Friday, January 3, 2014

" नहीं बनेगा कोंग्रेस का प्रधानमंत्री,इसलिए मैं नहीं बनना चाहता अगला प्रधानमंत्री "- स० मनमोहन सिंह !!

" बेरोज़गारी हम दूर नहीं कर पाये " !!
" भ्रष्टाचार नहीं मिटा पाये " !!
" मंहगाई नहीं रोक पाये " !!
" अगला प्रधानमंत्री U.P.A. का बनेगा " !!
" मैं अगला प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहता "!!
कई बातों का मुझे आज तलक पता ही नहीं चला हम देखेंगे " !!
" इतिहासकार मुझे अच्छा प्रधानमंत्री लिखेंगे"!
" मीडिया चाहे मुझे बुरा कहे "!!
" मोदी प्रधानमंत्री बने तो घातक होगा " !!
" राहुल में कई खूबियां हैं " !!
" सोनिया जी अगला प्रधानमंत्री पद का दावेदार जल्द ही घोषित करेंगीं " !!
           - स० मनमोहन सिंह 
 
  ये हैं हमारे शरीफ प्रधानमंत्री जी के वो कथन जो उन्होंने आज  प्रैस से मिलिए कार्यक्रम में मुख्यतः कंही !! भारत के उन नागरिकों ने अपना माथा ही पीट लिया होगा जिन्होंने इसे देखा होगा !! और जिन्होंने इसे नहीं देखा होगा वो कल अखबारों में इसे पढ़कर अपना सर धुन लेंगे और कहेंगे के हे भगवान् किन पापों की सज़ा हमें इस रूप में मिल रही है ??
           जिनको कोर्ट और S.I.T. ने निर्दोष घोषित करदिया हो वो मोदी जी और येदियुरप्पा तो इन्हें भ्रष्टाचारी और हत्यारे नज़र आ रहे हैं और अपने राजा ,कलमाड़ी,शीला दीक्षित और सज्जन कुमार निर्दोष नज़र आते हैं जिनको कोर्ट दोषी कह चुका है क्यों ???
          मनमोहन जी जितने चाहे षड्यंत्र रच लो !! जितनी चाहे मर्ज़ी अपनी " आप " जैसी A.B.C.D.टीम बनालो , जनता 2014 में होने वाले चुनावों में कोंग्रेस ही नहीं बल्कि U.P.A.मुक्त प्रधानमंत्री चुनेगी !! ये " फिफ्थ पिल्लर कारप्शन किल्लर " ब्लॉग कि भविष्यवाणी है सभी नोट करलें समय आने पर हैम सभी को याद दिलाएंगे कि हमने ऐसा कहा था !! 
                हाँ - नहीं तो !!!!
            
" वर्ष २०१४ आप सब के लिए भरपूर सफलताओं के अवसर लेकर आये , आपका जीवन सभी प्रकार की खुशियों से महक जाए " !!
" गूगल+,ब्लॉग , पेज और फेसबुक " के सभी दोस्तों को मेरा प्यार भरा नमस्कार ! !
नए बने मित्रों का हार्दिक स्वागत-अभिनन्दन स्वीकार करें !
जिन मित्रों का आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं और बधाइयाँ !!
जो अभी तलक मेरे मित्र नहीं बन पाये हैं , कृपया वो जल्दी से अपनी फ्रेंड-रिक्वेस्ट भेजें , क्योंकि मेरी आई डी तो ब्लाक रहती है ! आप सबका मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer " व इसी नाम से चल रहे पेज , गूगल+ और मेरी फेसबुक वाल पर हार्दिक स्वागत है !!
आप सब जो मेरे और मेरे मित्रों द्वारा , सम - सामयिक विषयों पर लिखे लेख , टिप्प्णियों ,कार्टूनो और आकर्षक , ज्ञानवर्धक व लुभावने समाचार पढ़ते हो , उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स और लाईक देते हो या मेरी पोस्ट को अपने मित्रों संग बांटने हेतु उसे शेयर करते हो , उसका मैं आप सबका बहुत आभारी हूँ !
आशा है आपका प्यार मुझे इसी तरह से मिलता रहेगा !!

प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is -www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :-www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7
www.pitamberduttsharma.blogspot.com
मेरे ब्लॉग का नाम ये है :- " फिफ्थ पिलर-कोरप्शन किल्लर " !!
मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।
" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG . READ,SHARE AND GIVE YOUR VELUABEL COMMENTS DAILY . !!
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

8 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज शनिवार (04-01-2014) को "क्यों मौन मानवता" : चर्चा मंच : चर्चा अंक : 1482 में "मयंक का कोना" पर भी है!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. dhanywaad roop ji !! aapka aabhaari hoon !!

      Delete
  2. सटीक .....आलेख..pl..word verification hata de,,

    ReplyDelete
    Replies
    1. aapke sujhav bhi chahiyen mujhe ji aabhari hoon !!

      Delete
  3. परि पूर्णतया सहमत आपसे। हर शब्द खरा है आपकी पोस्ट का एक प्रतिक्रिया ब्लॉग पोस्ट :

    http://pitamberduttsharma.blogspot.in/2014/01/blog-post_3.html

    ReplyDelete
    Replies
    1. aabhaar prkat karta hoon aapka lekh bhi badaa prshansniya hai jo mujhse rah gyaa thaaa wo aapne pura kar diya !!

