Posts

Showing posts from July, 2013

" फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " इंटरनेट सोशियल मिडिया ब्लॉग प्रेस का - : " तीसरा - पन्ना " !! स्पेशल रिपोर्ट- पीताम्बर दत्त शर्मा ( लेखक व समीक्षक ) मो. 09414657511.

Image
" आम आदमी " तो क्या " सूरतगढ़ के पुराने क्षत्रप " भी नहीं लड़ सकते विधानसभा का अगला चुनाव !!क्योंकि चुनाव का असली खर्च और चुनाव प्रबन्धन हेतु  " मैन पावर "नहीं है किसी के पास , टिकेट मांगने में ही लगता है डर !! लेकिन " दिल है कि मानता नहीं " !!
जयादा पुराणी बात नहीं है , जब सूरतगढ़ की सारी  राजनीती , पुराने बाज़ार से संचालित होती थी ! सभी पार्टियों के नए व पुराने कार्यकर्ता यंहा शाम ढलते ही इकठ्ठे होने लगते थे , और चर्चाओं का दौर शुरू हो जाता था ! कौन व्यक्ति कौन सी पार्टी से चुनाव लड़ने वाला है , कौन सा व्यक्ति दल बदलने वाला है , कौन सी पार्टी ये चुनाव जीतेगी और कौन सी पार्टी ये चुनाव हारेगी आदि आदि !! कभी - कभी तो ये चर्चाएँ इतनी गर्म हो जाती थीं कि इसकी चर्चा अगले दिन सारे शहर में फ़ैल जाया करती थी !!साथ ही समाचार पत्रों में भी जगह पा जाती थी ! लेकिन पिछले कई सालों से सभी राजनितिक दलों के कार्यकर्ताओं ने यंहां आकर चर्चाएँ करना बंद सा कर दिया है और ना ही कोई बड़ा नेता माहौल जानने हेतु शाम को यंहा आता है !! ऐ .सी. कमरों में ही बैठ कर " रंगी…

" तस्वीरें बोलती हैं "...........!!!!

Image
" तस्वीरें बोलती हैं "...........!!!! " तस्वीरें बोलती हैं "...........!!!! " तस्वीरें बोलती हैं "...........!!!! " तस्वीरें बोलती हैं "...........!!!!


भारत सरकार के पूर्व RAW अधिकारी आर एस एन सिहँ ने कुछ ऐसे खुलासे किये जो शायद आप को हिला कर रख देंगे।

1) उनका कहना है की आई.बी. को किसी भी तरह की आतंकी घटना के बारे पूर्व सुचना सरकार को नहीं देनी चाहिए। क्योकि आज कांग्रेस सरकार पाकिस्तान और आतंकवादियों से ब्लैक मेल होकर सभी सुरक्षा एजेंसीयो को आपस में लड़ा कर कमजोर कर रही है।

2) उन्होंने बताया की बोधगया में हुए आतंकी हमलो पर उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ है। उन्होंने पूछा की नितीश कुमार पाकिस्तान क्यों गय थे? क्या वो वहा पर वोट बैंक के कारन गए थे? अभी २६/११ के खून के छीटे भी नहीं धुले है और यह नितीश पाकिस्तान का दौरा कर रहे है?

3) उन्होंने बताया की पूरा उत्तर बिहार इंडियन मुजाहिद्दीन और लस्कर-ए-तोएबा का गढ़ बन गया है और जब से नितीश कुमार पाकिस्तान गए है तबसे यह और भी ज्यादा बढ़ गया है।

4) भारत का दुश्मन नं.1 हाफिज सैईद काग्रेस को ब्लैकमेल कर रहा है। क्…

" क्लीन - चिट " मिल गयी ....." सफेद - पोश चोरों " को ! ! क्या हो गये ," मिस्टर - क्लीन " ????

