Thursday, August 29, 2013

" इन्डियन - मिडियुद्दीन "," अटकल - भटकल " !!

समाचार - माध्यमों से किसी भी प्रकार से जुड़े सभी मित्रों , आपको सादर नमन !!
                    समाचार को बनाने वाले, उसकी स्क्रिप्ट लिखने, उसको छापने या दिखाने वाले और उस " तैयार " किये गए " स्पाईसी - न्यूज़ " को पढने-देखने और झेलने वाले दीन-हीन भारतीयो !! जैसे जैसे कलयुग के बादल गहरा रहे हैं वैसे-वैसे भ्रष्टाचार का स्वरूप भी बड़ा होता जा रहा है !! कोई ज्यादा पुराणी बात नहीं है जब लोग कहा करते थे कि ये चंद काम हम नहीं करेंगे इनको करने से हमें श्रम आएगी या हमारे परिवार की शान चली जायेगी !! लेकिन आज देखिये ऐसा कोई काम नहीं बचा है जिसमे भ्रष्टाचार करने की गुन्जायिश ना हो !!
                   शिक्षा , चिकित्सा,पत्रकारिता और धार्मिक ज्ञान देने वाले जैसे चाँद कार्य ऐसे हैं जिनमे अगर भ्रष्टाचार करने का कोई समाचार पढने-देखने को मिलता है तो आज भी हैरानी होती है !! आज हम केवल पत्रकारिता के भ्रष्टाचार की ही बात करेंगे !!
                     जब से ये इलेक्ट्रोनिक - मिडिया आया है तबसे ख़बरों को " बनाने " का काम ज्यादा चल-निकला है !! मुझे याद हैं वो दिन जब किसी छोटे से मासिक-पाक्षिक या साप्ताहिक समाचार पत्र में अपनी काव्य रचना या कहानी प्रकाशित करवानी होती थी तो संपादक महोदय जो उस समाचार-पत्र के मालिक जी भी हुआ करते थे , कितने नखरों के बाद माना करते थे !! हमें बहुत ही बुरा लगा करता था ! बाद में हम मित्र लोग जब मिला करते थे तो उन महाशय की " वो " वाली बड़ी तारीफ़ किया करते थे ! जिसे सुन कर हमसे बड़े लेखक लोग हमें दन्त भी दिया करते थे !! पैसे देकर कोई रचना प्रकाशित करवाने का तो ना कभी हमने सोचा था और ना ही उन्होंने !!
                     लेकिन पांच साल पहले तलक ये सुनने में आने लगा कि फलाने पत्रकार ने पांच सौ रूपये लेकर ये समाचार छापा और फलाने मालिक ने पांच हज़ार रूपये लेकर वो लेख अपने अखबार में प्रकाशित करवाया !! इलेक्ट्रोनिक - मिडिया ने आते ही इस काम को नयी " ऊँचाइयों " तलक पंहुचा दिया   !! अभी हाल में ही जिंदल साहिब ने " उल्टा " स्टिंग-ओपरेशन " कर डाला !! सजा ना तो जिंदल साहिब को होनी थी और नाही एक बड़े चेनेल ग्रुप के " माननीय " संपादकों को !! क्योंकि भारत का संविधान बना ही इसी प्रकार से है !! अगर आप पांच-दस लाख से कम की हेरा-फेरी करते हो तो पकडे भी जाओगे और सजा भी भुगतोगे , लेकिन अगर आपने यही काम करोड़ों में किया है तो आपका कुछ भी नहीं बिगड़ेगा !! पुलिस जी आपके घर आकर चाय-पानी पीकर कहेगी कि जी आप अपनी " अनुकूलतानुसार " पूछताछ हेतु आ जाना जी !!
                         अब आते हैं आज के विषय पर !! आजकल तो क्या प्रिंट और क्या इलेक्ट्रोनिक , बल्कि सोशियल मिडिया तलक पूरा षड्यंत्र रचकर, नेताओं और अफसरों के साथ मिल-बैठकर न केवल समाचार बनाते हैं बल्कि मन माफिक पेनेल बुलाकर उस विषय पर ऐसी बहस भी करवा दी जाती है कि लगे जैसे हमारी सरकार जो कर रही है वो बिलकुल सही कर रही है !! उग्रवादी जो कर रहे हैं , वो मजबूरी में कर रहे हैं !! उनके घरवाले बेचारे अब जीवन यापन कैसे करेंगे ?? आदि - आदि !! विषय - वास्तु अलग - अलग भी हो सकते हैं लेकिन प्रक्रिया काम करवाने की वोही रहती है कि बदले में अब पैसे के साथ-साथ सरकारी इनाम और पद भी देना होगा !! कई पत्रकार तो आजकल फिल्मों के प्रोड्यूसर भी बन गये हैं !!


                       जाने क्या होगा आगे कि अल्लाह जाने क्या होगा आगे ......!!! गीत वाले हालात हो गये हैं जनाब !! मुझे एक फिल्म का सीन याद आ रहा है जिसमे हमारी माननीय सांसद महोदय श्रीमती हेमामालिनी जी अपने धर्मेन्द्र जी को छोड़ कर श्रीमान प्रेम चोपड़ा जी के साथ एक बाग़ में एक रोमांटिक गीत गाते हैं और टेढ़ी नज़र से हेमाजी धरम जी को भी देखते हैं की वो भी देखकर " जल " रहे हैं !! गीत के बोल थे ..." कितना मज़ा आ रहा है , टायर नज़र चल रहे हैं , अरमाँ निकल रहे हैं , हो.s.s.s...!!
                     बिलकुल ऐसे ही हालात आज भारत की जनता के हैं लोकतंत्र के " पांच खंबे " ( जी हाँ आजकल तीन से पांच हो गए हैं ) , देश के दुश्मनों के साथ मिलकर षड्यंत्र रुपी " रोमांटिक-गीत " गा रहे हैं और जनता बेचारी देख कर जल-भुन रही है !! अब तो यही बोलना पड़ेगा .....
                  धर्म की जय हो !! अधर्म का नाश हो ! प्राणियों में सद्भावना हो और विश्व का कल्याण हो !!
            हर-हर-हर महादेव !!
                        
प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

Wednesday, August 28, 2013

" संत जी कमरे में , विधायक जी गोआ में , " रास - लीला " चालू आहे ! ! ? ? ?

सभी  सखियों और सखाओं को मेरा " रस " भरा नमस्कार !! जय श्री राधे-कृष्णा !!
                        कई वाहनों पर अक्सर ये लिखा दिखाई पड़ ही जाता है कि " हम करें तो अपराध और वो ( श्री कृष्ण जी ) करें तो रास - लीला " !! इस विषय को लेकर श्री कृष्ण जी के चरित्र पर मेरे जैसे मूर्खों और तथाकथित " विद्वानों " द्वारा कई प्रकार के प्रश्न उठाये गये हैं कालान्तर में , उनकी तीन सौ शादियों के बारे में भी कई शक पैदा किये गए " आडम्बर से दूर सेकुलरों " प्राणियों द्वारा !! अपने अथक प्रयासों के बावजूद , अपने प्राणों की बलि दे देने के बावजूद और विदेशों से भरपूर धन के सहयोग मिलने के बावजूद वे सारे समाजसेवी ना तो सनातन धर्म का ही कुछ बिगड़ सके और श्री राधा-कृष्ण जी का तो बिगड़ना ही क्या था ????
                      जन्माष्टमी के पावन पर्व पर दो-तीन समाचार प्रमुखता लिए हुए हमारे " परम-पवित्र मिडिया "की पसंद लगातार बने हुए हैं !! पहले तो आप्ची मुम्बई के पास एक महिला पत्रकार के साथ पाँच " सेकुलर धर्म के शिष्यों ने उसकी मर्ज़ी के बिना " सांस्कृतिक कार्यक्रम " कर डाला !! दूसरी घटना में एक महिला ने साम्प्रदायिक संत को इसी तरह के  कार्यक्रमका दोषी ठहरा दिया !! हद तो तब हो गयी जब " पुत्तर-प्रदेश " माफ़ कीजियेगा उत्तर प्रदेश के एक माननीय विधायक जी गोआ के एक होटल में रंगरलियाँ मानते पकडे गए !! ये महीने ही ऐसे हैं जी सावन - भादों , इन दिनों वैसे ही मन रंगीन-मिजाज़ का हो जाता है , कोई करे भी तो क्या ???
                  हमारी संसद में भी इन घटनाओं को देख-सुनकर भूचाल सा आ गया क्या विपक्ष क्या सरकार के सहयोगी नेता लोग , लगे अपनी-अपनी रोटियाँ सेंकने !
                    कोई फांसी चढाने की वकालत कर रहा है तो कोई " अंग " काटने को जायज़ सज़ा बतलाता है ! कई समाजसेवी तो महिला जगत पर इसे इतना बड़ा अत्याचार बताते हैं कि जैसे महिलाएं कुछ जानती ही नहीं ?? उनके  मन में जैसे कभी मौज-मस्ती की भावना पैदा ही नहीं होती हो ! 90%तक बलात्कार फर्जी होते हैं , 60%तक हत्याओं में महिलाओं द्वारा ही षड्यंत्र रचा जाता है या किसी न किसी महिला का " रोल " उसमे होता है !!
                      
हमारे भावुक नेता,समाजसेवी,और टीवी चेनेल वाले जब भी कोई ऐसी घटना घट जाती है तो वो पुरुष अत्याचार चिल्लाने लग जाते हैं !! उनसे कोई पूछे अगर सभी  महिलाएं इतनी ही पवित्र ( सति-सावित्री ) होतीं तो न तो ऋषियों को " त्रिया-चरित्र " पर कोई ग्रन्थ लिखना पड़ता और नाही किसी प्रोड्यूसर -डायरेक्टर को " मिर्च " फिल्म ही बनानी पड़ती आदमी को चेताने हेतु !! 

