Thursday, October 29, 2015

" नेताओं में एक "गुण" भी है , हमें वो ही इनसे सीखना चाहिए जी "!! - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक) मो. न. - 09414657511 .

   मित्रो ! आज करवाचौथ का व्रत है ! हिन्दू सभ्यता से जुडी हर धर्म की महिलाएं आज अपने उस "दुश्मन" की लम्बी उम्र हेतु करवा-चौथ का व्रत रखती हैं जिनसे वो लगभग रोज़ाना ही "गदर"करतीं हैं ! ये खूबी स्त्रियों के साथ-साथ हमारे नेताओं में भी विशेष रूप से पायी जाती है ! वो भी चुनावों के समय और जनता व पत्रकारों के सामने एक दुसरे को गरियाते रहते हैं लेकिन वो ही नेता शादियों में एक दुसरे की सेवा करते भी नज़र आते हैं !
                     लेकिन हम उन्हें देख कर आपस में लड़ तो लेते हैं लेकिन एक दुसरे के गले मिल नहीं पाते ! यहां तलक कि हम कत्ल करने या देश निकले की भी बात कर देते हैं !क़त्ल करने के भी आजकल अलग-अलग तरीके अपनाये जा रहे हैं जी ! हसीनाएं जहां अपनी अदाओं और नज़रों से कत्ल कर देती हैं , वहीँ ,शायर, लेखक,वैज्ञानिक और इतिहासकार अपने सन्मान लौटाकर देश के प्रधानमंत्री को कत्ल करने की कोशिश करते नज़र आते हैं !"भावुक" कहीं के ना हो तो !!
                        लेकिन जैसे हर बात की कोई ना कोई सीमा होती है , वैसे ही "दुश्मन" के साथ प्यार जताने की भी सीमा होती है जी ! अन्यथा माननीय मुरली मनोहर जोशी और आडवाणी जी जैसे ना जाने कितने नेता हैं देश में जो आज इसी गलती का दंड भोग रहे हैं जी ! जबकि होशियार जेटली और सुषमा जी जैसे चतुर लोग विपक्षी नेता बन कर भी ऐश करते थे और आज सरकार में भी हैं ! लेकिन भावुक लोग ऐसा नहीं कर पाये ! जैसे हमारे शत्रु जी !! ना बेचारे इधर के रहे और ना उधर के !उन्हें बैलेंस बनानाही नहीं आया जी ! बिलकुल हमारी तरह हैं वो ! मुंहफट ! हम भी इनकी तरह "सन्यास" लेने की सोच रहे हैं ! जय हिन्द !
                 " आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE


Wednesday, October 28, 2015

महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर (Suresh Chiplunkar): Sanjeev Bhatt and Congress Dirty Tricks (Part 2)

महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर (Suresh Chiplunkar): Sanjeev Bhatt and Congress Dirty Tricks (Part 2): पर्दाफ़ाश होते काँग्रेसी षड्यंत्र और झूठ... (भाग..२)   ( पिछले भाग से जारी ... पिछला भाग यहाँ क्लिक करके पढ़ें...)  काँग्रेस के बु...

महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर (Suresh Chiplunkar): Congress Dirty Tricks on Coffin and 2G Scam

महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर (Suresh Chiplunkar): Congress Dirty Tricks on Coffin and 2G Scam: पर्दाफ़ाश होते काँग्रेसी षड्यंत्र और झूठ...   भारत में ये कहावत अक्सर सुनी जाती हैं, कि “जब मुसीबतें और बुरा वक्त आता है, तो चारों तरफ स...

