Wednesday, January 12, 2011

LO - -KARLYO - - - BAAT ! ! !MAHNGAI AB PRAKIRTIK AAPDA JAISI HAI ! ! !

प्यारे पाठक मित्रो , प्यार भरा नमस्कार स्वीकार करें ! मकर संक्रांति ,लोहड़ी और पोनम की बधाई हो !मेरी तरफ से अपार शुभकामनाएँ भी स्वीकार करें !प्याज़ ,लहसुन ,टमाटर तो दे नहीं सकता महंगाई का जमाना है ! आज का समाचारपत्र  पढ़ रहा था तो एक समाचार पर नज़र पड़ी तो हैरान हो गया रिश्वत देने का एक नया तरीका सामने आया !यु .पी .ए .सरकार के घटक दल महंगाई को लेकर जहां एक दुसरे पर दोषारोपण कर रहे हैं ! वहीँ एक घटक दल जिसके मंत्री भ्रष्टाचार में जांच का सामना कररहे है के एक नेता ने मनमोहन सरकार को बचने हेतु यह बयान दे दिया कि मंहगाई तो प्राकृतिक आपदा जैसी  है ! हमने तो आज तक यही समझा जाना है कि मंहगाई होने के दो ही कारन हो सकते है !एक किसी वस्तु के उत्पादन  में कमी या फिर सरकार के प्रभन्दन में खराबी !आज जब पूरा विश्व एक परिवार की तरह है कोई भी वस्तु दुसरे देशों से खरीदी या बेचीं जा सकती है तो प्रबंधन में ही कमी हुई ! इसी लिए विपक्ष सरकार को दोषी ठहरा रहा है !सरकार अपने मंत्रियों को बलि का बकरा बनाना चाहती है !अब क्योंकि मंत्री दूसरी पार्टी का है तो ड्रामा हो रहा है !इस पर द्रमुक नेता ने नया तीर छोड़ा है ---------प्राकिर्तिक आपदा ----- तो अनायास मुंह से निकल गया कि -------लो ------- करल्यो ------बात  ! ! ! ! ! !                                     कोई श्रेय लेने कि बात होती तो सब एक ही सुर में राग अलापते  कि ये  तो सोनिया जी ,राहुल जी या मनमोहन जी कि कृपा से काम हुआ है !मंहगाई बढ़ने कि जिम्मेदारी अब कौन लेवे ? ??  ??

No comments:

Post a Comment

"क्या तीन तलाक़ से तलाक़ हो पायेगा"? - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)

ना जाने किसकी प्रेरणा मुस्लिम महिलाओं को मिली , तीन तलाक़ से पीड़ित कई महिलाएं न्यायालय की शरण में चली गयीं !पीड़ित तो वे कई  समस्याओं से भी व...