                   मित्रो मुझे गलत मत समझना !! मैं तो ये मुद्दा उठाना चाहता हूँ कि हमें कोई निर्णय लेते वक्त किसी पूर्वाग्रह से ग्रसित नहीं होना चाहिए !! निष्पक्ष जाँच करके , जो भी दोषी हो उसे संविधान के अनुसार दंड बिना किसी देरी के मिलना चाहिए !! ना कि किसी के दबाव में कोई काम हो !! मैं तो चाहता हूँ बस इतना कि केवल "गरीब " और असहाय को क़ानून की चक्की में ना पीसा जाए !! क़ानून और उसे लागू करने के तरीके हिन्दू-मुस्लिम-सिख और ईसाई आदि सब धर्मों के लोगों हेतु एक जैसे हों !! कोई भी भिन्नता नज़र नहीं आणि चाहिए !!
                     टेढ़े-मेढ़े तरीके से अपनी बात कहने हेतु क्षमा चाहता हूँ !! मैं मानता हूँ आप मेरे इस लेख को सही परिपेक्ष्य में ही पढेंगे !! धन्यवाद !!
                     एक बार फिर बोलिए :-
 धर्म की जय हो !! अधर्म का नाश हो !! प्राणियों में सद्भावना हो !! विश्व का कल्याण हो !!
              हर - हर - हर - महादेव !!!!!!!!!!!!!!!
                        
प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

Tuesday, August 27, 2013

" चदरिया झीनी रे झीनी, राम - श्याम नाम रस भीनी " !!!!

" झीनी चादर " अपने जीवन में ओढने वाले सभी मित्रों को मेरा सादर नमस्कार !!
                     कबीर जी कहते हैं ,जब हम पैदा हुए , जग हँसे हम रोये ! ऐसी करनी कर चलो , हम हँसे जग रोये !! शारीर को एक चादर के सामान मानते हुए कबीर जी ने मानव शारीर की बहुत ही सुन्दर तुलना की है ! हमारी ये चादर , राम और श्याम नामक रस में भीगी हुई है !! अष्ट कमल का एक " चरखा " बना , और पांच तत्व की " पूनी " बनी ,"नो-दस मास" बुनने में लगे और हम मूर्खों ने इसे कितना मैला कर दिया ??
                 जब हमारी चादर बन के घर आ गयी तो रंगरेज़ को दीन्ही , यानी " शिक्षक "यानी गुरु  के पास भेजा  गया , उसने उत्तम शिक्षा देकर इसे लाल रंग दे दिया !! आगे कबीर जी हमें शिक्षा भी दे रहे हैं की ये स्पेशल चादर ओढ़कर कोई शंका मत करना , मुरख लोग भेद नहीं जानते इसीलिए हर दिन हम इसे मैली करते रहे !
                  आगे कबीर जी बताते है हम लोगों को समझाते हुए कि ये चादर " ध्रुव - प्रहलाद और सुदामा जैसे भक्तों ने ओढ़ी थी , जिन्होंने जैसी चादर पायी थी बिलकुल वैसी ही वापिस कर दी थी !! उन्होंने इसपर कोई भी दाग नहीं लगने दिया था !!
                     आइये अब हम अपने बारे में बात करते हैं कि हमने इश्वर द्वारा दी गयी इस शरीर रुपी चदरिया का क्या हाल करके रख दिया है ! ???
                        हमने अपने शारीर के अन्दर बसे आत्मा रुपी इश्वर की कही हुई बातें सुनना  बिलकुल  बंद कर दिया है !! मोह-माया-क्रोध-लोभ और अहंकार में हम इस कदर फंस चुके हैं कि हमें  कुछ भी दिखाई नहीं पड़ रहा !! कोई रास्ता दिखने की कोशिश भी करता है तो हम उसे ही " पागल घोषित कर देते हैं !!


                        भगवन श्री कृष्ण का कल जन्मदिन आ रहा है !! मेरी तो प्रभु जी से बस यही प्रार्थना है कि जो आपने गीता में वचन दिया था अब उसे पूरा करने का वक्त आ गया है !! प्रभु अब कल्कि भगवान को प्रकट करवाओ ताकि जनता दुष्टों के प्रकोप से बाख सके !!
                   आज के प्राणी को सभी ग्रंथों के सार का पता है , सभी प्रकार के ज्ञान से वो परिचित है फिर भी वो पाप करने से नहीं घबराता है !! सभी तरफ " इंसानियत के दुश्मन " घूम रहे हैं !! बस ऊपर वाला ही मेहर करे तो करे !!
                       " जय श्री राम और जयश्री श्याम तो बोलना ही पड़ेगा !! सभी पाठक मित्रों को जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई !! सब मेरे साथ जोर से बोलिए :- धर्म की जय हो !! अधर्म का नाश हो , प्राणियों में सद्भावना हो , विश्व का कल्याण हो , हर हर महादेव !!!!!!!!
                          
प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.

Saturday, August 24, 2013

" गैंग " के बिना ससुरा " मज़ा " भी तो नहीं आता !!

किसी न किसी गैंग के सदस्य रह चुके मेरे सभी आदरनीय मित्रों को मेरा सादर " गंगाष्टक " प्रणाम !!
               जब हम पैदा हुए तो हमें उस गैंग ने घेर रख्खा था जिन्हें लोग परिवार कहते हैं !!थोडा बड़े हुए तो गली के गैंग ने मुझे अपना सदस्य बना लिया , जिन्हें कई लोग " बाल - टोली कहते थे !! जब हम      " टीन " एज में पंहुचे तो हम उस गैंग के सदस्य बने जिन्हें हम " मस्तों का टोला " कहकर बुलाते थे !! इस गैंग  में कभी " भगत सिंह - राजगुरु और सहदेव " जैसे देश भक्त सदस्य हुआ करते थे !! फिर हमारे माता -पिता  ने सभी गैंग की सदस्यता रद्द करवादी और हमें शादीशुदा नामक गैंग में शामिल कर दिया !! इस गंग में शामिल होने के बाद थोड़े समय तलक तो हमें गहरे आनंद की अनुभूति हुई जी , लेकिन बाद में " आटे  - दाल के भाव " का पता चलने लगा !!
                              लेकिन हमने सभी गैंग के अन्दर रहकर भरपूर आनंद उठाया !! तभी मोबाईल और इटरनेट का जमाना आया , हम अधेड़ों ने इसमें भी जवानों को पीछे छोड़ दिया है !! मेरी इतनी महिला मित्र हैं जितनी किसी हैण्ड-सम युवाओं की भी नहीं होंगीं !!लेकिन सब शालीनता से बातें भी करते हैं , मज़ाक भी करते हैं और शेरो-शायरी भी करते हैं !! कभी-कभी हलके-हलके इश्क - मटक्के भी हो जाते हैं !! कोई बुरा भी नहीं मानता है क्योंकि उन्हें पता है की ये " कागज़ी " शेर और शेरनियां हैं !!
                               अब उम्र का अर्ध-शतक लगा लेने के पश्चात हम उस गैंग का सदस्य बनना चाहते हैं जिसे लोग सतसंगियों की टोली बोलते हैं !! लेकिन वंहा भी सभी धर्मों के ठेकेदारों ने अपने - अपने गैंग ही तो बना रख्खे हैं ! समाजसेवा कोई करना चाहे तो गैंग , राजनीती में किसी का मन हो काम करने का तो बिना किसी गैंग (पार्टी) का सदस्य बने बिना असम्भव है !! संसद में तो क़ानूनी गैंग बने हुए हैं बकायदा उनमे गैंग - वार भी होती है !!
                          इसलिए मेरा कहना है कि जब हमें किसी न किसी गैंग का सदस्य बनकर ही अपना जीवन व्यतीत करना है तो अच्छे गैंग के सदस्य बनकर ही जीवन गुजारें नाकि बुरे गैंग  का सदस्य बनकर इज्ज़त-धन और मनुष्यता का हनन करते फिरें !! सभी वर्ग के लोग सोचें समझें और अपने संग-संग रहने वालों को भी अच्छे कार्य करते रहने को प्रेरित करें !! चोरी डाके और बलात्कार जैसे कुकृत्यों से हम जितना दूर रह सकें उतना ही अच्छा !! देश के दुश्मनों द्वारा हर जगह " गंद "तो हर जगह हिदुओं के लिए फैला ही रख्खा है जिसमे उनका साथ हमारे ही भाई-बन्धु दे रहे हैं !! भारत का दुर्भाग्य है ये !! " कुल्हाड़ी अकेली पेड़ तब तलक नहीं काट सकती जब तलक उसमे लकड़ी का " हथ्था " नहीं डलता !!
                  जय श्री राम !! हो गया काम !!
                     
प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

Thursday, August 22, 2013

" पत्रकारिता का क - ख - ग " भी नहीं जानते , ये " डिग्री " धारक टीवी एंकर !!!