Monday, October 26, 2015

सत्ता से दो दो हाथ करते करते मीडिया कैसे सत्ता के साथ खडा हो गया ???? - - साभार - श्री पुण्य प्रसुन्न वाजपेयी जी

   अमेरिका में रुपर्ट मर्डोक प्रधानमंत्री मोदी से मिले तो मड्रोक ने मोदी को आजादी के बाद से भारत का सबसे शानदार पीएम करार दे दिया। मड्रोक अब अमेरिकी राजनीति को भी प्रभावित कर रहे है। ओबामा पर अश्वेत प्रेसीडेंट न मानने के मड्रोक के बयान पर बवाल मचा ही हुआ है। अमेरिका में अपने न्यूज़ चैनल को चलाने के लिये मड्रोक आस्ट्रेलियाई नागरिकता छोड़ अमेरिकी नागरिक बन चुके है, तो क्या मीडिया टाइकून इस भूमिका में आ चुके हैं कि वह सीधे सरकार और सियासत को प्रभावित कर सके या कहे राजनीतिक तौर पर सक्रिय ना होते हुये भी राजनीतिक खिलाडियों के लिये काम कर सके। अगर ऐसा हो चला है तो यकीन मानिये अब भारत में भी सत्ता-मीडिया का नैक्सेस पेड न्यूज़ से कही आगे निकल चुका है। जहाँ अब सत्ता के लिये खबरों को नये सिरे से बुनने का है या कहे सत्तानुकुल हालात बने रहे इसके लिये दर्शको के सामने ऐसे हालात बनाने का है जिस देखते वक्त दर्शक महसूस करें कि अगर सत्ता के विरोध की खबर है तो खबर दिखाने वाला देश के साथ गद्दारी कर रहा है। यानी पहली बार मीडिया या पत्रकारिता की इस धारणा को ही मीडिया हाउस जड़-मूल से खत्म करने की राह पर निकल पडे हैं कि पत्रकारिता का मतलब यह कतई नहीं है कि चुनी हुई सरकार के कामकाज पर निगरानी रखी जाये। यानी सत्ता को जनता ने पांच साल के लिये चुना है तो पाँच बरस के दौर में सत्ता जो करे जैसा करे वह देश हित में ही होगा। जाहिर है यह बेहद महीन लकीर है है जहाँ मीडिया का सत्ता के साथ गठजोड़ मीडिया को भी राजनीतिक तौर खड़ा कर दें और सत्ता भी मीडिया को अपना कैडर मान कर बर्ताव करें। यह घालमेल व्यवसायिक तौर पर भी लाभदायक साबित हो जाता है। यानी सत्ता के साथ खड़े होने की पत्रकारिता इसका एहसास होने ही नहीं देती है कि सत्ता कोई लाभ मीडिया हाउस को दे रही है या मीडिया सत्ता की राजनीति का प्यादा बनकर पत्रकारिता कर रही है। इसके कई उदाहरणों को पहले समझें। बिहार चुनाव में किसी भी अखबार या न्यूज चैनल की हेडलाइन नीतिश कुमार को पहले अहमियत देती है। उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी का नंबर आयेगा और फिर लालू प्रसाद यादव का। यानी कोई भी खबर जिसमें नीतिश कह रहे होगें या नीतिश को निशाने पर लिया जा रहा होगा वह खबर नंबर एक हो जायेगी। इसी तर्ज पर मोदी जो कह रहे होगें या मोदी निशाने पर होगें उसका नंबर दो होगा। कोई भी कह सकता है कि जब टक्कर इन्हीं दो नेताओं के बीच है, तो खबर भी इन्ही दो