Posts

Showing posts from July, 2012
Image
" 5TH PILLAR CORROUPTION KILLER "
                         की  पेशकश
   आपके शहर में  जल्द आ रहा है......................

           " मैं "  चुनुँगा  अपना " जन- सेवक " 
           -------------------------------------------                                            52 सप्ताह तक चलने वाला, सूरतगढ़ विधानसभा के 30 वार्डों व 38 पंचायतों में जाकर, विडिओ शूटिंग करके पहले बनाया जाएगा फिर दिखाया जायेगा !जिसमे , नेताओं, पत्रकारों, बुद्धिजीवियों और समाजसेवियों से की जाएगी " तीखी - बात " !! पूछा जायेगा सबसे, क्यों है जनता परेशान,और नेता हमारे क्यों करते हैं आराम ?????
                 10 संघर्षशील कार्यकर्ताओं की बनायीं जाएगी एक कमेटी , तो जल्द संपर्क कीजिये !!इस कार्यक्रम में प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा एक गीत , एक नृत्य और 3बार लक्की - ड्रा भी निकाला जायेगा !!!
 इस कार्यक्रम में विधायक व सांसद के नए विकल्प भी तलाशे जायेंगे !!
                             ये  कार्यक्रम हर सप्ताह शनिवार को सायं 7 से 9 बजे तक नगर व विभिन्न पंचायतों में अलग- अलग बनाकर दिखाया जायेगा …
Image
श्री अन्ना हजारे जी की टीम एवं रामदेव जी की प्रेरणा से :-
   " 5th pillar corrouption killer " की पेशकश

**       " मैं " चुनुँगा अपना " जन - सेवक " !!      **

  जल्दआ रहा है आपके शहर सूरतगढ़ में, एक जन- जागरण हेतु विशेष कार्यक्रम, जिसके द्वारा मत- दाता को जगाया जायेगा और आने वाले चुनावों हेतु नए विकल्प को तलाशा जायेगा ।
           सूरतगढ़ विधानसभा की 38 पंचायतों एवं 30 वार्डों में जाकर ये कार्यक्रम बनाया व दिखाया जायेगा !!
    *    समय   :-           7 बजे सायं
   *     दिन- वार:-15 सितम्बर से हर  शनिवार ,
                           52 सप्ताह तक लगातार चलेगा !
   *     स्थान    :-          ज़नाब इक़बाल मोहम्मद      
                                      (पूर्व चेयरमेन सूरतगढ़ )
                                     के घर के सामने !

* उदघाटन कर्ता :-            ज़नाब इक़बाल मोहम्मद     
                                      (पूर्व चेयरमेन सूरतगढ़ )    अगले कार्यक्रम का स्थान बादमें घोषित किया जायेगा !               *** कार्यक्रम के मुख्याकर्षण ***             1. प्रसिद्…

" मैं " चुनुँगा अपना " जन - सेवक "

Image
" चुनने की क्षमता " रखने वाले सभी मित्रों को मेरा    सादर प्रणाम !!कृपया स्वीकार करें !!
                           अन्ना जी की टीम और रामदेव जी द्वारा चलाये जा रहे आन्दोलन से देश को एक फायदा तो अवश्य हुआ है , वो ये कि हर शहर और गाँव में एक " लहर " सी उठ खड़ी हुई है !! हर कोई यही सोच रहा है कि आगामी चुनावों में अब " वैसा " नहीं होने देंगे " जैसा " पहले होता आया है !! यानीकि अब " दारु पीकर , पैसा लेकर , जाती - धर्म - इलाका व पार्टी देखकर नेता नहीं चुना जायेगा " !! अब तो पुराने सभी भ्रष्ट लीडरों के सामने आम जनता में से नए " विकल्प " सामने लाये जायेंगे !! उन विकल्पों में से किसी एक को कोई राजनितिक दल अपना कर उसे " टिकट " दे देता है तो ठीक वर्ना उसे जनता निर्दलीय जीता कर बाद में किसी " उचित " राजनितिक दल में शामिल करवा देगी !! 
                               हमारे "सूरतगढ़,जिला श्रीगंगानगर, राजस्थान " में " हेल्प- लाइन- बिग- बाज़ार " ने ऐसे प्रयास शुरू भी कर दिए हैं ! जिनके तहत 52 सप्ताह तक चल…

" आसाम , केरल , राजस्थान और काश्मीर - किसके भरोसे "......????