Image
धवल वस्त्र और धवल चरित्र के धनि मित्रों को मेरा सादर नमस्कार !! जिन्हें किसी " क्लीन - चिट की कोई आवश्यकता ही नहीं है जीवन यापन हेतु , जो केवल अपने परमात्मा को ही हाज़िर - नाज़िर जानकार ही अपना जीवन गुज़ारते हैं !!
                    लेकिन विश्व में कई ऐसे लोग भी होते हैं जिन्हें पैसे की इतनी हवस होती है की बाकी सब समाज और प्रकृति के नियम वे लोग धन हेतु जीवन में हज़ार बार तोड़ देते हैं !! उनके माथे पर कोई " शिकन " तक नज़र नहीं आती ! कलयुग में ऐसे ही कौओं को हँस माना जाता है !! तभी तो एक फ़िल्मी गीत में कहा भी गया है कि " रामचन्द्र कह गये सिया से , ऐसा कलयुग आएगा , हंस चुगेगा दाना तिनका , कौवा मोती खायेगा !! आज उस गीत का हर शब्द सच्चा साबित होता नज़र आ रहा है !!
                        क्योंकि कल b.c.c.i . की जाँच कमेटी ने सट्टे के जुर्म में फंसे सभी लोगों को " क्लीन चित दे दी कि इन्होने कोई गलत काम नहीं किया है , ये क्रिकेट के सट्टे में बिलकुल भी शामिल नहीं थे !! आज b.c.c.i. पूर्व अध्यक्ष श्री निवासन जी बिना देर किये आज ही अपने अध्यक्ष पद के आसन पर विराजमान हो …

" 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " ( फिफ्थ पिल्लर - करप्शन किल्लर ) का " तीसरा पन्ना " ! !

Image
सूरतगढ़ के विधायक पद की " दौड़ " आ रही है नजदीक ,कईयों ने ट्रैक पर दोड़ना भी शुरू कर दिया तो कई , सपनो में ही लगा रहे हैं दौड़ !!
                                  * ----------------- *  
  समस्त रिपोर्ट द्वारा - पीताम्बर दत्त शर्मा ( राजनितिक - समीक्षक ) (मो.९४१४६५७५११, इमेल :- pitamberdutt.sharma@gmail.com)
      ( ब्लॉग लिंक : pitamberduttsharma.blogspot.com )
                                   सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के मतदाता और विधायक पद पाने की इच्छा लिए प्रत्याशी , दोनों  अलग ही दुनिया में विचरण करते नज़र आ रहे हैं ! जंहा वोटर हर बार की तरह इस बार भी ये सपने फिर से देख रहा है कि कोई करिश्मा होगा , कोई अवतार आएगा और हम सब का जीवन सुखमय बना देगा ! अबकी बार जो विधायक बनेगा वो स्वयं के हितों को ना देख , जनता के हितों को सर्वोपरि मानेगा ! और उसमे सेवा भाव कूट-कूट कर भरा होगा एवं भ्रष्टाचार उसके पास भी नहीं फटकेगा  !! बेईमान - सत्ता लोलुप लोग उसके पास भी नहीं फटकेंगे !! लेकिन ……… क्या वास्तव में ऐसा होगा ??? आइये देखते हैं , आज के विधायक पद के दावेदारों पर एक सरसरी नज़र दौड़…

" शर्त लगालो !! मनमोहन नाम के खिलोने में चाबी भरी जा रही है , वो 8 से 15 अगस्त के बीच में अवश्य बोलेंगे " ……… !!!

Image
किसी की सोच पर नहीं चलने वाले सभी मित्रों को मेरा अकलमंदी भरा प्रणाम !!
                             श्री मति सोनिया गाँधी , श्री राहुल गाँधी , श्री मति प्रियंका गांधी और भारत के प्रधान - मंत्री माननीय मनमोहन सिंह नहीं-नहीं मनमोहन गांधी ने देश में व्याप्त समस्याओं पर बोलना क्या बिलकुल बंद कर दिया है ???? क्यों ??
                          कबूतर जैसे बिल्ली को देखकर अपनी आँखें बंद कर लेता है तो क्या बिल्ली उसे छोड़ देती है !! क्या उन्होंने हर बात का जवाब देने हेतु अपने चमचे रुपी प्रवक्ता ही रख छोड़े हैं ??? क्या उनका कोई देश के प्रति फ़र्ज़ नहीं ???? तो वो हैं किस मर्ज़ की दवा ????? केदारनाथ का हादसा , बिहार का मिड - डे - मील काण्ड , भ्रष्टाचार के विभिन्न काण्ड , माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा समय - समय पर की गयी प्रशासनिक कमियों पर टिप्प्न्निया और अन्य कई ऐसे घटनाएं हैं जिन पर प्रधानमंत्री जी का बयान आना अतिआवश्यक है !! चीन द्वारा बार्डर पार करके वंहा के निवासियों को धमकाना ,और देश के नेत्रित्व का चुप रहना क्या दर्शाता है ??
                             क्या सचिव स्तर की वार्ता काफी है …