नेताओं को लेकर होगी। तो सवाल है कि जब सुशील मोदी कहते है कि सत्ता में आये तो गो-वध पर पांबदी होगी। तो उस खबर को ना तो कोई पत्रकार परखेगा और ना ही अखबार में उसे प्रमुखता के साथ जगह मिलेगी। लेकिन जब नीतिश इसके जबाब में कहगें कि बिहार में तो साठ बरस से गो-वध पर पाबंदी है तो पत्रकार के लिये वह बड़ी खबर होगी। इसी तर्ज पर केन्द्र का कोई भी मंत्री बिहार चुनाव के वक्त आकर कोई भी बडे से बडा नीतिगत फैसले की जानकारी चुनावी रैली या प्रेस कान्फ्रेस में दे दें। उसको अखबार में जगह नहीं मिलेगी। ना ही प्रधानमंत्री मोदी के किसी बडे फैसले की जानकारी देने को अखबार या न्यूज चैनल दिखायेगें। यानी पीएम मोदी के बयान में जब तक नीतिश –लालू को निशाने पर लेने का मुलम्मा ना चढा हो, वह खबर बन ही नहीं सकती। यानी खबरों का आधार नेता या कहे सियासी चेहरो को उस दौर में बना दिया गया जब सबसे ज्यादा जरुरत ग्राउंड रिपोर्टिंग की है और उसके बाद चेहरों की प्राथमिकता सत्ता के साथ गढजोड़ के जरीये कुछ इस तरह से पाठकों में या कहें दर्शकों में बनाते हुये उभर कर आयी, जिससे ग्राउंड रिपोर्टिंग या आम जनता से जुड़े सरकारी फैसलों को परखने की जरुरत ही ना पड़े। उसकी एवज में सरकार के किसी भी फैसले को सकारात्मक तौर पर तमाम आयामों के साथ इस तरह रखा जाये जिससे पत्रकारिता सूचना संसार में खो जाये। मसलन झारखंड विश्व बैंक की फेरहिस्त में नंबर 29 से खिसक कर नंबर तीन पर आ गया। इसकी जानकारी प्रधानमंत्री मोदी बांका की अपनी चुनावी रैली में यह कहते हुये देते है कि नीतिश बिहार को 27 वें नंबर से आगे ना बढा पाये, तो खबरों के लिहाज से नीतिश पर हमले या उनकी नाकामी या झारखंड में बीजेपी की सत्ता आने के बाद उसके उपलब्धि से आगे कोई पत्रकारिता जायेगी ही नहीं। यानी झारखंड में कैसे सिर्फ खनन का लाइसेंस नये तरीके से सत्ता के करीबियो को बांटा गया और खनन प्रक्रिया का लाभ झरखंड की जनता को कम उघोगपतियों को ज्यादा हो रहा है। इसपर कोई रिपोर्टिंग नहीं और वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट झारखंड के लोगो की बदहाली या इन्फ्रास्ट्रक्चर की दिशा में सबकुछ कैसे ठप पडा है या फिर रोजगार के साधन और ज्यादा सिमट गये हैं, इस पर केन्द्रित होता ही नहीं है। तो नयी मुशकिल यह नहीं है कि कोई पत्रकार इन आधारों को टटोलने क्यों नहीं निकलता। मुश्किल यह है कि जो प्रधानमंत्री कह दें या बिहार में जो नीतिश कह दें उसके आगे कोई लकीर इस दौर में पत्रकारिता खिंचती नहीं है या पत्रकारिता के नये तौर तरीके ऐसे बना दिये गये है जिससे सत्ता के दिये बयान या दावो को ही आखरी सच करार दे दिया जाये। 