Image
" भरोसेदार " मित्रो  को मेरा  प्रणाम ! !                                                                                                                            भरोसा भी एक अजीब " चीज़ " है ,हो  जाये तो किसी गैर पर हो जाता है, ना हो तो " सगे वाले " पर भी    नहीं होता चाहे फिर कोई लाख कोशिशें करले ! ! कोई सुन्दर सी लड़की टेलिविज़न पर किसी " नए " साबुन से नहाती हुई दिखाई जाती है और हम भाग कर बाज़ार से वही साबुन लाने हेतु दौड़ पड़ते हैं !! कोई हमारे शहर मेंआकर बढ़िया सा शोरूम खोल कर चंद दिनों में धन दोगुना  करदेने का कहता है तो हम अपना सारा धन उसे दे आते हैं !!सगा भाई चाहे सही  जरूरत हेतु लाख मिन्नतें करले  ,लेकिन उस पर    हमें भरोसा नहीं होता ,सोचा है कभी की ऐसे क्यों होता है हमारे साथ  ?????                      
                    इसी तरह से हमअपने  नेता, समाजसेविओं, शिक्षकों और धर्म गुरुओं पर इतना भरोसा कर लेते हैं की पूछो मत !! बाद में दहाड़ें मार - मार कर रोते हैं !! ?? ऐसा हीभरोसा हम अपनी सरकार, पत्रकारों, डाक्टरों, जजों, और सरकारी संस्…
Image
vxys pqukoksa esa eSa vkSj vki viuk “lsod” pqusaxs ;k usrk------------\
th gkWa Hkkb;ksa vkSj cguksa] ik”kZn] ljiap] Mk;jSDVj] ps;jeSu] iz/kku] ftyk izeq[k] fo/kk;d] vkSj lkalnksa dks gekjs lfoa/kku esa “tu lsod” dgk x;k gSA ysfdu vktknh ds ckn dqN gekjh Lo;Wa dh xyfr;ksa vkSj dqN pqus x, vknfe;ksa ds O;ogkj ls yxHkx gjsd tuizfrfu/kh vius vkidks ,d “usrk ;k jktk” ekuus yxs gSA vkSj mlds ifjokj okys vius vkidks “jkt ifjokj” vkSj ml ds “fe=” Lo;Wa dks ml dk “nRrd iq=” ekuus yx tkrs gSA fQj ‘kq: gksrk gS 5 lky rd vjktDrk dk ekgksy vkSj fQj oks ges’kk ds fy, vius vkidks ml in dk gdnkj le>us yx tkrs gSA bruk gh ugha nks uEcj vkSj rhu uEcj ij jgus okys Hkh vius vkidks Hkkoh nkosnkj ekuus yx tkrs gSA vke vkneh dks rks bl rjg ls Mjk fn;k tkrk gS fd oks pquko yMus dh fgEer gh uk tqVk ik;sA
ysfdu vc ,slk ugha gksxk
D;ksafd gSYi ykbZu fcx cktkj is’k djrk gS ,d ,slk dk;ZØe tks fd vke turk ds lg;ksx ls cuk;k tk,xk] vke turk ds lg;ksx ls gh iwjs fo/kkulHkk {ks= esa fn[kk;k tk,xk o le>k;k tk,xk f…

" मेरे मनमोहन को कोई कुछ ना कहे " !! ???