" जब माँझी ही नाव डुबोये …… , तो उसे कौन बचाए ??????

Image
भारत सरकार के पूर्व RAW अधिकारी आर एस एन सिहँ ने कुछ ऐसे खुलासे किये जो शायद आप को हिला कर रख देंगे।

1) उनका कहना है की आई.बी. को किसी भी तरह की आतंकी घटना के बारे पूर्व सुचना सरकार को नहीं देनी चाहिए। क्योकि आज कांग्रेस सरकार पाकिस्तान और आतंकवादियों से ब्लैक मेल होकर सभी सुरक्षा एजेंसीयो को आपस में लड़ा कर कमजोर कर रही है।

2) उन्होंने बताया की बोधगया में हुए आतंकी हमलो पर उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ है। उन्होंने पूछा की नितीश कुमार पाकिस्तान क्यों गय थे? क्या वो वहा पर वोट बैंक के कारन गए थे? अभी २६/११ के खून के छीटे भी नहीं धुले है और यह नितीश पाकिस्तान का दौरा कर रहे है?

3) उन्होंने बताया की पूरा उत्तर बिहार इंडियन मुजाहिद्दीन और लस्कर-ए-तोएबा का गढ़ बन गया है और जब से नितीश कुमार पाकिस्तान गए है तबसे यह और भी ज्यादा बढ़ गया है।

4) भारत का दुश्मन नं.1 हाफिज सैईद काग्रेस को ब्लैकमेल कर रहा है। क्योकि काग्रेसियोँ द्वारा गरीब जनता के लुटे गए पैसे को हवाला के जरिए विदेशोँ मे पहुचाने मे हाफिज सैईद इनकी मदद करता है। जिसकी ऐवज मे वो भारत मे अपना आँतकी नेटवर्क बे रैकट चला रहा है। आज के ब…

" पड़ोसियों की दुआओं " से पैदा हुए माननीय सांसदों ने ओबामा जी को बनाया , अपना …… " बाप " !!??

Image
" माता-पिता की दुआओं  और परमात्मा के आशीर्वाद से पैदा  हुए सभी मित्रों को मेरा गौरव भरा नमस्कार  ! स्वीकार करें !!
                            दुष्ट प्रकृति के व्यक्ति कई बार ऐसे घृणित कार्य कर गुज़रते हैं , कि समाज को शर्मिंदा होना पड़ता है !! हमारे माननीय  65 सांसदों ने तो ऐसा काम कर दिया है जिससे साबित हो गया है कि हमारे नेताओं के पास देश को सुचारू रूप से चलाने की क्षमता , देश के दुश्मनों से लड़ने का मादा ,गद्दारों को पहचान कर मौत के घाट उतारना और विश्व में भारत की शान बढ़ाने की क्षमता तो पहले से ही नहीं थी , ये साबित हो चूका था , लेकिन कल तो हद ही हो गयी !! इन " हरामज़ादों " ने अपने क़ानून व्यवस्था को नकार कर अमेरिका के राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा कि नरेन्द्र मोदी को अमेरिका का वीज़ा ना दिया जाए !! क्योंकि वो 2002 के गुजरात दंगों के दोषी हैं उनके मुताबिक !!
                          कोई कहता है आडवानी जी की रथ यात्रा के बाद आतंकवाद बढ़ गया और कोई कहता है  गुजरात दंगों के बाद इंडियन मुज़ाह्दीन बना  !! इन ससुर के नातियों से कोई पूछे कि पंजाब में आतंकवाद को पैदा करने वाला…

"वो कहते हैं हमसे …, अभी उमर नहीं है तकरार की !! करने दो हमें घोटाले , प्यार से …. !!