अब यह सवाल उठ सकता है कि आखिर ऐसे हालात पेड मीडिया के आगे कैसे है और इस नये हालात के मायने है क्या? असल में मीडिया के सरोकार जनता से हटते हुये कैसे सत्ता से ज्यादा बनते चले गये और सत्ता किस तरह मीडिया पर निर्भर होते हुये मीडिया के तौर तरीकों को ही बदलने में सफल हो गया। समझना यह भी जरुरी है। मौजूदा वक्त में मीडिया हाउस में कारपोरेट की रुची क्या सिर्फ इसलिये है कि मीडिया से मुनाफा बनाया कमाया जा सकता है? या फिर मीडिया को दूसरे धंधो के लिये ढाल बनाया जा सकता है, तो पहला सच तो यही है कि मीडिया कभी अपने आप में बहुत लाभ कमाने का धंधा रहा ही नहीं है। यानी मीडिया के जरीये सत्ता से सौदेबाजी करते हुये दूसरे धंधो से लाभ कमाने के हालात देखे जा सकते है। लेकिन मौजूदा हालात जिस तेजी से बदले है या कहे बदल रहे है उसमें मीडिया की मौजूदगी अपनी आप में सत्ता होना हो चला है और उसकी सबसे बडी वजह है, बाजार का विस्तार। उपभोक्ताओं की बढती तादाद और देश को देखने समझने का नजरिया। तमाम टेक्नॉलाजी या कहें सूचना क्रांति के बाद कहीं ज्यादा तेजी से शहर और गांव में संवाद खत्म हुआ है। भारत जैसे देश में आदिवासियों का एक बडा क्षेत्र और जनसंख्या से कोई संवाद देश की मुख्यधारा का है ही नहीं है। इतना ही नहीं दुनिया में आवाजाही का विस्तार जरुर हुआ लेकिन संवाद बनाना कहीं ज्यादा तेजी से सिकुड़ा है, क्योंकि सुविधाओ को जुगाडना, या जीने की वस्तुओं को पाने के तरीके या फिर जिन्दगी जीने के लिये जो मागदौल बाजारनुकुल है उसमें सबसे बडी भूमिका टेक्नोलॉजी या मीडिया की ही हो चली है। यानी कल तो हर वस्तु के साथ जो संबंध मनुष्य का बना हुआ था वह घटते-घटते मानव संसाधन को हाशिये पर ले आया है। यानी कोई संवाद किसी से बनाये बगैर सिर्फ टेक्नालॉजी के जरीये आपके घर तक पहुँच सकती है। चाहे सब्जी फल हो या टीवी-फ्रिज या फिर किताब खरीदना हो या कम्यूटर। रेलवे और हवाई जहाज के टिकट के लिये भी अब उफभोक्ताओं को किसी व्यक्ति के संपर्क में आने की कोई जरुरत है ही नहीं। सारे काम, सारी सुविधा की वस्तु, या जीने की जरुरत के सामान मोबाइल–कम्यूटर के जरीये अगर आपके घर तक पहुंच सकते है तो उपभोक्ता समाज के लिये मीडिया की जरुरत सामाजिक संकट, मानवीय मूल्यो से रुबरु होना या देश के हालात है क्या या किसी भी धटना विशेष को लेकर जानकारी तलब करना क्यों जरुरी होगा? खासकर भारत जैसे तीसरी दुनिया के देश में जहाँ उपभोक्ताओं की तादाद किसी भी यूरोप के देश से ज्यादा हो और दो जून के लिये संघर्ष करते लोगो की तादाद भी इतनी ज़्यादा हो कि यूरोप के कई देश उसमें समा जाये, तो पहला सवाल यही है कि समाज के भी की असमानता और ज्यादा बढे सके। इसके लिए मीडिया काम करेगा या दूरिया पाटने की दिशा में रिपोर्ट दिखायेगा। जाहिर है मीडिया भी पूंजी से विकसित होता माध्यम ही जब बना दिया गया है और असमानता की सबसे बडी वजह पूंजी