
             2.तीन प्रकार का सर्वे करवाया जायेगा ! प्रत्यक्ष सर्वे , गुप्त सर्वे और मतदान पेटी वाला सर्वे ! जिससे सटीक नतीजे मिलेंगे ! 
             3. सर्वे की रिपोर्ट सभी राजनीतिक दलों को भेजी जाएगी , जिस से संभावित प्रत्याशी को अपने चहेते राजनितिक दाल की टिकेट पाना आसान हो जाएगा !!
             4. सर्वे करने वाले समाचार पत्रों और …

" अटल - आडवाणी - जोशी अकेले नहीं हैं ,जो मार्ग - दर्शक बने हैं , मंडल स्तर तक हज़ारों कार्यकर्त्ता धूल फ़ाँक रहे हैं ! उनके बारे में जब कोई नहीं बोला तो आज कौन बोलेगा " ??? - पीताम्बर दत्त शर्मा ( लेखक )

Image
कुछ तो पाप किये होंगे ? जिनके फलस्वरूप इतना मान  मिला है हमारे जोशी , आडवाणी और अटल जी को !! अटल जी तो बीमार पड़े हैं , उनको चाहे अब कुछ बनाओ या ना बनाओ , कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है ! जोशी और आडवाणी जी के साथ राजनाथ जी को भी बता दिया गया है की अगर आपने हमारा कहना नहीं माना तो आपके लिए भी पोस्ट तैयार है ! 
              आखिर ये नेता बोलते क्यों नहीं ?? जिन नेताओं ने इनका आशीर्वाद प्राप्त कर आज गद्दियाँ पायी हैं , वो भी नहीं बोल रहे ! क्यों ??क्या कोई कुकर्म आड़े आ रहे हैं ?? U.P.A.के लीडर और मीडिया क्यों इतने आंसू बहा रहा है ?? NDTV. के प्राइम - टाइम में रविश ने तो इनकी शोक - सभा भी करवादी !!
                   मिडिया शायद ये नहीं जानता है की इस पार्टी में सब के साथ ऐसा ही होता है ! केंद्र से लेकर मंडल स्तर तक हज़ारों ऐसे कार्यकता मिल जायेंगे जिन्होंने अपना जीवन इस पार्टी को दे दिया लेकिन " चालाक , कमीने , भ्रष्ट , चोर और दलाल टाइप के लोगों ने षड्यंत्र रच के , जैसे दूध में से मख्खी निकालते हैं वैसे ही उनको निकाल दिया गया  ! किसी ने उनके बारे में ना सोचा , ना समझा और ना ही कुछ किया !! ल…

" मोदी राज में 25 बरस पीछे लौट गयी बिहार की सियासी बिसात , नितीश के चेलों ने जलायी दुश्मन लालू की लालटेन , राबड़ी देवी भई प्रसन्न "- पीताम्बर दत्त शर्मा ( लेखक-विचारक विश्लेषक )

Image
1989 के भागलपुर दंगों की हर तस्वीरे बीते 25 बरस में कांग्रेस के दौर में दंगों की पहचान भी रही है और बिहार में क्षत्रपों के सियासी सफर की बिसात भी रही है। क्योंकि कांग्रेस के दौर में हुये भागलपुर दंगों के बाद
से कांग्रेस कभी भागलपुर सीट जीत तो नहीं ही पायी। बल्कि भागलपुर दंगों ने कांग्रेस के लिये हालात तो इतने बूरे किये कि आजादी के बाद से जिस बिहार की सत्ता पर कांग्रेस हमेशा काबिज रही वहीं कांग्रेस 1989 के बाद से बिहार में चौथे नंबर की पार्टी बन गयी। लेकिन 25 बरस बाद भागलपुर की विधानसभा सीट पर कांग्रेस की जीत ने बिहार में एक ऐसी राजनीतिक बिसात के संकेत दे दिये है जहां दिल्ली की सत्ता पाने के बावजूद नरेन्द्र मोदी बिहार के सियासी कटघरे में आ खड़े हुये हैं। यह कटघरा मुस्लिम एकजूटता का भी है औरमंडल से निकली जातीय राजनीति के ध्रुवीकरण का भी है। मुस्लिमों में गरीबऔर पिछड़ी जातियां पसमांदा के नाम पर नीतीश-लालू खेमे के नाम पर बंटी।
यादव की दबंगई को टक्कर देने के लिये कुर्मी-कोयरी सियासी मलाई खाने के लिये एक हुये। लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव परिणाम ने सत्ता के लिये सियासी धाराओं में बंटे क्षत्र…