Image
प्यार और तकरार करने वाले सभी मित्रों को मेरा बेकरारी भरा नमस्कार !! क्योंकि मैं हो रहा हूँ परेशानइन नेताओं की हेराफेरी से , सीनाज़ोरी से और मासूम दिखने की होशियारी से …। शायद कुमार विश्वास जी ने लिखा है , लेकिन लिखा दिल से है … आप भी पढ़िए और अपने अनमोल विचारों से हमें अवगत अवश्य करवाइए !!

*****सीधे दिल से लिखा है..उम्मीद है इस ख़त को दिलवाले ही पड़ेंगे..दिल से****
सियासत चाहती है….....
*हम भूल जाएं कि हमें कार में दुनिया का सबसे महंगा पेट्रोल क्यों डलवाना पड़ता है ... सिर्फ ये याद रखें कि वह कार ले कर हमें मंदिर जाना है या मस्जिद ?
सियासत चाहती है...
*हम भूल जाएं कि हमारे टैक्स के कितने पैसे वो मिल- बाँट कर खा गए... सिर्फ ये याद रखें कि हम चरणामृत से उपवास खोलते हैं, या खजूर से ?
सियासत ये चाहती है...
*हम भूल जाएं कि उस नेता का नाम क्या था जिसने शहीद सैनिक को कुत्ता कहा था... सिर्फ ये याद रखें कि हमारे नाम में पांडे लगा है या मुहम्मद ?
सियासत चाहती है....
*हम भूल जाएं कि लोकपाल जैसे कड़े कानून के पन्ने किस तरह फाड़ कर संसद में लहरा दिए गए थे... सिर्फ ये याद रखें कि हमारे घर के सब से…

" लोकप्रियता के आगे सर झुकाना ही पड़ता है " ...जी !

Image
झुक कर सलाम करने वाले सभी मित्रों को मेरा " बा - अदब वाला सलाम !! कबूल फरमाइए !!
                      कांग्रेस पार्टी और क्षेत्रीय पार्टियों हेतु एक बहुत ही सुविधाजनक बात है , और वो ये कि इनके केवल मुखिया ही लोक - प्रिय होते हैं बाकी नेता नहीं !! जैसे कांग्रेस में तो जो गाँधी परिवार में पैदा हो गया , वो जन्मजात लोक प्रिय नेता होता है जैसे कोई राजपरिवार हो !! दुसरे दलों की तो ये हालात होते हैं की या तो कोई दूसरा सदस्य लोकप्रिय होता नहीं और अगर हो गया तो उसे अपना अलग राजनितिक दल ही बनाना पड़ता है जैसे नितीश,लालू,मुलायम और अजित सिंह आदि आदि !!
                           लेकिन हमारी भाजपा में ऐसा नहीं है !! यंहा कोई भी लोकप्रिय हो सकता है !! और जो लोक प्रिय हो जाता है और अगर वो जल्दबाजी करता है तो वो मदन लाल खुराना , उमाभारती, जसवंत सिंह , आडवानी जी और कल्याण सिंह जी की तरह " भँवर
" में फंस जाते हैं !! कोई कोई ही नेता " पक " कर जनता के दिलों में अपना स्थान बना पाते हैं !! जैसे पनिकर , रमण सिंह , शिवराज सिंह , वसुंधरा राजे , सुशिल मोदी , सुषमा स्वराज , अरुण जेटली , …

' मरने से डरता हुं मैं .......माँ "........ओ !! मेरी माँ .!!