कमाने के असमान तरीके ही सत्ता की नीतियों के जरीये विस्तार पा रहे हो तो रास्ता जायेगा किधर। लेकिन यह तर्क सतही है। असल सच यह है कि धीरे-धीरे मीडिया को भी उत्पाद में तब्दील किया गया। फिर मीडिया को भी एहसास कराया गया कि उत्पाद के लिये उपभोक्ता चाहिये। फिर उपभोक्ता को मीडिया के जरीये ही यह सियासी समझ दी गई कि विकास की जो रेखा राज्य सत्ता खिंचे वही आखरी सच है। ध्यान दें तो 1991 के बाद आर्थिक सुधार के तीन स्तर देश ने देखे। नरसिंह राव के दौर में सरकारी मीडिया के सामानांतर सरकारी मंच पर निजी मीडिया हाउस को जगह मिली। उसके बाद वाजपेयी के दौर में निजीकरण का विस्तार हुआ। यानी सरकारी कोटा या सब्सीडी भी खत्म हुई । सरकारी उपक्रम तक की उपयोगिता पर सवालिया निशान लगे। मनमोहन सिंह के दौर में बाजार को पूंजी के लिये पूरी तरह खोल दिया गया। यानी पूंजी ही बाजार का मानक बन गई और मोदी के दौर में पहली बार उस भारत को मुख्यधारा में लाने के लिये पूंजी और बाजार की खोज शुरु हुई जिस भारत को सरकारी पैकेज तले बीते ढाई दशक से हाशिये पर रखा गया था। पहली बार खुले तौर पर यह मान लिया गया कि 80 करोड भारतीयों को तभी कुछ दिया जा सकता है जब बाकी तीस करोड़ उपभोक्ताओं के लिये एक सुंदर और विकसित भारत बनाया जा सके। लेकिन इस सोच में यह कोई समझ नहीं पाया कि जब पूंजी ही विकास का रास्ता तय करेगी तो सत्ता कोई भी हो वह पूंजी पर ही निर्भर होगी और वह पूंजी कही से भी आये और सत्ता के पूंजी पर निर्भर होने का मतलब है वह तमाम आधार भी उसी पूंजी के मातहत खुद को ज्यादा सुरक्षित और मजबूत पायेगें जो चुनी हुई सत्ता के हाथ में नहीं बल्कि पूंजी के जरीये बाजार से मुनाफा बनाने के लिये देश की सीमा नहीं बल्कि सीमाहीन बाजार का खुलापन तलाशेगें। ध्यान दें तो मीडिया हाउसों की साख खबरों से इतर टर्न ओवर पर टिकी है। सेल्स या मार्केटिंग टीम न्यूज रुम पर भारी पडने लगी, तो संपादक भी मैनेजर से होते हुये पूंजी बनाने और जुगाड कराने से आगे निकलते हुये सत्ता से वसूली करते हुये खुद में ही सत्ता बनने के दरवाजे पर टिका। प्रोपराइटर का संपादक हो जाना। समाचार पत्र या न्यूज चैनल के लिये पूंजी का जुगाड करने वाले का संपादक हो जाना। यह सब 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले चलता रहा। लेकिन जिस तर्ज पर 2014 के लोकसभा चुनाव ने सत्ता के बहुआयामी व्यापार को खुल कर सामने रख दिया उसमें खबरो की दुनिया से जुडे पत्रकारो और मालिको को सामने पहली बार यह विकल्प उभरा कि वह सरकार की नीतियो को उसके जरीये बनाये जाने वाली व्यवस्था के साथ कैसे हो सकते है और राज्य के हालात खुद ब खुद उसे मदद दे देगा या फिर उसे खत्म कर देगा। यानी साथ खड़े हैं तो ठीक नहीं तो दुश्मन। यह हालात इसलिये पेड न्यूज से आगे आकर खडे हो गये क्योंकि चाहे अनचाहे अब राज्य को अपने मीडिया बजट का बंदर बाँट अपने साथ खड़े मीडिया हाउस