" विद्या " का ' आशीर्वाद " पाए हुए प्यारे मित्रो , आप सबको सादर नमन !! स्वीकार हो !!
                           पिछले कई वर्षों से टेलिविज़न की दुनिया के चमत्कार देख रहा हूँ !! जब से ये सेट - लाईट  चेनेल चले हैं तब से इन्सान कई बिमारियों ,दुराचारों और कुविचारों से ग्रसित हो चूका है !! क्या बूढ़े , क्या जवान क्या महिलाएं और क्या पुरुष , यंहा तलक की छोटे - छोटे बच्चे भी इसका शिकार हो चुके हैं !! हालांकि सेहत को तंदरुस्त रखने वाले , धार्मिक प्रवचन और सब तरह के सामाजिक और राजनीती को नयी दिशा देने वाले कार्यक्रम भी बनते हैं और दिखाए जाते हैं !! लेकिन इस बहुतायत ने " पाखंडियों " को भी एक सुअवसर प्रदान करने का काम भी किया है !! इंटरनेट के आ जाने के बाद तो जैसे बुरे कामों की बाढ़ सी आ गयी है !! और हम हैं कि अभी तलक छोटे स्तर तलक ही दोष ढूंढ रहे हैं !
                         ना जाने कैसे - कैसे संत - विशेषग्य और पत्रकार पैदा हो गए कि पूछो मत !! देश का बंटा - ढार  कर दिया ससुरों ने !! महिलाएं गन्दी सास - ननद - भोजाई - देवरानी और जेठानी के नाटक देख - देख कर " भ्रष्ट " हो चुकी हैं , युवा नंगे चित्र , चलचित्र देख कर नशेडी और आवारा बन चुका है !! और अधेड़ लोग विभिन्न विषयों पर प्रायोजित समाचार और बहसें देख - सुन कर आलसी हो गए हैं !! पहले दूरदर्शन चेनेल होता था जिसके " रूकावट के लिए खेद है " के सलोगन दिखाए जाने के समय के अंतराल मैं ओरतें और पुरुष अपना आवश्यक काम निपटा आते थे !! रोचक कार्यक्रम के नाम पर सप्ताह में दो फ़िल्में और तीन चित्रहार ही होते थे !! जिनको देखने हेतु लोग अपने पड़ोसियों के घरों में जाकर टीवी देख आते थे !! कंही कोई दिक्कत नहीं होती थी !! अब तो अपने बच्चों के साथ भी टीवी नहीं देखा जा सकता !!!!!


                    लेखकों - निर्देशकों की डिमाण्ड बढ़ जाने के कारन भी " कचरा " जमा हो गया !! प्रदेशों की सरकारों ने शिक्षा का भी निजीकरण कर दिया जिससे उच्च शिक्षा का स्तर भी गिर गया !! सारी  डिग्रियां बहुतायत संख्या मैं बच्चों को मिलने लगी !! सरकारों ने येभी आदेश दे दिया की आठवीं कक्षा तलक कोई बच्चा फेल भी नहीं होगा !! उसपे आरक्षण के कारण कम योग्यता वाले लोग भी वो पद प्राप्त कर गएहैं जिनके लायक उनके पिता जी भी नहीं थे !!
                     इसी का नतीजा है," पत्रकारिता " जैसे " संवेदनशील " काम को ऐसे लोग कर रहे हैं जो पत्रकारिता का ना तो " क - ख - ग " जानते हैं और नाही इस काम के सिद्धान्त और नियमों से ही वाकिफ हैं !! तभी गंभीर विषयों पर एंकर लोग विफल हो जाते हैं !! वे प्रश्न भी स्वयं करते हैं और पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर सत्ता के प्रवक्ता भी बन जाते हैं !! उसपर ये भी कहते हैं की ," हम जैसे हैं सो हैं ,आप इस प्रश्न का उत्तर दीजिये " , ऐसा चर्चा मंडल में बैठे विपक्षी प्रवक्ता को बोलते हैं !! मैं उन्हें दूसरों की तरह बिकाऊ नहीं बल्कि अनपढ़ मानता हूँ !! आपका क्या विचार है कृपया अवश्य बताएं !!
                       
प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.

" चोरों ने तो अपना काम कर दिया , करते रहेंगे ", देश - भक्त अगर जीवित हैं , तो उनका काम क्यों नज़र नहीं आता ???????

 प्रिय मित्रो , नमस्कार , जयहिंद और स्लामालेकुम !!
             उत्तर भारत के कुछ भागों में " काले - कच्छे " वाले गिरोह की बहुत अफवाहें फ़ैल रही हैं ! इसमें कितनी सच्चाई है ये तो प्रशासन ही जानता है मैं नहीं ! लेकिन गाँवों के निवासी " ठीकरी पहरा " देकर अपनी हिफाज़त करने का प्रयास कर रहे हैं !! गिरोह के लोग धन तो लूटते ही हैं , साथ में शरीर  के अंग भी निकाल लेते हैं !! मेरे पास जब ये खबर पंहुची तो मेरे मन से अनायास ही निकला कि " थोड़े दिन और ठहर जाओ , फिर " सफ़ेद चोले - पजामे वाले " भी आ जायेंगे , जो इनसे भी खतरनाक होंगे " !!
                   यारो ये तो हद्द ही हो गयी !! कोई देश में हो रहे घोटालों की गिनती भी नहीं करना और रखना चाहता , जांच और सज़ा मिलना तो बहुत दूर की बात है !! लोक तंत्र के चारों - पाँचों " स्तम्भ " खंडहर से बने नज़र आ रहे हैं !! अब तो ये हाल है कि घोटालों की खबर पढ़-सुन कर " बोर " से हो जाते हैं ऐसे लगता है जैसे किसी ने " ठंडी चाय " पिला दी हो !! किसी बड़े घोटालेबाज को फाँसी चढ़ते किसी ने देखा है??? नहीं ना !! किसी को क़ानून से डरते देखा है ?? बिलकुल भी नहीं  !!!!!! तो फिर देश भक्त कान्हा से पैदा हों ??? आपकी नज़र में कितने देश भक्त होंगे आज के इस " इण्डिया " में ??????? एक सौ छब्बीस करोड़ में से ढूँढने जायेंगे तो छब्बीस हज़ार भी मुश्किल से मिलेंगे !!
                 तो क्या करे आम आदमी ???? किसी डाकू तोले में शामिल हो जाए ??? या बेवकूफ बन कर अपना जीवन व्यतीत करता रहे ??? घोर कलयुग की ये शुरुआत भर है !! आज अमिताभ बच्चन साहिब बड़े ही परेशान नज़र आ रहे हैं , क्योंकि उनकी आवाज़ किसी ने पैसे नहीं  देकर " दोबारा " प्रयोग कर ली , अगर वो पैसे दे देता तो उनको ऐतराज़ हरगिज़ नहीं होता !! कुछ हद तलक वो सही भी हैं क्योंकि उनकी आवाज़ ही उनकी संपत्ति है , लेकिन वो क्या करे जिसका हक ये नेताओं के भेष में चोर खा रहे हैं ???
                 कोई छोटा चोर है तो कोई बड़ा !! अपनी बहन जी सुश्री मायावती जी ने बहुत समय पहले ही संसद में कह दिया था कि एक सांपनाथ है तो दूसरा नागनाथ !! लेकिन उन्होंने " सम्पोलों " ( छोटे राजनितिक दल )  का ज़िक्र नहीं किया था, जो आज " कालिया - नाग " बन गए हैं !! जो आज सांपनाथ-नागनाथ दोनों को चेलेन्ज कर रहे हैं कि हमारे बिना सरकार बना कर तो दिखाओ !!! दुसरे शब्दों में कन्हे तो यही बात ऐसे भी कह सकते हैं कि वो चेलेंज कर रहे हैं कि हमारे बिना इस देश को अकेले-अकेले कैसे लूटोगे ??? 


                  सिर्फ एक ही किरण नज़र आती है " श्री नरेंद्र मोदी " लेकिन वो भी तभी कुछ कर पायेंगे जब उनकी पार्टी यानी भाजपा को पूरा बहुमत लोकसभा चुनावो में मिले और पांच साल तलक उनको निर्बाध रूपसे काम करने दिया जाए !! नहीं तो जनता की " आशाएं " जो इतनी प्रबल हो चुकीं हैं धरी की धरी रह जायेंगी !! देश एक बार फिर " रसातल " में चला जाएगा !! देश के दुश्मन हमें फिरसे आँखें दिखायेंगे !! ऐसा हम हरगिज़ नहीं चाहेंगे !! मैं भाजपा के नेताओं और और जनता से निवेदन करता हूँ कि आने वाले सभी चुनावों में जाति , धर्म , पार्टी और इलाके की बंदिशों को तोड़कर केवल उसी व्यक्ति और पार्टी को अपना कीमती वोट देवें जो मोदी जी के हाथ मजबूत करती हो !! जय भारत !! वन्दे मातरम् !!
                 
प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

Wednesday, August 21, 2013

यह हिंदुत्व के पुनुरुत्थान का समय है--------!