Image
" खलनायक " रुपी नेताओं द्वारा कोई कष्ट पा चुके सभी मित्रों को मेरा सहानुभूति भरा नमस्कार !!
                बिहार में ज़हरीला सरकारी खाना खाकर आकस्मिक मृत्यु का शिकार हुए प्यारे बच्चों को अपनी भावभीनी श्रद्धांजली देते हुए सभी राजनितिक दलों के नेताओं को " दुत्कार " कर कहना चाहता हूँ कि " हे यम पुत्रो !! तुम्हें अगर जुकाम भी हो जाये तो सरकारी खर्चे पर बड़े से बड़े अस्पताल में अपना इलाज करवा आते हो चाहे वो विदेश में भी क्यों न हो ??? कभी - कभी तो अपनी बीमारी भी नहीं बताते हो !! और दुष्टो ! इस देश का भविष्य हमारे बच्चे अगर तुम्हारे द्वारा चलायी गयी भ्रष्टाचार से भरी मिड-डे-मील योजना का ज़हरीला खाना खाकर बीमार हो जाते हैं तो तुम्हारा जिला प्रशासन उन्हें अपने प्रदेश के बड़े अस्पताल तक भी नहीं पंहुचा सकता .......???आखिर वो इलाज के आभाव में कब्र तक पंहुच  गए ......धिक्कार है !!
                       आज हालत ये है कि सरकारें भी यही चाहती हैं कि " खाओ और खाने दो " !! हर योजना और क़ानून को बनाते वक्त कई ऐसे लुपोल छोड़ दिए जाते हैं जिनसे भ्रष्टाचार हो सके और नेता…

" सकल जगत में ," खालसा " पंथ गाजे , जगे धर्म " हिन्दु " सकल भण्ड भाजे ....!!!

Image
हिंदू शब्द वैदिक साहित्य में प्रयुक्त ' सिंधु ' का तदभव रूप है | वैदिक साहित्य में " सप्तसिंधु " शब्द का प्रयोग हुआ है | जो स्वात, गोमती, कुम्भा, वितस्ता, चंद्रभागा, इरावती, सिंधु इन सात नदियों से व्यापक प्रदेश का सूचक है |


पुराने समय में विदेशी लोग भारत को उसके उत्तर- पश्चिम में बहने वाले महानद सिंधु के नाम से पुकारते थे, जिसे ईरानियो ने हिंदू और यूनानियो ने हंकार का लोप करके " इण्डोस " कहा | वही कालान्तर में हिंदू बना और व्यापक रूप से प्रचलित है | भारतवर्ष में रहने वाले " समाज " को लोग हिंदू नाम से ही जानते आये है | हज़ार वर्ष से भी अधिक समय हो चूका है, भारतीय समाज, संस्कृति, जाति और राष्ट्र की पहचान के लिये " हिंदू " शब्द सारे संसार में प्रयोग किया जा रहा है |

विदेशियों से अपनी उच्चारण सुविधा के लिये सिंधु का हिंदू या इण्डोस बनाया था, किन्तु इतने मात्र से हमारे पूर्वजों ने इसको त्याज्य नहीं माना | हिंदू जाति ने हिंदू शब्द को न केवल गौरवपूर्वक स्वीकार किया अपितु हिंदुत्व की लाज रखने और उसके संरक्षण के लिये भारी बलिदान भी दिए है |

अद्…

बहुत कुछ छिपाता है ये - " बुर्का और पर्दा "...!!!!

Image
सभी पर्दानशीं और बेपर्दा मित्रों को पर्दादारी में सलाम !! कबूल फरमाएं .........जी !!
                         अमर कथाकार मुंशी प्रेम चन्द जी की एक कहानी हमने युवाकाल में पढ़ी थी जिसका शीर्षक था " पर्दा " ! बड़ी ही मार्मिक कहानी थी जी ये एक गरीब परिवार की सभी " मजबूरियां " छिपाता हुआ वो पर्दा हमें आज भी याद है ! क्योंकि हमें अपनी गरीबी आज भी याद है , हम अपनी ओकात नहीं भूलें हैं  !! जिसे अपनी ओकात याद नहीं रहती उसको कोई पर्दा भी नहीं बचा पाता जी !! वो फिर चाहे कोई एक व्यक्ति हो या कोई समाज , कोई धर्म हो या राजनितिक दल ,ओकात भूलते ही उसे घमण्ड होने लगता है और जब घमण्ड सर चढ़ कर बोलने लगता है तो फिर पाप होने लगते हैं !! और जब पापों का घड़ा भर जाता है तो फिर सभी प्रकार के .....पर्दे - बुर्के उड़ने लगते हैं और सच्चाई की स्थापना किसी के द्वारा होती है !!
                          मोदी जी के वक्तव्य के अनुसार कोंग्रेस पार्टी जब भी फंसती है तो वो सेकुलरों और मुसलमानों का सहारा लेती है और उनके आवरण यानि परदे में छिप जाती है !! मेरा तो ये कहना है कि कोंग्रेस पार्टी न केवल छिपती…

मोदी के " दुश्मन " हाय-हाय ,हाय-हाय....!!!!