Image
मान जाइए !! दोस्तों मान जाइए !! इस तरह किसी को सताना उचित नहीं है!! आज्ञाकारी आदमी की इस तरह मिटटी पलीत मत कीजिये !! ये क्या बात हुई जी की क्या देसी क्या विदेशी सब हमारे प्रिय प्रधानमंत्री जी के पीछे ही पड़                                                            गए !! हम आटा 20/-,सब्जी 50/- , तेल सरसों 125/- , दाल,100/- , फल 100/- , खा लेंगे , ! बिजली , पानी ओर गैसपेट्रोल में जनता को लूटने की छूट दे देंगे !! टोल- टेक्स, सर्विस - टेक्स आदि- आदि से हम अपनी चमड़ी उखडवा लेंगे !!!!!!! लेकिन कोई हमारे प्रधान मंत्री जी को गधा , कुत्ता , चोर , डाकू और लुटेरा कहे ये हमें बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं है जी....!!
                                गठबंधन की     मजबूरी को समझो !! चोरों डाकुओं के आगे आप में से कोई बोल सकता है जो सरदार जी बोले ??? उनको अपनी जान प्यारी नहीं हैक्या ??? आपको पता नहीं क्या आजकल मार देते हैं !! जो ज्यादा बोलता है !! 
                              हमारा   प्रधानमंत्री है , हम चाहे उनका सन्मान करें या बंद कमरेमें " पंजाबी " में सम…

" ऊँ - हूँ ...!! ये आज कल के बच्चे .." ..!! ??

Image
" बाल बच्चेदार " मेरे सभी मित्रों को मेरा प्रणाम !!
                           पिछले कुछ दिनों से बड़ी अजीब - अजीब सी ख़बरें विभिन्न माध्यमों से प्राप्त हो रहीं हैं , जो मेरे मन को बहुत ही विचिलित कर रहीं थी ! राजनीति से सम्बंधित सारे समाचार उनके आगे बौने साबित हो रहे थे ! अब अगर मैं यंहा एक - एक समाचार का ज़िक्र करने लगूंगा तो बात बहुत ज्यादा लम्बी खिंच जाएगी,समाचार तो आप पढ़ - सुन ही चुके होंगे  इसलिए सभी समाचारों को अपने ज़हन में रखते हुए अपनी ये आवश्यक चर्चा शुरू करते हैं !!
                              पाश्चात्य सभ्यता हमारे ज़हनों में इस कदर घर कर चुकी है की क्या बूढ़े , क्या जवान और क्या बच्चे सब सेक्स देखने , सुनने और करने के इलावा कुछ सोच ही नहीं पा रहे हैं !! जिंदगी के हर मोड़ पर हमारे  दुश्मन अपनी - अपनी तरह की विशेषता प्राप्त " संगीनें " लिए खड़े हैं ! और उनकी जड़ें हमारे बीच में इस तरह से रच बस गयीं हैं की हमारे ही भाई, बहन, नेता , अभिनेता , अध्यापक , गुरु , और पत्रकार आदि सब तरह के लोगों में वो व्याप्त हो चुके हैं ! वो धड़ल्ले से उनका बचाव      हैं और हम उनका…

" चमचागिरी " की हद्द हो गयी ये तो .....?????

Image
" चमचागिरी " की कलाकारी जानने वाले मेरे आदरनीय मित्रो ,मस्के से भरा नमस्कार स्वीकार करें !
                           चमचागिरी एक ऐसी कला है जिसका उपयोग महिला , पुरुष और बच्चे सब करते हैं ! ये एक ऐसी कला है जो कंही किसी द्वारा सिखाई नहीं जाती बल्कि ये हर जीव में स्वभाव से ही होती है और इसकी मात्रा भी हर जीव में अलग अलग होती है ! इसे मोबाईल के मेमोरी कार्ड की तरह से घटाया - बढाया जा सकता है !! ज्यादा तर इस कला का उपयोग " कुछ विशेष " पाने की लालसा के तहत किया जाता है !!जो जीव जितना संतुष्ट जीवन व्यतीत करता है उसमे उतनी ये कला कम होती जाती है !ये खाने - पीने की वस्तुओं से लेकर कोई पद पाने की लालसा को पूर्ण करने में सहयोगी होती है ! नेताओं और कर्मचारियों में इस  कला का अपार भण्डार होता है , जिससे वो अपने आकाओं को प्रसन्न रखने का काम करते हैं !! ये " दो - धारी तलवार " की तरह होती है जिससे चमचागिरी करने वाला और जिसके साथ चमचागिरी की जा रही है , दोनों में से कोई भी लाभान्वित भी हो सकता है और अगर कंही परफार्मेंस में कोई कमी रह जाए तो ये नुक्सान देह भी हो सकती है !…

" बचें !! कंही जूतों - लाठियों की बरसात न होने लगे " !!!!!???