                                                      
 यह भारत वर्ष है यहाँ उतार-चढ़ाव स्वाभाविक है क्योंकि ये सनातन है, न इसका आदि है न अंत यहाँ की संस्कृति आदि काल से है अनादि काल तक रहने वाली है जिसे हम वैदिक धर्म अथवा सनातन धर्म के नाते जानते हैं, दुनिया हमें हिन्दू के नाते जानती है इसके क्षत्रित्व के गुण को हिंदुत्व कहते हैं यहाँ समय- समय पर महापुरुषों का आवागमन होता है वे ईश्वरांश यानी अवतारी महापुरुष होते हैं, भगवान श्रीकृष्ण गीता का उपदेश देते हुए कहते हैं की जब-जब धर्म की हानी होती है मै आता हूँ स्वधर्म की रक्षा करता हूँ और वे आये-----! बिलुप्त होते हिन्दू धर्म को बचाने सुदूर दक्षिण केरल के कालड़ी ग्राम में शंकर के रूप में आये पूरे भारत वर्ष में वैदिक धर्म समाप्त के कगार पर था कुमारिल भट्ट जैसे आचार्य संघर्ष कर ही रहे थे की इन महापुरुष ने २५०० वर्ष पहले अवतरित हुए उन्होंने उत्तर से दक्षिण पूरब से पश्चिम सम्पूर्ण आर्यावर्त में बौद्ध हो चुके राजाओं के आचार्यों से शास्त्रार्थ कर अवैदिक मतों को पराजित कर वैदिक धर्म की श्रेष्ठता सिद्ध की जिस साम्राज्य की स्थापना आचार्य चाणक्य ने चन्द्रगुप्त के नेतृत्व में की थी उसे आचार्य शंकर ने जागृत राष्ट्र के रूप में खड़ा कर दिया.
          पुष्यमित्र शुङ्ग के पश्चात् सम्राट चन्द्रगुप्त विक्रमदित्य ने भारतवर्ष में हिन्दू पुनुरुत्थान शुरू कर भारत के सर्बाधिक लोकप्रिय धर्मनिष्ठ सम्राट होने का गौरव प्राप्त किया, उन्होंने अयोध्या, मथुरा, जनकपुर और तमाम ऐतिहासिक धार्मिक नगरों की खोज कर उनकी पुनर्प्रतिष्ठा की कहते हैं की राजा विक्रमादित्य शिकार खेलने सरयू नदी तट आये थे उन्होंने देखा कि एक काला-काला ब्यक्ति काले घोड़े पर सवार होकर सरयू जी में कूद पड़ता है थोड़ी देर बाद जब वह बाहर आता है तो गोरा चिट्टा सफ़ेद घोडे पर उन्होंने उसका पीछा किया पूछा आप कौन हैं उसने बताया कि मै प्रयागराज हूँ वर्ष भर संगम पर हिन्दू समाज स्नान करके अपना पाप संगम में धो देते हैं सारे मनुष्यों का पाप लेते-लेते मै घोडा सहित काला हो जाता हूँ आज रामनाउमी है आज के दिन यहाँ स्नान के पश्चात् सुद्ध होकर निकल आता हूँ यहीं पर अयोध्या है प्रयागराज ने राजा विक्रमादित्य को कहाँ श्रीराम का जन्म हुआ था अथवा अन्य स्थानों को बताया विक्रमादित्य ने इस वर्तमान अयोध्या का पुनर्निर्माण किया इतना ही नहीं मक्का में मक्केस्वर्नाथ की स्थापना से लेकर पूरे भारत वर्ष का उन्होंने पुनः धार्मिक जागरण कर सम्पूर्ण राष्ट्र को खड़ा कर दिया इसे हम हिन्दू धर्म के पुनुरुत्थान का दूसरा चरण कह सकते हैं.
             महाराजा दाहिर के पराजय के पश्चात् हरित मुनि के असिर्वाद से बाप्पा रावल ने अरब सेनापति को पराजित कर उसकी पुत्री से विबाह कर अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की लेकिन बाद में हमारे राजा महाराजा देश और हिंदुत्व को सम्हाल नहीं पाए मुस्लिम शासको के हाथ में सत्ता आ गयी यह बात ठीक है कि कभी भी भारत उनकी सत्ता को स्वीकार नहीं किया हमेसा संघर्ष जारी रहा इस्लाम मतावलंबी कभी भी पूरे भारत वर्ष पर अधिकार नहीं कर पाए फिर भी उन लोगों ने हिन्दू समाज के अन्दर छुवा-छूत, उच्च-नीच, भेद-भाव पैदा करने में सफलता प्राप्त कर हिन्दू समाज को बिखेरने का काम किया उस समय एक प्रकार से भारत वर्ष में संतो कि एक सामूहिक टोली ने जन्म ही ले लिया जैसे श्रीकृष्ण ने अपने स्वरुप को बिभिन्न संतो में समाहित कर इन मलेक्षों से हिन्दू समाज को बचाने का काम किया, और वे आये रामानुज, रामानंद और तुलसी के रूप में दक्षिण में रामानुजाचार्य तो उत्तर में संत सिरोमणि रामानंद स्वामी अपने द्वादस शिष्यों के साथ भारत भ्रमण कर हिन्दू समाज को बताया कि राजा तो केवल श्रीराम हैं इसलिए जयकारा राजा रामचंद्र जी की जय लगता था, संत रबिदास, कबीरदास, भक्त सिरोमणि मीरा, संत तुलसीदास जैसे संतों ने एक प्रकार से भक्त आन्दोलन कर हिन्दू समाज को जगाकर भारत को बचा लिया यह हिंदुत्व के पुनुरुत्थान का तीसरा चरण था.
             और वे पुनः आये संतों के जागरण फलस्वरूप महाराणा प्रताप, क्षत्रपति शिवाजी, गुरु गोविन्द सिंह जैसे पराक्रमी योधा राजा के रूप में आये, उन्होंने भारतवर्ष को हिन्दू राष्ट्र, हिन्दवी राज्य स्थापना का संकल्प लिया इस भारत माँ के सपूतों ने इस्लामिक सत्ता को उखाड़ फेका पुनः हिंदुत्व का डंका बजने लगा भारत में राज्य हमेसा अलग रहते हुए राष्ट्र एक रहा और जागृत रहा फिर भी कुछ शिथिलता के कारण कुछ ब्यापारियों के भी हम गुलाम हुए जिन्हें अंग्रेज कहते थे वे भी सम्पूर्ण भारत शासन नहीं कर सके संघर्ष जारी रहा चाहे १८५७ का स्वतंत्रता संघर्ष रहा हो अथवा आजाद हिन्द फ़ौज या सावरकर की क्रांतिकारियों की सेना रही हो ब्रिटिश साम्राज्य के नाको में दम कर दिया, उसी समय स्वामी दयानंद सरस्वती ने आर्यसमाज की स्थापना कर एक तरफ ईसाईयों व इस्लाम की पोल खोलने का अभियान चलाया तो दूसरी तरफ क्रांतिकारियों की नर्सरी ही खड़ी कर दी उसी काल में स्वामी विबेकानंद भारत के नवजवानों का पुनर्जागरण के केंद्र बन गए जहाँ १९०६ में रविन्द्र नाथ टैगोर ने गंगासागर में हिन्दू मेला शुरू कर बंग-भंग को रोका, वहीँ लोकमान्य तिलक ने गणेश उत्सव, लालालाजपत राय ने संत तुलसीदास की शुरू की रामलीला को देश ब्यापी बना, तो बिपिनचंद पाल ने दुर्गा पूजा को सार्वजानिक कर हिन्दू समाज के पुनर-जागरण के अग्रदूत बनकर खड़े हो गए, इन महापुरुषों की प्रेरणा स्वरुप देश आजाद हो गया यह हिन्दू पुनर्जागरण का चौथा चरण था.
              देश आज़ादी के पश्चात् देश में जो होना चाहिये था वह हमारे नेता नहीं कर पाए वे सब सेकुलर हो गए जिसे  हम देशद्रोह भी कह सकते हैं हिन्दू समाज को समाप्त करने वैदिक धर्म की उपेक्षा करने का जैसे अभियान ही सरकार ने ले लिया हो चाहे सत्ता रुद्ध दल हो अथवा बिपक्ष सभी सेकुलर के नाम पर हिंदुत्व का बिरोध ही धर्म बन गया, जैसा भगवन ने गीता में कहा था वे फिर आये इस बार वे संघावतार (आरएसएस) रूप में आये हिन्दू समाज खड़ा होने लगा छुवा-छूत भेद-भाव समाप्त होने लगा कोई भी कार्यकर्ता किसी से जाती नहीं कौन क्या है कुछ पता नहीं सभी हिन्दू एक परिवार वैदक धर्मावलम्बी यह सेकुलरों को नहीं पचता की हिन्दू एक हो उसमे समरसता हो इस नाते आरोप-प्रत्यारोप, संघ मुसलमानों का शत्रु है, महर्षि अरविन्द ने कहा था की इस्लाम और ईसाईयों का प्रचार हो चूका वह अपनी चरम पर पहुच चुका है इसके दुष्परिणाम स्वरुप इन्हें समाप्त होना ही है, इक्कीसवी सदी हिंदुत्व की सदी होगी जो आज हमें दिखाई दे रहा है आज़ादी के पश्चात् देश के राजे-महाराज खड़े हो गए, हम गुलाम थे कुछ लोग किन्ही कारणों से हमसे बिछुड़ गए आज समय की आवस्यकता है वे सब हिन्दू समाज में पुनः आ जाय यह प्रक्रिया देश आज़ादी के तुरंत पश्चात् शुरू हो गयी बीच ठप पड़ गयी थी और वे फिर आये इस समय इस पुनर्जागरण के समय श्री श्रीरविशंकर, बाबा रामदेव, मुरारी बापू, आशाराम बापू, स्वामी दयानंद, आर्यसमाज, गायत्री परिवार जैसे संगठन के रूप में, कदम से कदम मिलकर इस पूनुरुत्थान के कम में लग गए, देश में भागवत व श्रीराम कथाओं की श्रंखला खड़ी हो रही है, इतना ही नहीं मंदिरों में श्रद्धुलुओं का ताँता लगा हुआ है इस समय महादेव जी पर जल चढाने हेतु कावर ले पुरे देश में बहुत सरे स्थानों पर हाईवे बंद करना पड़ रहा है भगवा कपड़ा महगा हो गया है लाखो ब्यापारियों को रोजगार मिल गया है लगता पूरा देश भगवा मय हो गया है गाव-गाव में समितियां बनकर अपने-आप सहज ही अपनी रक्षा के लिए खड़ा हो रहा है केंद्र सरकार अथवा राज्य सरकार केवल मुसलमानों की ब्यवस्था करती है हिन्दू समाज की ब्यवस्था समाज स्वयं करता है हिन्दू समाज खड़ा हो रहा है उसके पुनर्जागरण की पाचवी बेला है अब इसे कोई दबा नहीं सकता.
         पश्चिम जगत खोखला हो चुका है इस्लाम ब्यभिचारियों का धर्म हो गया है वहां ब्याभिचार को ही शिष्टाचार मानते हैं जो इस समाज का गुंडा, आतंकबादी है वही उनका आदर्श है जैसे ओसामाबिन लादेन, दावुद इब्राहीम, अथवा अन्य कोई आतंकबादी इतना ही नहीं भारतीय मुसंलमानो की श्रद्धा पाकिस्तान के प्रति रहती है इसी कारन कोई भी सेकुलर नेता पाकिस्तान के खिलाफ नहीं बोलने की हिम्मत नहीं करता उसे डर है मुसलमान नाराज हो जायेगा, सम्पूर्ण विश्व में इस्लाम आतंक का पर्याय बन चुका है इन्हें समाप्त होना ही है प्रति दिन अमेरिकन देश इस्लामिक देशों पर हमले करते रहते हैं कई देशों में मस्जिद बनाने, बुरका पहनने, दो से अधिक बच्चा पैदा करने, एक से अधिक बिबाह करने पर रोक लगा रखा है सारी दुनिया को प्रत्येक मुसलमान आतंकबादी नज़र आता है, वर्मा के एक बौद्ध संत ने कहा कि हम शांति प्रिय हैं लेकिन पागल कुत्ते के साथ नहीं सो सकते, जापान के प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस देश में मुसलमान रहते हैं वह दूसरी समाज का जीना दूभर कर देते हैं जो इस्लामिक देश हैं वे सभी आतंकबादी हैं जैसे पाकिस्तान, अरब और बंगलादेश, दूसरी तरफ ईसाई राष्ट्रों की भी हालत अच्छी नहीं है उन्होंने अभीतक १५० करोड़ कि हत्या के अपने धर्म का प्रचार किया १४७० से १७७० के बिच ७० लाख महिलाओ को डायन घोषित कर हत्या की, बहुत बड़ी संख्या में लोग चर्च जाना बंद कर दिए है आये दिन पोप अपनी गलतियों हेतु क्षमा प्रार्थी रहते हैं पादरियों द्वारा आये दिन ब्यभिचारों की चर्चा अखबारों में रहती है अभी २०११ जन -गणना के अनुसार ब्रिटिश में ३४% लोगो ने अपने को चर्च और बाइबिल में विस्वास नहीं लिखाया है मेरा विस्वास बहुदेव-वाद में है अमेरिका में भी ३५% लोगो ने अपने को बहुदेववादी बताया है उनका विस्वास भी चर्च में नहीं है विश्व के प्रगति शील देशों की हालत इसी प्रकार है इसके उलट इस्कान के द्वारा विश्व के तमाम लोग हिन्दू धर्म की ओर आकर्षित हो रहे है हजारों विदेशी लोग महाकुम्भ में आकर हिन्दू धर्म स्वीकार कर रहे हैं सम्पूर्ण विश्व में हिन्दू धर्म की विजय पताका पुनः फहराने का समय आ गया है आइये हम इसे आगे बढ़ाएं हिन्दू धर्म का पुनुरुत्थान तो होगा ही जैसे जगन्नाथ जी का रथ अपने-आप चलता है हम उसे धक्का देकर श्रेय लेते हैं उसी प्रकार भगवान तो अपने संतों, सन्यासियों के अन्दर अपने-आप को समाहित कर इसका उत्थान करेगे ही आइये हम भी धक्का लगा श्रेय प्राप्त करें.                      

