Saturday, April 18, 2015

" दुश्मनो के हाथों में खेलते ये पैसे के पीर "!! फिल्मों-सीरियलों और विज्ञापनों के निर्माता !!


अपसंस्कृति फैलाते टी वी धारावाहिक और रियलिटी शोज़

इन दिनों टी वी पर अनेकों चैनल्स चल रहे हैं और हर चैनल पर अनेकों धारावाहिक, रीयलिटी शोज़ और कॉमेडी सीरियल्स चल रहे हैं जो मनोरंजन के नाम पर निम्न स्तरीय भाषा, अश्लील और फूहड़ हास्य तथा घटिया विचारों के वाहक बन अपसंस्कृति को परोसने में संलग्न हैं ! आश्चर्य इस बात का है कि इस तरह के स्तरहीन कार्यक्रमों के प्रसारण के लिए हरी झंडी कौन दिखाता है जबकि यह सर्वमान्य सत्य है कि भारतीय समाज में एक टी वी ही पारिवारिक मनोरंजन का इकलौता माध्यम है और परिवार में हर उम्र के सदस्य होते हैं जो प्राय: ऐसे कार्यक्रमों के प्रसारण के समय एक साथ एक कमरे में बैठने पर असहज महसूस करने लगते हैं !



टी वी धारावाहिकों की भाषा बहुत ही आपत्तिजनक होती जा रही है ! यथार्थ के नाम पर आजकल संवादों में हर तरह की गालियों का जी भर कर प्रयोग किया जाता है ! आजकल कलर्स पर एक धारावाहिक चल रहा है जिसमें दो स्त्रियाँ जातिसूचक संबोधनों के साथ चीख-चीख कर एक दूसरे को खूब जली कटी सुनाती हैं ! आरम्भ होने से पहले ही इस धारावाहिक के विज्ञापन में कई दिनों तक इन्हीं संवादों को इतना दोहराया गया कि धारावाहिक देखने की इच्छा ही खत्म हो गयी ! चलिये यह मान भी लें कि कहानी का पात्र समाज के जिस वर्ग का प्रतिनिधित्व करता है वह वर्ग ऐसी ही भाषा का प्रयोग करता है तो क्या इस घटिया चलन को रोकना हमारी प्राथमिकता नहीं होनी चाहिये ? 

कहानी तक तो बात फिर भी हजम की जा सकती है हद तो तब हो जाती है जब अत्यंत माननीय माने जाने वाले प्रसिद्ध एवं लोकप्रिय सेलीब्रिटीज़ इस तरह की भाषा का अनुमोदन करते दिखाई देते हैं ! कुछ समय पूर्व प्रसारित नृत्य के एक रीयलिटी शो के एक माननीय जज कलाकारों की सर्वोत्कृष्ट प्रस्तुति के लिये अपनी प्रतिक्रिया कुछ इस प्रकार देते थे, ‘यह आपकी बहुत ही बदतमीज़ परफॉर्मेंस थी !’ बताइये किसीकी तारीफ़ करने का भला यह कौन सा अंदाज़ हुआ ! टी वी से गोंद की तरह चिपके रहने वाले नादान बच्चे तो यही सीखेंगे कि जब टी वी पर बड़े-बड़े लोग इस तरह की भाषा का प्रयोग करते हैं तो इसमें कोई ग़लत बात कैसे हो सकती है ! 


एक अन्य बात जो मुझे बहुत अखरती है कि हास्य के नाम पर इन दिनों पुरुष कलाकार स्त्रियों की वेशभूषा पहन कर अभिनय करने के लिये आ जाते हैं और घटियापन एवं अश्लीलता की सारी हदें पार कर जाते हैं ! कार्यक्रम में साक्षात्कार के लिये आये हुए मेहमान कलाकार और दर्शक सभी जानते हैं कि स्त्री के वेश में ये पुरुष कलाकार हैं इसलिए इन कलाकारों को तो जैसे पूरी तरह से फ्लर्ट करने की छूट ही मिल जाती है ! ये कार्यक्रम इतने स्तरहीन एवं असहनीय हो जाते हैं कि जैसे ही स्टेज पर इनका आगमन होता है तुरंत ही टी वी स्विच ऑफ कर देना ही उचित लगता है ! अफ़सोस होता है कि हमारा सेन्स ऑफ ह्यूमर इतना खराब हो चुका है कि हम बिना कोई आवाज़ उठाये इतने स्तरहीन कार्यक्रम झेले जाते हैं और समाज पर होने वाले इसके नकारात्मक प्रभाव को रोकने के लिये कोई कदम नहीं उठाते !


समाज में कोई भी संदेश प्रसारित करने के लिये टी वी एक बहुत ही सशक्त माध्यम है ! यह हम पर निर्भर करता है कि हम इसका उपयोग समाज में जागरूकता, चेतना एवं उत्थान के प्रचार प्रसार के लिये करते हैं या फिर मनोरंजन की काली पट्टी आँखों पर बाँध समाज में अपसंस्कृति फैलाने के लिये करते हैं ! यह नहीं भूलना चाहिये कि अधिकांश परिवारों में मनोरंजन का एक मात्र साधन यह टी वी ही है इसलिए इसमें प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों की गुणवत्ता का ध्यान रखना हमारी सर्वोपरि प्राथमिकता होनी चाहिये ! सूचना और प्रसारण मंत्रालय को भी इस ओर ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है कि जिन कार्यक्रमों को प्रसारण की अनुमति मिल रही है वे किस स्तर के हैं और उनमें कितनी रचनात्मकता है ! केवल बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउसेज़ के नाम से प्रभावित होना आवश्यक नहीं होता ! कार्यक्रम कितना उच्च स्तरीय है और समाज के हित में है या नहीं यह सुनिश्चित करना अधिक आवश्यक हो जाता है ! आशा है आप भी मेरी बात से अवश्य ही सहमत होंगे !