Image
" बरसात का आनंद " लेने वाले मित्रो , भीगा - भीगा नमस्कार स्वीकार करें !!
                                   हर मौसम का अपना एक आनंद होता है जी और अपना एक मज़ा होता है ! हर मौसम की अपनी अपनी दिक्कतें भी होती हैं !! आप सब हर मौसम के दोनों स्वादों से भली भाँती परचित होंगे !! मैं आपको ज्यादा विस्तार से हर मौसम की कमियों और फायदों के बारे मैं नहीं बताऊंगा बस हर मौसम के गीतों की एक एक पंक्ति याद कराऊंगा ....मुलाहिजा फरमाइए गर्मी के लिए संजीव कुमार जी ने एक फिल्म में गया था की " या गर्मियों की रात को ,छत पर पड़े हुए , तारों को देखते रहें " !! सर्दी हेतु तो एक गीत में इतनी कम्पन थी कि  पूछो मत " मुझको ठण्ड लग रही है मेरे पास तो तू आ " बसंत के मौसम हेतु तो फ़िल्मी गीतों में एक भण्डार सा है " रंग बसंती , अंग बसंती छा गया , मस्ताना मौसम आ गया ...' !! और बरसाती मौसम तो आशिकों का मनपसंद मौसम है जी हर कोई गाता  फिरता है कि  ..." आज मौसम बड़ा बेईमान है , आने वाला कोई तूफ़ान है ...." !! बस यंही से हमारे मन में शंकाओं का दौर शुरू हो जाता है !!??
             …

" क्या सरकारों का काम " तोड़ना " होता है "???

Image
" जोड़ - तोड़ " में माहिर मेरे " शातिर मित्रो , " हाथ - जोड़ " कर नमस्कार कृपया स्वीकार करें !!!
                       भई जब हम छोटे थे तो बड़े - बड़े नेताओं - महा पुरुषों की जीवनियाँ पढाई जातीं थीं , चल - चित्र दिखाए जाते थे जिसमे ये विस्तार से बताया जाता था की फलाने नेता या महापुरुष ने अपने जीवन में सुखों की कामना को छोड़ कर देश - समाज हेतु ये - ये कार्य किये !! जिनको पढ़ कर मन में श्रध्दा पैदा हो जाती है !! ये अलग बात है की वो चाहे उसी वक्त पैदा हो या अक्ल आने के बाद पैदा हो श्रध्दा , लेकिन ये पक्का है की मन में श्रध्दा पैदा हो जाती थी !! 
                               आज कल तो लोग धक्के से अपनी या अपने नेता की इज्जत करवाते हैं , माला पह्न्वाते हैं , मूर्तियाँ लगवाते हैं और अनुसूचित जातियों के साथ सेंकडों साल पहले हुए अत्याचार को ढाल बनाकर पाठ्यपुस्तकों में अपने नेताओं की कहानियाँ छपवाते हैं !! हमारे प्रधानमंत्री जी के प्रवक्ता  को  पड़ता है कि प्रधानमंत्री जी का पद एक संस्था है कृपया इसका अनादर मत करें !!  महाभारत के एक राजा से अगर कोई उनकी तुलना करदे तो परे…

" कण - कण में भगवान चाहिए या भगवन का कण " ???????