क्या अब काश्मीर पर सचमुच में कार्यवाही होगी ???क्या ड्रामा बंद होगा ??- पीताम्बर दत्त शर्मा,

Image
कश्मीर पर प्रचारक का हठ या नेहरु से आगे मोदी की नीति ?
 मेरे प्रिय मित्र पुण्य प्रसुन्न वाजपेयी जी की कलम से लिखा गया , साभार लिया गया ये लेख आप भी पढ़िए !!

वक्त बदल चुका है। वाजपेयी के दौर में 22 जनवरी 2004 को दिल्ली के नॉर्थब्लाक तक हुर्रियत नेता पहुंचे थे । और डिप्टी पीएम लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की थी । मनमोहन सिंह के दौर में हुर्रियत नेताओ को पाकिस्तान जाने का वीजा दिया गया और अमन सेतू से उरी के रास्ते मुज्जफराबाद के लिये अलगाववादी निकल पड़े थे। लेकिन 2014 में मोदी सरकार को किसी भी हालत में हुर्रियत कान्फ्रेंस बर्दाश्त नहीं है। और खासकर पाकिस्तान से किसी भी बातचीत के बीच कश्मीर के अलगाववादियों को बर्दाश्त करने की स्थिति में मोदी सरकार नहीं है। तो क्या पहली बार भारत ने कश्मीर को लेकर हुर्रियत का दरवाजा हमेशा हमेशा के लिये बंद करने का फैसला लिया है। और आने वाले वक्त में पाकिस्तान ने कभी कश्मीर राग अलग से छडा भी तो क्या मोदी सरकार हर बातचीत से पल्ला झाड़ लेगी।

असल में यही से अब साप तौर पर पाकिस्तान से बातचीत को लेकर इस नये हालात ने पहली बार दो सवाल खड़े किये हैं। पहला पाकिस्तान से बा…

"5TH PILLAR CORRUPTION KILLER "के " कौन बनेगा चेयरमैन "एवं मतदाता जागरूकता अभियान के शुभारम्भ की कहानी चित्रों की जुबानी !!

Image
सूरतगढ़ के विधायक श्री राजिन्द्र भादू और पूर्व मंत्री श्री राम प्रताप कासनिया सहित अनेक गणमान्य नागरिक , पार्षद , नेता और महिलाएं पंहुची , इस कार्यक्रम का सञ्चालन पीताम्बर दत्त शर्मा ने किया !!


" सूरतगढ़ के नेता , बिछाने लगें हैं अपनी-अपनी चुनावी बिसात " !!" फिफ्थ 
पिल्लर-करप्शन किल्लर " खोलेगा सबके राज़ , बताएगा सबको , कि जनता की  
पसन्द कौन है भावी पार्षद और कौन महिला होगी सूरतगढ़ की चेयरमैन "???
लीजिये मित्रो !! 

                      वार्डों की लाटरी भी खुल चुकी और चेयरमैन

 का भी पता चल गया !! हमारे शहर सूरतगढ़ की नगर 

पालिका का अगला अध्यक्ष कोई पुरुष नहीं बल्कि " सामान्य 

वर्ग की महिला होगी !! क्योंकि आरक्षण के नियमानुसार 

सामान्य वर्ग में , आरक्षित वर्ग भी शामिल हो सकते हैं , 

इसलिए सभी के मन में लड्डू फ़ूट रहे हैं !! सब बड़े छोटे नेता 

अपनी अपनी बिसात बिछाने में लग गए हैं !! कुछ नेताओं के 

अरमान तो चेयरमैन की लाटरी खुलने से धूल गए थे , तो 

कईयों के अरमान वार्डों की लॉटरी खुलने से बह गए हैं !! 

बेचारे !! अब अपने परिवार की महिलाओं को आगे आने हेतु 

राज़ी कर रहे हैं ! महिलाए…