" अगर हमें देश में परिवर्तन चाहिए, तो संकल्प लेने ही पड़ेंगे " !!!!

" परिवर्तन " की चाह रखने वाले सभी मित्रों को मेरा हार्दिक नमस्कार !! कृपया स्वीकार करें !
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले ने कहा कि देश की वर्तमान स्थिति को बदलने का यही सही समय है। यह तब हो सकेगा जब सारा समाज परिवर्तन के लिए संकल्पित होगा।


जो सरकार चीन-पाकिस्तान से डरती हो वह देश व समाज की सुरक्षा कर ही नहीं सकती। देश की विविधता को जातिवाद का नाम देकर राजनीतिक स्वार्थ की रोटियां सेंकने वालों से भी यह काम नहीं हो सकता। इन्हें कमजोर न किया गया तो समाज में व सीमाओं में खतरा बढ़ेगा।

सह सरकार्यवाह ने कहा कि समाज ऐसी स्थितियां पैदा करने वालों को सबक सिखाने के लिए गंभीरता से सोच रहा है। विशेष तौर से युवा बहुत गंभीर है। उसके अंदर बदलाव की छटपटाहट है। इस छटपटाहट को और बढ़ाना होगा। समाज में जन्म ले रही बदलाव की इस चेतना को और जगाना होगा।

गांव-गांव जाकर लोगों को, देश को दांव पर लगाने व समाज को बांटने वालों की असलियत बतानी होगी। दिल्ली में बैठे कमजोर लोगों ने देश को तमाम तरह के खतरे खड़े कर दिए हैं। समाज को यह समझाना होगा।

समाज को भी दिल्ली में बैठे राजनीतिक दलों व सरकार चलानेवालों को बताना होगा कि सरकार दुर्बल हो सकती है, समाज नहीं।

इस रक्षाबंधन पर देश के लोगों को समाज व देश की रक्षा के लिए सक्रिय होने का संकल्प लेना होगा। समझना होगा कि भाषा व जाति के नाम पर राजनीति करने वाले हमें कमजोर कर रहे हैं। कोई महाराष्ट्र में खड़ा होकर कहता है कि बिहार को नहीं रहने देना है, तो कोई कहता है कि अमुक-अमुक जाति की अनदेखी हुई है। ऐसा करने व बोलनेवाले देश के हितैषी नहीं हैं। जो देश की बात करते हों, उन्हें मजबूत बनाना होगा।

सरकार की दुर्बलता -

पाकिस्तान की सेना ने हमारे पांच सैनिकों की हत्या नहीं की है बल्कि हमारे देश की हत्या की है। फिर भी हमारी सरकार के लोग ही सफाई देने लगे कि सैनिकों ने नहीं बल्कि आतंकवादियों ने हत्या की है। सही बात स्वीकारने में चार दिन लग गए।

चीन हमारी सीमाओं में घुसता चला आया। लद्दाख में नियंत्रण रेखा से काफी आगे आकर उसने सिंधु नदी तक अपना हक जता दिया। निर्माण चल रहे हैं, पर सरकार मौन साधे बैठी है। लद्दाख में सीमा के पास रहने वाले गरीब नागरिक पीछे नहीं हटना चाहते लेकिन सरकार और उसके अधिकारी उनका मनोबल तोड़ रहे हैं। अरुणाचल में चीन ने काफी अंदर तक सड़क बना ली है। जिस बांग्लादेश को हमने (भारत) दाई बनकर जन्म दिया। उनके खाने-पीने का इंतजाम किया, वह हमें ही आंख दिखाने का दुस्साहस कर रहा है।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले ने कहा कि देश की वर्तमान स्थिति को बदलने का यही सही समय है। यह तब हो सकेगा जब सारा समाज परिवर्तन के लिए संकल्पित होगा।

जो सरकार चीन-पाकिस्तान से डरती हो वह देश व समाज की सुरक्षा कर ही नहीं सकती। देश की विविधता को जातिवाद का नाम देकर राजनीतिक स्वार्थ की रोटियां सेंकने वालों से भी यह काम नहीं हो सकता। इन्हें कमजोर न किया गया तो समाज में व सीमाओं में खतरा बढ़ेगा।

सह सरकार्यवाह ने कहा कि समाज ऐसी स्थितियां पैदा करने वालों को सबक सिखाने के लिए गंभीरता से सोच रहा है। विशेष तौर से युवा बहुत गंभीर है। उसके अंदर बदलाव की छटपटाहट है। इस छटपटाहट को और बढ़ाना होगा। समाज में जन्म ले रही बदलाव की इस चेतना को और जगाना होगा।

गांव-गांव जाकर लोगों को, देश को दांव पर लगाने व समाज को बांटने वालों की असलियत बतानी होगी। दिल्ली में बैठे कमजोर लोगों ने देश को तमाम तरह के खतरे खड़े कर दिए हैं। समाज को यह समझाना होगा।

समाज को भी दिल्ली में बैठे राजनीतिक दलों व सरकार चलानेवालों को बताना होगा कि सरकार दुर्बल हो सकती है, समाज नहीं।

इस रक्षाबंधन पर देश के लोगों को समाज व देश की रक्षा के लिए सक्रिय होने का संकल्प लेना होगा। समझना होगा कि भाषा व जाति के नाम पर राजनीति करने वाले हमें कमजोर कर रहे हैं। कोई महाराष्ट्र में खड़ा होकर कहता है कि बिहार को नहीं रहने देना है, तो कोई कहता है कि अमुक-अमुक जाति की अनदेखी हुई है। ऐसा करने व बोलनेवाले देश के हितैषी नहीं हैं। जो देश की बात करते हों, उन्हें मजबूत बनाना होगा।

सरकार की दुर्बलता -

पाकिस्तान की सेना ने हमारे पांच सैनिकों की हत्या नहीं की है बल्कि हमारे देश की हत्या की है। फिर भी हमारी सरकार के लोग ही सफाई देने लगे कि सैनिकों ने नहीं बल्कि आतंकवादियों ने हत्या की है। सही बात स्वीकारने में चार दिन लग गए।

चीन हमारी सीमाओं में घुसता चला आया। लद्दाख में नियंत्रण रेखा से काफी आगे आकर उसने सिंधु नदी तक अपना हक जता दिया। निर्माण चल रहे हैं, पर सरकार मौन साधे बैठी है। लद्दाख में सीमा के पास रहने वाले गरीब नागरिक पीछे नहीं हटना चाहते लेकिन सरकार और उसके अधिकारी उनका मनोबल तोड़ रहे हैं। अरुणाचल में चीन ने काफी अंदर तक सड़क बना ली है। जिस बांग्लादेश को हमने (भारत) दाई बनकर जन्म दिया। उनके खाने-पीने का इंतजाम किया, वह हमें ही आंख दिखाने का दुस्साहस कर रहा है।


प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
सादर - सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
हमारा पता ये है :- पीताम्बर दत्त शर्मा ,
हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
पंचायत समिति भवन के सामने,
सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
मो. न. 09414657511.
फेक्स :- 01509222768.


Tuesday, August 20, 2013

येन बद्धो बलि राजा दानवेन्द्रो-महाबलः l तेन त्वाम रक्ष-बध्नामि, रक्षे माचल माचल: ll आप सभी मित्रों को रक्षा बंधन पर्व की हार्दिक शुभकामनाए ll

" रक्षा करने वाले ", देश के नेताओ !!! आप हमारी उसी तरह से रक्षा कीजिये जिस प्रकार राजा बलि ने अपनी प्रजा की करी थी !! बहुत बड़ा दानी भी था !! उसने अपना वचन निभाने हेतु अपना समस्त राज्य ,उसका आकाश और स्वयं का शरीर तक भगवान वामन के सामने अर्पित कर दिया था !! तब भगवान ने प्रसन्न होकर उसे ये आशीर्वाद ( वर )दिया की जब तलक ये सृष्टी रहेगी तब तलक तुम्हारा नाम रहेगा !!