Image
" भगवत प्रेमी " मित्रो , सादर जय श्री भगवान् !! पिछले तीन दिनों से पूरे विश्व का मिडिया , वैज्ञानिकों के बयानों और रंग बिरंगे चित्रों - ग्राफिकों से हम साधारण बुध्धि वाले लोगों को ये समझाने की कोशिश कर रहे हैं की उन्होंने उस विशेष " कण " का पता लगा लिया है जिस से परमात्मा ने सूरज , चाँद और सितारे बनाये !! और उसी से ब्रह्मांड में जीवन की उत्पत्ति हुई !! उन्हों ने ये भी मन की पिछले 4सालों से पूरे विश्व के 113देशों के10,000 वैज्ञानिकों की अरबों रुपयों की लगत और मेहनत से ये " महीन " निष्कर्ष निकला है की अनु में एक ऐसा कण भी होता है जो दो अणुओं की प्रकाश की गति से टक्कर होने पर निकलता है !! और ये कण हर बार की टक्कर से नहीं निकलता बल्कि किसी - किसी टक्कर में निकलता है !! अभी तक हमारे महान वैज्ञानिकों को ये भी नहीं पता चला है की वो कौन सी विशेष प्रकार की टक्कर होती है जिससे ये " बोसों " नामक " भगवन का कण निकलेगा !! अभी कई वर्षों तक और पर्योग होंगे , टेस्ट होंगे तब कंही जाकर खोज पूरी होगी !!
                              हमारे वैज्ञानिकों का कहना है…

" लो जी ,आ गया हमारा जनम दिन भी " !!!!!!!

Image
" जनम - दिन मनाने वाले " ज्ञानवान सखियों और सखाओं एवं प्यारे बच्चो !! सबको प्यार भरा नमस्कार !
                               जिस प्रकार से सबका कोई ना कोई जनम दिन होता है ऐसे ही हमारा जनम दिन भी है , सही है या गलत ये हमें पता नहीं जी , हमें तो इतना पता है कि हमारी एक जनम कुंडली बनी हुई है जिसमे ये लिखा है की ये महा - पुरुष 4.जुलाई 1961. को दोपहर 1:30. से 2:00 बजे के बीच में राजकीय चिकित्सालय अबोहर पंजाब में " साक्षात प्रकट " हुए !! आप कहोगे की सारे तो जनम लेते हैं आप प्रकट कैसे हो गए जी , तो सुनिए जी , आप भूल गए की शास्त्रों में साफ़ - साफ़ लिखा है की देवता लोग अवतरित होते हैं ! रामायण में कविराज तुलसी दास जी ने लिखा है की " भये प्रकट कृपाला , दीन - दयाला , कौशल्या हितकारी !! हमारे पास भी पुख्ता सबूत है की जनाब हम भी प्रकट हुए हैं ! 
                                हमारी माता श्री मति वीणा पांणी जी " रामायणी " ने हमें बताया था की तुम्हरे पिता श्री वेद  परकाश जी " दिग्गज " साहब हमारे जनम के समय बहुत चिंता में थे और हॉस्पिटल के वार्ड में इधर से …

" जन - सेवक " भी - " सेवा- कर " के अंतर्गत आना चाहिए ..!!!

Image
" सेवा " करने वाले सभी स्वयं - सेवकों मित्रों को मेरा श्रध्धा पूर्वक नमस्कार !! 
                                  हमारे नेता बेचारे बेहद बदनाम हो चुके हैं की वो कोई काम नहीं करते , देखो उन्होंने कितना सुन्दर काम किया है की जो सेवा करते हैं उनसे 12% टेक्स वसूलेंगे !!  138. सेवाओं को चिन्हित किया गया लेकिन सबसे बड़े सेवकों यानी खुद को ये हमारे नेता भूल ही गए क्यों ...??? सब से बड़ी सेवा तो ये ही लोग कर रहे हैं यारो !! की नहीं ....क्या कहा नहीं करते ...., कुछ भी काम नहीं करते ...!! नहीं नहीं ऐसा मत कहिये सेवा तो करते ही हैं , ये बात अलग बात है की ये अपनी पार्टी और अपने चहेतों ( चमचों ) की सेवा ज्यादा करते हैं !! 
                                  वैसे एक प्रकार की सेवा पुलिस वाले भी करते हैं उसे भी टेक्स वाली सूची में हमारी सरकार ने शामिल नहीं किया अब इस देश में नेताओं के बाद कोई सच्चे मन से सेवा करता है वो हमारी पुलिस ही तो है , इससे भला कोई इनकार कर सकता है !नहीं ना ..!! अगर हमारी सरकार इन दो सेवाओं पर भी टेक्स भी लगा देती तो मैं दावे के साथ कह सकता हूँ की सब ख़ुशी से टेक्स अद…