      Delete
  4. घोटालों की बारात के दूल्हा मनमोहन सिंह

    मनमोहन सिंह ने अपने विदाई सम्बोधन में कहा -न तो विपक्ष से और न मीडिया ने मेरे साथ न्याय किया ,मुझे उम्मीद है इतिहासकार मेरी उपलब्धि के बारे में सही आकलन करेंगेंऔर मैं ने जो सेवायें की हैं उन्हें देश के सामने लायेंगे।

    देश की जनता यह जानना चाहती है कि उन्होंने देश की सेवा किस रूप में की है। वे अपनी व्यक्ति गत ईमानदारी का ढिंढोरा पीटते रहे और उनकी नाक के नीचे घौटाले पर घोटाला होता रहा। नारी की इज्जत पर हमले होते रहे। चीन की सेनाएं अनेक बार भारत की सीमा का उल्लंघन करती रहीं और इतिहास में नाम पा जाने को आतुर प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह चुप्पी भरके बैठे रहे। जब पाकिस्तान के सैनिक भारतीय सैनिकों के सिर काटकर ले गए तब भी उनका मौन नहीं टूटा। ये पता लगाना मुश्किल था

    कि वे दहशत में हैं ,अपमान से आहत हैं या फिर कूटनीतिक निगाह से

    किन्हीं वोटों पर निगाह गढ़ाएं हुए हैं। अमरीका ,औस्ट्रेलिया और

    कई अन्य


    देशों में भारतीयों का अपमान होता रहा और वह मौन समाधि लगाए रहे।

    इतिहास क्या लिखेगा कि उनके शासनकाल में राज खुल जाने के डर से फाइलें गुम होती रहीं या फिर उनका अग्नि संस्कार कर दिया गया। आखिर इतिहास क्या लिखेगा यही न कि बार -बार अदालतों से केंद्रीय सरकार को फटकार मिलती रही और प्रधानमन्त्री व्यक्तिगत ईमानदारी का गुणगान करते रहे। वह एक ऐसे प्रधानमन्त्री थे और हैं जिनका विदेश मंत्री संयुक्त राष्ट्र सभा में भारत की बजाय किसी और देश की रिपोर्ट पढ़ने लग गया था। वह एक ऐसे प्रधानमन्त्री हैं और एक ऐसी पार्टी से सम्बद्ध हैं कि जिसके एक बड़बोले नेता ने पूर्व सेना अध्यक्ष के बारे में ये निंदनीय टिपण्णी की थी कि अरे वह तो एक मामूली सरकारी नौकर है। शायद इसी आधार पर उन्हें मंत्रीपद दे दिया गया था। और वही महाशय इस बार प्रेस वार्ता में उनके साथ बैठे थे।

    इतिहास इस बात के लिए भी मनमोहन सिंह को याद करेगा कि उनके एक मंत्री ने किसी अन्य विचार के राजनीतिक कार्यकर्ता को ये धमकी भरी चुनौती दी थी कि मेरे इलाके में आके देखना। उन्हें प्रौन्नति देकर एक और अच्छा विभाग दे दिया गया। जिसे धमकी दी गई थी वह आज दिल्ली का मुख्यमन्त्री है। और प्रधानमन्त्री अपनी पार्टी की ओर से उन्हें समर्थन दे रहे हैं। कहीं ऐसा तो नहीं है वह पश्चाताप कर रहे हैं। यह तो वो जाने पर
    पर इतना ज़रूर है कि इतिहासकार ये लिखने से बच नहीं सकेगा कि १० साल के लिए एक ऐसे शख्श प्रधानमन्त्री बने थे जब सारी शासन व्यवस्था शिथिल हो गई थी। वे अपनी व्यक्तिगत ईमानदारी का नगाड़ा बजा रहे थे। उनके शासनकाल में कांग्रेसी घौटाले पे घोटाला करते जा रहे थे। उनकी अपनी कोई राय नहीं थी। जो बुलवाया जाता था वही बोलते थे।

    इतिहासकार इस बात के लिए उन्हें ज़रूर शाबाशी देगा कि सरदार मनमोहन प्रधानमन्त्री के रूप में घोटालों की बारात के दूल्हा बने बैठे थे।

    विशेष :मनमोहन की बुद्धि इतिहासकार है। इतिहास का अर्थ क्या वह यह समझते हैं कि सरकारी रिकार्ड देखकर इतिहास लिखा जाता है,जो उन्होंने ठीक कर लिए हैं ,जो कुछ देश का अच्छा या बुरा विकास हुआ है वह महत्वपूर्ण नहीं है।हमने आर टी आई क़ानून बनाया। अन्य अनेक क़ानून बनाये। क्या वह मनीष तिवारी जैसे लोगों से काल पात्र गढ़वा कर इतिहास लिखवाएंगे ?यदि ऐसा है तब और बात है। 'हाथ 'की सफाई से कुछ भी किया जा सकता है।

    परि पूर्णतया सहमत आपसे। हर शब्द खरा है आपकी पोस्ट का एक प्रतिक्रिया ब्लॉग पोस्ट :

    http://pitamberduttsharma.blogspot.in/2014/01/blog-post_3.html

    ReplyDelete

"अब कि बार कोई कार्यकर्ता ही हमारा जनसेवक (विधायक) होगा"!!

"सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र की जनता ने ये निर्णय कर लिया है कि उसे अब अपना अगला विधायक कोई नेता,चौधरी,राजा या धनवान नहीं बल्कि किसी एक का...