                       लेकिन हमारे नेता हमारी रक्षा करने के बजाये हमारा (बैंड-बजाने ) पर तुले हुए हैं !! ये देश की जनता और देश के खजानों को निचोड़ कर खा-पी गये हैं !! बेशर्मी की हद हो गयी है !! घमंड सर चढ़ कर बोलने लगा है !! आम आदमी भी सोचने लगा है कि काश !!! मेरे हाथ में कोई ऐसी ताकत आ जाए तो मैं इन कमीनों को और इनके समर्थकों को ऐसी सज़ा दूं कि इनकी सात पीढियां तलक याद रख्खें !!!

                        हे भगवान !! कंहा हो तुम ???? जिस प्रकार मगर के मुंह में फंसे गजराज को बचाने हेतु तुरन्त आप गरुड़ पे सवार होकर आगये थे और अपने सुदर्शन का प्रयोग कर उस मगर का संघार कर दिया था !! उस गजराज ने तो केवल एक बार " हरि " उच्चारण किया था और आप उसका " ह " सुन कर ही चल पड़े थे और " रि " की आवाज़ आपने उस ताल के किनारे पर आकर सुनी थी , यानी इतने कम समय में आपने उस गजराज की प्रार्थना को सुनकर उसे " कष्ट " से " मुक्ति " दिलादी थी !! तो भगवन !! आप हमारी क्यों नहीं सुन रहे .........!!  क्या हम कलयुगी प्राणी हैं इसलिए इतनी देर कर रहे हो ?????

                      हे प्रभु !! आपने तो दुवापर  में भी कहा था कि " जब जब धर्म की हानि होगी तो मैं कोई रूप धर कर धर्म की स्थापना करने हेतु अवश्य आऊंगा कलयुग में !! क्या अभी और पाप हमें देखना होगा ??
क्या और दुःख इस प्रजा को सहने होंगे ???? क्यों इतनी देर लगा रहे हो आप ??? आज " गुरु,दोस्त,मंत्री,और मत-पिता डर कर बैठे हुए हैं सच्ची राय नहीं दे पा रहे हैं !! सैनिक देश की सीमाओं की रक्षा नहीं कर पा रहे हैं !! बच्चियां , बेटियां और महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं !! समाजसेवी मारे जा रहे हैं !! न्यायालय के आदेश बदले जा रहे हैं !! धर्म-कर्म करवाने वाले " पाखंडी " हो गये हैं !! पुत्र - कुपुत्र हो गये हैं !! पत्रकार - - - - दलाल बन गये हैं !! शिक्षक रिश्वत खोर बन गये हैं !!क्या अभी भी कोई कसार बाकी है ??
नहीं प्रभु नहीं , अब और देर मत कीजिये हमारी रक्षा करने तुरंत किसी को भेजिए ..........!! इसी आशा के साथ मैं आपको अपनी राखी बाँध रहा हूँ !!
          कृपया आशीर्वाद दें की मेरा देश ही नहीं , बल्कि पूरा विश्व शान्ति से और सुख से रहे इसी आशा के साथ प्रभु जी सादर चरण स्पर्श। !!
              प्रिय बन्धुओ और प्यारी बांध्वियो !!
                                 सादर -  सप्रेम नमस्कार !!
हमारे ब्लॉग " फिफ्थ-पिल्लर - कोरप्शन - किल्लर " ( 5th pillar corruption killer ) को आप इस लिंक पर जाकर रोज़ाना पढ़ें , शेयर करें तथा अपने अनमोल कोमेंट्स हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !! क्योंकि आपके कीमती कोमेंट्स ही हमारे लिए " च्यवनप्राश " का काम करते हैं !! आप चाहें तो हमारी कोई भी पोस्ट को आप किसी भी समाचार पत्र में प्रकाशित कर सकते हैं !! हमारे ब्लॉग के सारे लेख आपको हमारी फेस-बुक , गूगल +, पेज और ग्रुप्स में भी मिल जायेंगे !! जो भी मित्र अपने लेख हमारे ब्लॉग में प्रकाशित करवाना चाहें वो हमें इ मेल करें !! pitamberdutt.sharma@gmail.com. हमारे ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और हमारी फेस-बुक का लिंक ये है :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7.
          हमारा पता ये है :-         पीताम्बर दत्त शर्मा ,
                                      हेल्प-लाईन -बिग-बाज़ार,
                            पंचायत समिति भवन के सामने,
                               सूरतगढ़ , जिला श्री गंगानगर ,
                                  मो. न. 09414657511.
                                     फेक्स :- 01509222768.

Friday, August 16, 2013

" क्या इस प्रकार मनाये गये स्वाधीनता दिवस पर हम और आप " गर्व " का अनुभव कर सकते हैं ???

         भारत में आज़ादी का जश्न इस बार कुछ अलग तरीके से मनाया गया ! कोई इसे किसी का आखरी झण्डा - रोहण बता रहा था तो कोई जवाबी भाषण को घटिया और बढ़िया बता रहा था !! कोई अपनी उपलब्धियां गिनाते हुए भी नज़रों को उठा नहीं पा रहा था तो कोई प्रादेशिक उपलब्धियों को इस तरीके से बता रहा था , जैसे देश का भला सिर्फ वो ही कर सकता है ? उसे किसी मंत्री - संतरी की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी ?????
                        प्रिय प्रधान-मंत्री जी और लोकप्रिय मोदी जी के भाषण देने के पश्चात जो अलोक-प्रिय " कटाक्ष " किये गये विभिन्न सेनापतियों द्वारा उन्होंने तो ज़हरीले तीरों जैसा काम किया !! बुद्धिजीवी सोचने पर मजबूर हैं कि कोई करे भी तो क्या करे ??????
                   सरदार मनमोहन सिंह जी के लाल किले से दिए गये तथाकथित " अन्तिम " भाषण से केवल यही अन्देशा देश को हुआ की वह स्वयं गैर- राजनितिक  रूप से भाषण दे रहे हैं !! केवल एक " क्लर्क " की रिपोर्ट पढ़ते हुए नज़र आ रहे थे !! देश किसी प्रधान मंत्री के चलाने  से नहीं बल्कि अपनी गति से ही चल रहा था !! देशवासी किसी नए " सूर्य " के उगने की प्रतीक्षा करते नज़र आये !!
                    पिछले दस सालों की मामूली - मामूली उपलब्धियां गिनने से बेहतर होता की आप ये बताते कि देश में इतने बढ़िया शासन के बावजूद इतनी कमियाँ क्यों हैं ??? पाकिस्तान और चाईना के मसले पर विश्व को दिखने हेतु आप बड़े ही " संयम " से बोले लेकिन देशवासियों का होसला बढ़ने हेतु आपने दो शब्द भी नहीं बोले क्यों ?? लालकिले से दिया जाने वाला हर भाषण सारे देशवासी पहले रेडियो और फिर टेलिविज़न पर बड़े ही ध्यान से सुना करते थे , क्या कारन हुआ कि  पिछले दस सालों से लोग बोर होने लगे हैं ???
                    भारत में कोई अकेला नरेंदर मोदी ही तो मुख्यमंत्री नहीं ?? मिडिया ने दुसरे मुख्यमंत्रियों के भाषण को लाईव क्यों नहीं दिखाया केवल मोदी के भाषण को ही क्यों महत्व  दिया ???? क्या मिडिया भी मान चुका  है कि भारत की अगली " आस " मोदी ही हैं ???  ऐसे तो नहीं कभी आस्ट्रेलिया बुलाता है , कभी अन्ना तारीफ़ करते हैं तो कभी " साधू " मिलने जाते हैं !! बहुत कुछ है उस बन्दे मैं जो भारत के जन-जन में आस जगाता है !! चाहे उनके पक्षकार हों या विरोधी तुलना तो सब करते ही हैं इन दोनों की !!


               हालांकि मोदी जी में भारत के व्याप्त समस्याओं का निराकरण कैसे करना है , ये नहीं बताया , शायद सही समय आने पर ही बतायेंगे !! तभी टी भाजपा के अन्दर बैठे तथाकथित " बड़े " नेताओं को भी ये समझ नहीं आ रहा कि अपना छोटा हो रहा कद जनता को कैसे बड़ा करके दिखाएँ ???? इसी लिए आडवाणी जी ने कहा कि पंद्रह अगस्त वाले दिन तो बक्श देना था !! लेकिन लोग कहते हैं कि हमारे प्रधानमंत्री जी उसके इलावा बोलते ही कब हैं ???

               असल में राष्ट्र आज किसी नेता या राजनितिक दल का विकल्प नहीं चाहता , वो तो हमारे देश में व्याप्त विभिन्न समस्याओं की " वैकल्पित - व्यवस्था " चाहता है !! क्योंकि R.T.I.,2 साल की सज़ा वाले व्यक्ति को चुनाव ना लड़ने देने का सुप्रीम कोर्ट का निर्णय और अपना वेतन बढ़ाने वाले मामलों में सभी राजनितिक दलों की अभूतपूर्व " एकता " देख चूका है !! इन " दम्भ " से भरे चोर राजनेताओं हेतु देशवासियों के दिलों से रोजाना ढेरों " श्राप और बद्दुआएं " निकलती हैं !!

                 बुरे नेताओं को भगवान ही बचाए !! क्योंकि हम भारतीय तो दुश्मन का भी बुरा नहीं सोच सकते , करना तो दूर की बात है !!
                    प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL

                    

Wednesday, August 14, 2013

" जन - गण " आइये " मन " से देश - हित के फैसले करें.......!!!! अब वक्त आ गया है ????