Image
ताज़ा वस्तुओं,घटनाओं का " आनंद " लेने वाले सभी मित्रों को मेरा हार्दिक और ताज़ा नमस्कार !!
             माननीय न्यायालय ने बड़े ही ऐतिहासिक निर्णय कर दिए , उस पर तो बस एक बार चर्चा कर रस्म पूरी कर ली इन देश के ठेकेदारों ने , जिसमे मिडिया,एन जी ओ ,कम्युनिस्ट और भ्रष्ट यू पी ऐ भी शामिल है ! लेकिन मोदी जी ने अपने आपको हिन्दू राष्ट्रभक्त क्या कह दिया कि बस पूछो मत .....लग गयी आग इन तथाकथित " सेकुलरों के पिछवाड़े में ,लगे हाय तौबा मचाने और करने लगे याद 2002 के दंगे .....!!!!
                     विदेशी हाथों में खेलने वाले ये गद्दार और कितना नुकसान पंहुचायेंगे ! हमारे भारत को ....!! इन कूकरों - शूकरों ने भारत माता में श्रद्धा रखने वाले कई मुस्लिमों,सिख्खों,इसाईओं और अन्य धर्मावलम्बियों को देश भक्ति के रस्ते से भटका दिया है !! इन नकली सेकुलरों के हिन्दू विरोधी प्रचार से ही कई लोग आतंकवादी बने हैं !! पैसा ही इन गद्दारों के लिए सब कुछ हो गया है !! सरकारी पद पाने हेतु ये लोग अपनी माता को भी बेच दें तो कोई अचरज नहीं होगा !! 


                   कोई दुसरे देश की सेना हम पर हमला करे तो…

" नेत्रित्व " की क्षमता खोते ये हमारे आधुनिक नेता , और "कार्य" करने की क्षमता खोते ,आज के कार्यकर्ता ....!!

Image
नेत्रित्व की क्षमता खोते , नेताओं की नेतागिरी के " शिकार " हुए सभी मित्रों को मेरा हार्दिक नमस्कार !!
          भारत देश का ये बड़ा ही दुर्भाग्य है कि मजबूत तरीके से देश के नेत्रित्व करने वालों का आज देश में अभाव हो चला है ! कोई भी राजनितिक दल हो उसमे एक-दो या मुश्किल से पांच चेहरे ही वास्तविक नेता नज़र आते हैं ! बाकी तो सब पिछलग्गू ही हैं !! जो अपनी बात भी अपने नेत्रित्व के आगे नहीं रख पाते ,वो भला आम जनता की बात अपने नेत्रित्व को कैसे समझा पाएंगे ??
           आज सरकार जो योजनायें अपनी मर्ज़ी के मुताबिक बनाती है,जिसमे उनके राजनितिक दल और सहयोगी दलों को ज्यादा चन्दा मिलता हो,उन्ही योजनाओ और निर्णयों को लागू किया जाता है,और पिछलग्गू नेता भी वो ही गीत गाते फिरते हैं !!इनके अपने विचार कुछ भी नहीं होते !! ये नेता  तो सिर्फ जनता और कार्यकर्ताओं को "सुचना" देने वाले माध्यम मात्र हैं !! फलाना नेता फलानी तारीख को फलानी जगह पधार रहा है !!!!!!!!! रिपोर्टर लोग खबर लगा देते हैं , विशेष प्रकार के कार्यकर्ताओं को फोन करके बुलाया जाता है , आम जनता को बसों पर धो कर लाया जाता है, सारे …