Posts

"नव-वर्ष की बेला पर "बुरे" अगर बुराइयाँ नहीं त्यागें , तो आप सब "अच्छे लोगो" अच्छाइयाँ करना मत त्यागना "!- पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)

"दिल वालों की दिल्ली का अब कौन बनेगा रानी या राजा "??-पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)

'भारत रत्न' के एलान से राजधर्म का कर्ज उतर गया !

" हम किसी के प्रिय नहीं , तो क्या , इसलिए हम सबके विरोधी हैं "??-पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)