                 आज लालकिले से हमारे प्रधानमंत्री जी ने राष्ट्र को दसवीं बार संबोधित किया ! आज से पहले जिन लोक प्रिय नेताओं ने दस बार लाल किले से राष्ट्र को संबोधित किया था उन्होंने देश को कुछ सफलताएँ भी दीं थीं लेकिन हमारे सरदार जी जिस काम में माहिर थे यानी " अर्थ - शास्त्र " उसको भी अनर्थ-शास्त्र बनाकर रख दिया है ! गुजरात के मुख्यमंत्री पहले भी अपने भाषण में जो कुछ बोलते थे उसकी तुलना देश के समीक्षक लोग किया करते थे लेकिन जब कल मोदी जी ने कह दिया की कल तुलना कर लेना .....तो कईयों के पेट में दर्द हो गया की ये सपने देखने लगे हैं प्रधानमंत्री बन्ने के !! राजनितिक समीक्षक मित्रो मोदी जी को भारत का अगला प्रधान-मंत्री बनाने का सपना तो अब देश की जनता देखने लगी है , कईयों ने निर्णय कर लिया है और कई उनके आज के भाषण सुनने के बाद कर लेंगे !! आज के भाषण में उन्होंने ये मुद्दे उठाये जिनको उठाने में हमारे सरदार जी चूक गए !!
                       
नरेंद्र मोदी ने भुज के लालन कॉलेज से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को खुली चुनौती दे डाली। मोदी ने मनमोहन सिंह से कहा कि हम छोटे राज्य हैं, आप तो देश चला रहे हैं। लेकिन गुजरात और दिल्ली की रेस हो जाए, पता चल जाएगा कि आप क्या कर रहे हैं, हम क्या कर रहे हैं? 


गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालन कॉलेज में तिरंगा फहराने के बाद सबसे पहले देश को आज़ाद कराने वाले शहीदों को नमन किया। उसके बाद कहा कि आज भी हम लोग मानसिक तौर पर गुलाम हैं।


मोदी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के भाषण का सहारा लेते हुए प्रधानमंत्री पर निशाना साधा। मोदी ने कहा, 'राष्ट्रपति ने कल पाकिस्तान के संबंध में कहा कि सहनशक्ति की सीमा होती है। आज मुझे आशा थी कि प्रधानमंत्री राष्ट्रपति की बात को आगे बढ़ाएंगे। मैं मानता हूं कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों को देखते हुए प्रधानमंत्री के स्तर पर क्या बोला जाना चाहिए, यह मुझे मालूम है। लेकिन देश की सेना का मनोबल बढ़ाने वाला बयान दिया जाना चाहिए। मैं मानता हूं कि लाल किला पाकिस्तान को ललकारने की जगह नहीं है। लेकिन यह जगह देश की सेना का मनोबल बढ़ाने वाला जरूर है। भ्रष्टाचार बड़ी समस्या है। राष्ट्रपति जी चिंतित है। आज देश में देश में सास बहू और दामाद का सीरियल चल रहा है। मैं लाल किले से दिए गए प्रधानमंत्री के भाषण को इसलिए सुन रहा था कि मेरे जैसे कार्यकर्ता को नई प्रेरणा मिले। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। मैं बहुत निराश हुआ।'
मोदी ने दी दिल्ली को खुली चुनौती
मोदी ने कहा, 'प्रधानमंत्री ने सिर्फ एक परिवार को याद किया। उन्होंने सरदार पटेल और लाल बहादुर शास्त्री को याद नहीं किया। आप अटल बिहारी वाजपेयी को याद न करें यह तो समझ में आता है, लेकिन आप पटेल और शास्त्री को याद न करें तो दिल को चोट पहुंचती है।'

मोदी ने प्रधानमंत्री को ललकारते हुए, 'पंडित नेहरू ने अपने पहले भाषण में जो समस्याएं गिनाई थीं, वही समस्याएं आपने भी गिनाईं। आपने 60 साल में क्या किया? आप एक परिवार की भक्ति में इतने डूब गए हैं कि उत्तराखंड की मदद करने वाले राज्यों का जिक्र भी नहीं किया। मैं मरू भूमि कच्छ के भुज से बोल रहा हूं। मेरी बात पहले पाकिस्तान सुन लेगा, दिल्ली बाद में सुनेगी।हमने जैसे अंग्रेजों से देश को मुक्त किया वैसे ही भ्रष्टाचार, महंगाई, परिवारवाद, आतंकवाद से मुक्त कराना है।'

इससे पहले आजादी की 67वीं सालगिरह की पूर्व संध्या पर गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चुनौती दी थी। उन्होंने बुधवार को कहा, ‘स्वतंत्रता दिवस पर देश की नजर दो स्थलों पर होगी। एक-लालकिला। दूसरा-लालन कॉलेज (भुज)। इस दिन हमेशा की तरह फिर थोथी बयानबाजी की जाएगी। जबकि दूसरी जगह से लोगों को विकास की राह दिखाई जाएगी। जनता को किए गए कार्यों का हिसाब दिया जाएगा।’
                                      

                         मोदी ने कच्छ मुख्यालय भुज में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। गुजरात सरकार राष्ट्रीय महत्व के पर्व राजधानी से बाहर जिला मुख्यालयों में मनाती है। साल-2013 के राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस की मेजबानी कच्छ को मिली है। गुरुवार को मुख्य समारोह भुज के लालन कॉलेज मैदान पर होना है। मोदी ने देश के नौजवानों से अपील की कि वे उन्हें देश को सही दिशा में ले जाने के लिए समर्थन दें। 
                          
आज मोदी जी पास और हमारे मनमोहन जी फेल हो
गये हैं !! क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है !! अपने
 विचार अवश्य हमारे ब्लॉग पर जाकर लिखें !!
                 प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511


Tuesday, August 13, 2013

" विश्वास के देवता " ये हमारे राजनितिक दल , हाय मैं मर जावाँ। ......! ! !

 आज के समय में , विश्वास करने वाले , भोले मित्रों  को मेरा सादर चरण-स्पर्श !!!
                   R.T.I.क़ानून के तहत आने से डरने वाले सभी राजनितिक दलों के प्रवक्ता का T.V. चेनलों पर बहस करते हुए डर भी रहे थे , धमका भी रहे थे और अपने आपको एवं अपनी पार्टी को ऐसी संस्था बता रहे थे ,जिन पर कार्यकर्ता ,व्यापारी और देश की जनता इतना विश्वास करते हैं कि वो जब भी रूपये मांगते हैं , सब उन्हें इस विश्वास के तहत रूपये दे देते हैं की ये पैसा उस पार्टी की " पवित्र-विचारधारा " को बढ़ाने हेतु काम आएगा !! या उसी कार्य हेतु खर्च होगा जिस कार्य हेतु माँगा गया है !! लेकिन वो दानदाता हमसे पूछे ना की वो पैसा कंहा खर्च हुआ !! इसी लिए कल देश की सभी राजनितिक पार्टियों के नेता फेविकोल से जुड़े

दिखे जब इस से संबंधित विधेयक सदन में पेश हुआ !!
                  न्यायालय ने दूसरा विषय भी उठाया , वो ये कि जो " सज्जन " दो वर्ष की सज़ा भुगत चुका  हो या जेल में हो वो चुनाव नहीं लड़ सकता !! इस बात पर भी सभी पार्टियों के नेता एक जुट हैं !! कह रहे हैं इतना बड़ा अत्याचार कोई हम जैसे " सीधे-साधे " नेताओं पर भला कैसे कर सकता है ?? मुक्क्दमे हम जैसे शरीफ नेताओं पर राजनितिक षड्यंत्र के तहत होते ही रहते हैं !! नेता बनने के पश्चात कोई हमें  " करोड़-पति " भी पता नहीं कौन बना जाता है ? विश्व की अमीर महिलाओं में किसी नेता महिला का नाम पता नहीं कैसे जुड़ जाता है ??राम - मंदिर हम आज बनाये या सौ साल बाद कोई हमें पूछ थोड़े ही सकता है !! हम तो जेल में बैठे-बैठे ही चुनाव जीत जाते हैं इसलिए ये क़ानून भी हमें मंज़ूर नहीं ! ! !

                          ऐसे पवित्र विचारों और संस्कारों वाले नेताओं से क्या हिसाब नहीं माँगा जाना चाहिए ??? क्या इन्हें R.T.I. के तहत नहीं आना चाहिए ?? सभी पार्टियों का एक हो जाना क्या देश के साथ गद्दारी नहीं ??? क्या पवित्र विचारधारा वाले संगठन भी ऐसी ही मानसिकता रखते हैं ??? वो चुप क्यों हैं ??? पवित्र विचारों के साथ जुदा कार्यकर्त्ता आज अपने दिमाग में संघर्ष कर रहा है !! वो निर्णय नहीं कर पा रहा कि वो अपनी पार्टी के साथ जुड़ा  रहे या अलग होकर इन बेईमान नेताओं के खिलाफ संघर्ष करे !!
                       आप ही बताइए मित्रो आपका क्या कहना है इस विषय पर !!!!!????? अपनी महत्व पूर्ण राय नीचे लिखे पते पर या मोबाईल नंबर पर फोन करके अवश्य बताएं !! देश के कोने-कोने में इस मुद्दे को जोर-शोर उठाने का प्रयास करें !! इन नेताओं और इनकी पार्टियों को पारदर्शी बनाने हेतु विचारधारा के प्रति निष्ठावान कार्यकर्ताओं को अब आगे आना ही होगा !! इन्होने तो अपना " असली-चेहरा " दिखा ही दिया है !! भाजपा के लोसन को कुछ जयादा ही महसूस हो रहा है क्योंकि जो पार्टी विद डिफ़रेंस थी वो अब " काले - कौए " जैसी हो गयी है !! डूब - मरो - बेशरमो !!
                         