साभार - :
श्रीमती 
साधना वैद    !!
                  जय श्री राम !!!!  आपसे मित्रता करके मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है ! आपके जनम दिन की आपको हार्दिक बधाई और शुभ कामनाएं !! कृपया स्वीकार करें ! आपका जीवन सदा खुशियों से भरा रहे !! मेरा फेसबुक,गूगल+,ब्लॉग,पेज और विभिन्न ग्रुपों की सदस्य्ता ग्रहण करने का एक ख़ास उद्देश्य है ! मैं एक लेखक-विश्लेषक और एक समीक्षक हूँ ! राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय ज्वलंत विषयों पर लिखना -पढ़ना मेरा शौक है ! मैं एक साधारण पढ़ालिखा और साफ़ स्वभाव का आदमी हूँ ! भारतीय संस्कृति और सनातन धर्म से प्यार करता हूँ ! भारत देश के लिए अगर मेरे प्राण काम आ सकें तो मैं इसे अपना सौभाग्य मानूंगा !परन्तु किसी संत-राजनितिक दल और नेता हेतु नहीं !मैं एक बिन्दास स्वभाव का आदमी हूँ ! मेरी मित्र मण्डली में मेरे बच्चे और रिश्तेदार भी शामिल हैं ! तो भी मैं सभी विषयों पर अपने खुले विचार रखता हूँ !! आप सब का हार्दिक स्वागत है मेरे जीवन में !! मैं आपकी यादों - बातों को संभल कर रखूँगा !!

मित्रो !! मैं अपने ब्लॉग , फेसबुक , पेज़,ग्रुप और गुगल+ को एक समाचार-पत्र की तरह से देखता हूँ !! आप भी मेरे ओर मेरे मित्रों की सभी पोस्टों को एक समाचार क़ी तरह से ही पढ़ा ओर देखा कीजिये !!
" 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " नामक ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) के पाठक मित्रों से एक विनम्र निवेदन - - - !!
आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) पर, जिसका नाम है - " 5TH PILLAR CORRUPTIONKILLER " कृपया इसे एक समाचार-पत्र की तरह ही पढ़ें - देखें और अपने सभी मित्रों को भी शेयर करें ! इसमें मेरे लेखों के इलावा मेरे प्रिय लेखक मित्रों के लेख भी प्रकाशित किये जाते हैं ! जो बड़े ही ज्ञान वर्धक और ज्वलंत - विषयों पर आधारित होते हैं ! इसमें चित्र भी ऐसे होते हैं जो आपको बेहद पसंद आएंगे ! इसमें सभी प्रकार के विषयों को शामिल किया जाता है जैसे - शेयरों-शायरी , मनोरंजक घटनाएँ आदि-आदि !! इसका लिंक ये है -www.pitamberduttsharma.blogspot.com.,ये समाचार पत्र आपको टविटर , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी मिल जाएगा ! ! अतः ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर इसे सब पढ़ें !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :-www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7. मेरा ई मेल पता ये है -: pitamberdutt.sharma@gmail.com.
जो अभी तलक मेरे मित्र नहीं बन पाये हैं , कृपया वो जल्दी से अपनी फ्रेंड-रिक्वेस्ट भेजें , क्योंकि मेरी आई डी तो ब्लाक रहती है ! आप सबका मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer " व इसी नाम से चल रहे पेज , गूगल+ और मेरी फेसबुक वाल पर हार्दिक स्वागत है !!
आप सब जो मेरे और मेरे मित्रों द्वारा , सम - सामयिक विषयों पर लिखे लेख , टिप्प्णियों ,कार्टूनो और आकर्षक , ज्ञानवर्धक व लुभावने समाचार पढ़ते हो , उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स और लाईक देते हो या मेरी पोस्ट को अपने मित्रों संग बांटने हेतु उसे शेयर करते हो , उसका मैं आप सबका बहुत आभारी हूँ !
आशा है आपका प्यार मुझे इसी तरह से मिलता रहेगा !!आपका क्या कहना है मित्रो ??अपने विचार अवश्य हमारे ब्लॉग पर लिखियेगा !!
सधन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।
मोबाईल नंबर-09414657511
" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG . READ,SHARE AND GIVE YOUR VELUABEL COMMENTS DAILY . !!
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh. (raj)INDIA.

1 comment:

  1. अब टी वी सीरियल में शालीनता नाम की चीज नहीं रही है ,और यह पारिवारिक मनोरंजन का साधन नहीं रहा है , भोंडेपन को दिखाने के लिए परस्पर होड़ मच गयी है तीस मिनट के समय में देखने की बात तीन मिनट की भी नहीं होती , संस्कारों के निर्माण के बजाय यह उनका नाश कर रहा है

    ReplyDelete

"कुछ नहीं ,है भाता ,जब रोग ये लग जाता".....!!! - पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतंत्र टिप्पणीकार) मो.न.+ 9414657511

वैसे तो मित्रो,! सभी रोग बुरे होते हैं !लेकिन कुछ रोग तो हमारा पीछा छोड़ देते हैं और कुछ आदमी की मौत तलक साथ देते हैं !पुराने जमाने में ऐसे ...