प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511

Saturday, August 10, 2013

राजस्थान में बदलाव के बयार की आहट...........!!!!!???




अशोक गहलोत व वसुंधरा राजे के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बनी सत्ता की जंग
-संगीता शर्मा||
राजस्थान में कांग्रेस के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने की जुगत बिठाने में ताकत लगाए है जबकि वसुंधरा राजे उनके हाथ से सत्ता छीन दुबारा मुख्यमंत्री का ताज पहनने के लिए बेताब है. लोकसभा चुनाव के लिए किए गए इलेक्षन टेकर सर्वे की माने तो राजस्थान में भाजपा का वोट बैंक बढ़ने की उम्मीद से कांग्रेस के लिए अब सत्ता में दोबारा लौटना इतना आसान नहीं होगा. इन चुनावों में कड़ी टक्कर के चलते भाजपा कांग्रेस के समीकरण बदल सकती है.ashok-vasu
चुनावी मानसून आने से पूर्व ही राजस्थान में अब बदलाव के बयार की आहट महसूस होने लगी है. यह अलग बात है कि चुनाव आने तक मुख्यमंत्री गहलोत अपनी रणनीति में तब्दीली कर बयार का रूख ही बदल दे. हालांकि अभी जमीनी हकीकत को खंगाले तो कांग्रेस के लिए हालात सुखद नहीं है. कांग्रेस के लिए सत्ता पर दुबारा काबिज होने के लिए बागी और बसपा के विधायकों को मंत्री बनाना अब गले की फांस साबित होने वाला है. इधर गहलोत सरकार के मंत्रियों के कार्यकलाप और सांसदों से लेकर कार्यकर्ताओं तक में आपसी खींचतान विधानसभा चुनाव में नुकसान पहुंचा सकते है. वहीं भाजपा लोकसभा चुनाव के लिए सर्वे रिपोर्ट में राजस्थान में सत्ता पर काबिज होने की तस्वीर देख रही है, लेकिन वर्तमान हालात उनके लिए भी उतने सुखद भी नहीं है. वसुंधरा राजे ने अपनी सुराज यात्रा को टिकट दावेदारों के बलबूते सुराज यात्रा में शक्ति प्रदर्शन तो कर लिया, मगर अब टिकट दावेदार ही उनके लिए सिरदर्द साबित होने वाले है और वे उनकी जीत की गणित को भी गड़बड़ा सकते है.
सीएनएन, आईबीएन सीएनडीएस के लोकसभा चुनाव के लिए किए सर्वे के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस के तीन प्रतिशत वोट घटने वाले है. जबकि 2009 के चुनाव में कांग्रेस को 47 प्रतिशत वोट मिले थे. इस तरह आगामी चुनाव में कांग्रेस को 44 प्रतिशत वोट मिल पाएंगे. वहीं भाजपा का सात प्रतिशत मतों का इजाफा होने से 37 प्रतिशत से बढ़कर कांग्रेस के बराबर रहेगी. इससे यह संकेत मिलते है कि मौटे तौर पर विधानसभा चुनाव में भाजपा व कांग्रेस में कड़ी टक्कर होने वाली है. पिछले विधानसभा चुनाव ने राजस्थान में कांग्रेस ने 96 और भाजपा को 72 सीटें हासिल हुई थी. मुख्यमंत्री गहलोत ने सत्ता पर काबिज होने के लिए 6 बसपा विधायकों राजकुमार शर्मा, मुरारीलाल मीणा, राजेंद्र गुढ़ा, रमेश मीणा व गुरूराजसिंह मलिंगा के अलावा कांग्रेस के बागी एंव निर्दलीय विधायक दिलीप चौधरी, हरजीराम बुरडक, रामकिशोर मीणा, परसादीलाल, गोलमा देवी, नानाराम, रामकेश मीणा, जयदीप डूडी ,रामस्वरूप कसाना व कन्हैयालाल झंवर को सरकार में शामिल किया था.
इनमे से कई मंत्री तो संसदीय सचिव बनाए गए. हालांकि गोलमा देवी बाद में अलग हो गई. गहलोत ने बसपा व निर्दलीयों के सहारे सरकार तो चला ली मगर अब विधानसभा चुनाव में उनके टिकटों को लेकर घमासान मचना तय है. पिछले चुनाव में कांग्रेसी उम्मीदवारों को हराने वाली इस फौज को अब कांग्रेस टिकट देती है तो उनके खिलाफ दूसरे दावेदार और यदि नहीं देती है तो वे ही बागी के रूप में खड़े होकर कांग्रेस के लिए नासूर बन सकते है. कुल मिलाकर कांग्रेस के लिए 15 से 20 सीटों पर तो इन मंत्रियों व संसदीय सचिवों की वजह से कांग्रेस का गणित गड़बड़ा सकता है. इधर पिछले दो सप्ताह से कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी गुरूदास कामत के सामने मंत्रियों व संगठन को लेकर उपजे घमासान के बाद रिफाइनरी को लेकर हेमाराम व सोनाराम के बीच चल रही खींचतान से कांग्रेस के बढते ग्राफ पर यकायक ब्रेक लगा रही है.
मंत्रियों की वजह से गंवानी पड सकती है सत्ता..!
कामत ने चुनाव से पूर्व सांसदों से लेकर कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेने के लिए मुख्यमंत्री गहलोत की मौजूदगी में एक हजार से अधिक कांग्रेसियों से फीडबैक लिया. एक बैठक में वरिष्ठ मंत्री भरतसिंह ने संगठन को लेकर सवाल खड़े कर सबकों चौंका दिया उनके साथ कई विधायकों ने उनके सुर में सुर मिलाते हुए संगठन के कामकाज व सदस्यों को लेकर बवाल मचाया. इसके अलावा मंत्रियों और विशेषकर ब्रिज किशोर शर्मा निशाने पर रहे. विधायकों व कार्यकर्ताओं ने स्पष्ट कह दिया कि यही कार्यशैली रही तो मंत्रियों की वजह से 2003 की तरह हाथ से सत्ता तक गंवानी पड सकती है.
वहीं अजमेर में सचिन पायलट व नागौर में ज्योति मिर्धा तक की खुलकर खिलाफत हुई तो सोनाराम रिफाइनरी को लेकर अपनी राग सुनाते रहे. मुख्यमंत्री गहलोत को सफाई देते हुए कहना पड़ा कि उनका बेटा पचपदरा से चुनाव नहीं लड़ रहा है. इस सारे घटनाक्रम से घर के भीतर की लड़ाई सार्वजनिक हो गई और अगले दिन ही रिफाइनरी को लेकर राजस्व मंत्री हेमाराम व कर्नल सोनाराम की बीच हुई गर्मागर्मी के बाद हेमाराम ने मंत्री पद को लेकर इस्तीफा दे दिया. इस एपीसोड से रिफाइनरी को लेकर ओर माहौल गर्मा गया.
सोनाराम समर्थक लीलाणा में रिफाइनरी लगाने, तो पचपदरा के लोग रिफाइनरी वहां लगाने के लिए लामबंद होने लगे है. साथ ही अब लीलाणा में कर्नल के जमीन खरीदने तो पचपदरा में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रार्बट वाड्रा सहित कई कांग्रेसी नेताओं के जमीन खरीदने के आरोप प्रत्यारोप का दौर चल पडा है. कांग्रेस सरकार चुनाव में रिफाइनरी को सबसे बडी उपलब्धि गिनाने की चाहत पाले है लेकिन कांग्रेस में इसकी जगह को लेकर हो रही खींचतान के साथ ही वसुंधरा राजे भी इसके जमीन घोटाले को लेकर गहलोत पर हमले बोल रही है.
गहलोत चुनाव तक सत्ता विरोधी माहौल और कांग्रेस के भीतर सुलग रही आग को कैसे षांत करते है यह तो आने वाला समय ही दर्षाएगा लेकिन वसुंधरा राजे प्रदेष भर में सुराज संकल्प यात्रा कर एक माहौल तो बनाने में जरूर कामयाब हुई है. वे जमकर गहलोत पर जमीन घोटालों से लेकर वह भंवरी कांड में कांग्रेस नेताओं व अधिकारियों की अश्लील सीडी के मामले को तूल दे रही है.
दावेदार कही डूबा न दे नैय्या..!
जुबानी जंग के बीच वसुंधरा ने टिकट दावेदारों की मदद से मुख्यमंत्री के गृहनगर में षक्तिप्रदर्षन कर अपनी ताकत दिखाई वसुंधरा के रथ में दावेदारों का हार्सपॉवर आने वाले दिनों में उन्हें सत्ता तक पहुंचा सकता है लेकिन यही दावेदार कांग्रेस की तर्ज पर नुकसान को नुकसान पहुंचा सकते है. टिकट दावेदारों ने वसुंधरा में चाहे भीड़ जुटाना हो या अखबारों में लाखों रूपए के विज्ञापन देने की बात हो सारी ताकत लगा और उसके बदले अब वे भी टिकट की उम्मीद तो रखते ही है यह अलग बात है कि वसुंधरा ने यह स्पष्ट कर दिया कि योग्य उम्मीदवारों को टिकट मिलेगा मगर हर दावेदार अपने योग्य मानते हुए अपनी टिकट पक्की मान रहा है. हर सीट दावेदारों की लंबी लिस्ट है. भाजपा में पहली बार टिकट को लेकर दिखा माहौल भाजपा के लिए खतरे का संकेत दे रहा है. यदि भाजपा ने 2009 की तरह टिकट बंटवारें में पैराशूट उम्मीदवारों को उतारा तो जीत की उम्मीद पर पानी फिर सकता है’. SAABHAR PRASTUTI !!
                              प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511
SAABHAAR !! 

"अब कि बार कोई कार्यकर्ता ही हमारा जनसेवक (विधायक) होगा"!!

"सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र की जनता ने ये निर्णय कर लिया है कि उसे अब अपना अगला विधायक कोई नेता,चौधरी,राजा या धनवान नहीं बल्कि किसी एक का...