में बाँटने के नहीं थे। बल्कि सत्ता की अकूत ताकत ने खबरों को परोसने के सलीके में भी सत्ता की खुशबू बिखरनी शुरु कर दी। सामाजिक तौर पर सत्ता मीडिया के साथ कैसे खड़ी होगी यह मीडिया के सत्ता के लिये काम करने के मिजाज पर आ टिका। दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी उन्हीं पत्रकारो के साथ डिनर करेगें जो उनकी चापलूसी में माहिर होगा और पटना में नीतिश कुमार उन्ही पत्रकारो को आगे बढाने में सहयोग देगें जो उनके गुणगाण करने से हिचकेगा नहीं। इसलिये कोई पत्रकार दिल्ली में मोदी हो गया तो कोई पत्रकार पटना में नीतिश कुमार और जो-जो पत्रकार सत्ता से खुले तौर पर जुडा नजर आया उसे लगा कि वह खुद में सत्ता है। यानी सबसे ताकतवर है। असर में बिहार चुनाव इस मायने में भी महत्वपूर्ण हो चला है कि पहली बार नायको की खोज से चुनाव जा जुडा है। यानी 1989 में लालू यादव मंडल के नायक बने तो 2010 में नीतिश सुशासन के नायक बने और 2014 के चुनाव में नरेन्द्र मोदी देश के विकास नायक बन कर उभरे। ध्यान दें तो इसके अलावे सिर्फ दिल्ली के चुनाव ने केजरीवाल के तौर पर नायक की छवि गढी। लेकिन केजरीवाल का नायककत्व पारंपरिक राजनीतिक को बदलने के लिये था ना कि नायक बन कर उसमें ढलने के लिये। लेकिन 2015 के आखिर में बिहार चुनाव की जीत हार में तय यही होना है कि विदेशी पूंजी और खुले बाजार व्यवस्था के जरीये भारत को बदलने वाला नायक चाहिये या फिर जातिय गठबंधन के आसरे सामाजिक न्याय की सोच को आगे बढाने वाला नायक चाहिये। जाहिर है बिहार जिस रास्ते पर जायेगा उसका असर देश की राजनीति पर पडेगा, क्योंकि चुनाव के केन्द्र में नरेन्द्र मोदी की नायक छवि है और दूसरी तरफ चकाचौंध नायकत्व को चुनौती देने वाले नीतिश – लालू है। यानी यही हालात यूपी में भी टकरायेगें। अगर बिहार लालू नीतिश का रास्ता चुनता है तो यकीन मानिये मुलायम-मायावती भी दुश्मनी छोड गद्दी के लिये साथ आ खडे होगें ही। यानी 2 जून 1995 का गेस्ट हाउस कांड एक याद भर रह जायेगा और इससे पहले जो थ्योरी गठबंधन के फार्मूले में फेल होती रही वह फार्मूला चल पडेगा। यानी दो बराबर की पार्टियों में गठबंधन। जाहिर है राजनीतिक बदलाव का असर मीडिया पर भी पडेगा। क्योंकि सत्ता के साथ वैचारिक तौर पर खड़े होकर पूंजी या मुनाफा बनाने से आगे खुद को सत्ता मानने की सोच को मान्यता मिले या सत्ता के सामाजिक सरोकार का ताना-बाना बुनते हुये कारपोरेट या पूंजी की सत्ता को ही चुनौती देनी वाली पत्रकारिता रहे। फैसला इसका भी होना है, लेकिन दोनो हालात छोटे घेरे में मीडिया को वैसे ही बड़ा कर रहे है जैसे अमेरिका में मड्रोक सत्ता को प्रभावित करने की स्थिति में है वैसे ही भारत में सत्ता के लिये मीडिया सबसे असरकारक हथियार बन चुका है। फर्क इतना ही है कि वहा पूंजी तय कर रही है और भारत में सत्ता की ताकत। - साभार - श्री पुण्य प्रसुन्न वाजपेयी जी 
  

" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE


Sunday, October 25, 2015

"अन्तर" !! मन की बात और दिमाग की बात का" तुम क्या जानो ?? - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक) मो. न. - 09414657511

कई लोग मन और दिल को एक ही मानते हैं , लेकिन मैं और मेरा सनातन धर्म एक नहीं मानते क्योंकि डाक्टर लोग दिल का तो ऑपरेशन कर सकते हैं लेकिन मन का ऑपरेशन नहीं ! दिल की फरमाइशें तो फिर भी जैसे-तैसे पूरी हो सकती हैं लेकिन मन की फरमाइशें अपार होती हैं !!दिल रहता तो हमारे शरीर में ही है , लेकिन हमारा मन कुछ सेकिंडों में ही लंदन-जापान घूम कर आ सकता है जी !! इन दोनों के इलावा एक हमारे शरीर में "दिमाग" नाम का भी पुर्ज़ा होता है जो हमारे शरीर के साथ-साथ हमें भी जीवन भर चलाता है ! कई लोग तो अपने दिल-दिमाग और मन तीनो के गुलाम होते हैं जी !और कुछ लोग सिर्फ दिमाग की बात ही मानते हैं ! ऐसे महापुरुषों को संत पुरुष कहते हैं जी जिन्होंने अपने मन को अपने काबू में कर रख्खा होता है !उनका मन कभी कुछ "अजब-गज़ब"करने को कहता भी है तो "योगी"पुरुष अपने मन को डांटते हैं और कहते हैं कि चल हट रे मन !! मई तेरे कहने पर नहीं चलना ! तो वो ही करना है जो मुझे मेरा दिमाग कहेगा ! समझे !!
                       आज कल हमारे मोदी जी बड़ी मन की बात भारत की जनता को सुना रहे हैं  ! उन्होंने तो अपनी तपस्या से अपने मन-दिमाग ओ दिल को "साध" रख्खा है जी !लेकिन वो हमें भी अच्छी बातें सुनाते रहते हैं ! अब तक वो 15 बार अपने मन की बात हम सबको सुना चुके हैं जी !लेकिन हम हैं कि कान से सुनते हैं और दुसरे कान से निकाल देते हैं ! क्योंकि वो अच्छी बातें जो होती हैं ! लेकिन अगर हमें कोई "बुरी" बात करने के लिए कहता है और उस बात के साथ हमें हमारे धर्म-इलाके और जाती का फायदा होना भी बता देता है, तो हम अपने देश का अच्छा-बुरा नहीं सोचते बस  !! उसके बताये गंदे रास्ते पर चलने लग जाते हैं !
                      जैसे देश के विभिन्न प्रांतों में आजकल कोई भीड़ कुछ भी कर गुजरने को आतुर नज़र आती है ! पूर्वोत्तर राज्यों में हिन्दुओं को भीड़ मार देती है तो काश्मीर में भीड़ ने उपद्रव करना , एक अपना साप्ताहिक कार्यक्रम ही बना लिया हो जैसे ! पंजाब में सिख्खों के सर से उग्रवादी होने का तमगा बड़ी मुश्किल से ही हटा था , लेकिन एक-दो घटनाएँ महान ग्रन्थ साहिब की बीड़ें जलने से दुःख का प्रकटवा नहीं हुआ बल्कि दंगा हुआ , पोलिस वाले ऐसे मारे गए जैसे वो पाकिस्तान से आये हों? ऐसे ही दादरी और हरियाणा में हुआ ! लोग अपने ही देश की सम्पत्ति को ऐसे नुक्सान पंहुचाते जैसे किसी दुश्मन देश की सम्पत्ति हो ! दुर्घटना तो दुखदायी होती है ! सबको डीएमए होता है उससे ,नज़दीकी को ज्यादा और दूर वाले को कम  ! ये प्रकृति का नियम है !
                   लेकिन देखने में आया है कि आजकल हमारे देश के "विशेष प्रकार के मीडिया व नेताओं" को "छोटी-छोटी"घटनाओं पर बड़ा-बड़ा दुःख होने लगा है !दुर्घटना घटने के फौरन बाद ये लोग पंहुच जाते हैं और पीड़ित पक्ष को अपने "मन की बात" बताते हैं कि कैसे इस घटना को तूल दिया जा सकता है !कैसे टीवी वालों के सामने बोलना है , रोना है आदि-आदि ! कैसे देश की सम्पत्ति को नुक्सान पंहुचाया जा सकता है और फिर कैसे पीड़ितों को हुड़दंग में नुकसान पंहुचने पर उन्हें "सरकारी-मुआवज़ा" दिलवाया जा सकता है ! अगले दिन अख़बार वाले अपना अखबार काला-कर लोगों की आँखों के सामने काला अँधेरा ला देते हैं !इस विशेष प्रकार के "मीडिया और नेताओं"के बयानों को ही उठाकर दुश्मन देश "मसलों"को यूनाइटेड-नेशन में ले जाते हैं , जिससे हमें पनि गर्दन झुकानी पड़ती है जी !
                     तो माननीय मोदी जी !! मन की बातों को छोड़िये !! दिमाग लगाइये!! अपना और अपने मंत्रियों का ! ताकि देश के अंदर विभिन्न रूपों में घूम रहे गद्दारों को काबू में लाया जा सके !!आपके मंत्री तो "बज़र-बट्टू" बने बैठे हैं ! प्रवक्ता आपके डायलॉग मारते फिरते हैं ! विपक्षियों के साथ मिले हुए हैं भाजपा और N.D.A.के आधे लोग !! दिमाग की सुनिए और दिमाग की  बताइये !क्योंकि सिर्फ आपके लिहाज़ पर ही देश आपके N.D.A.को समर्थन दे रहा है !! वो भी सिर्फ पांच वर्ष हेतु ! 
        *******८*८*जय  -  हिन्द *****८**८***
   आपसे मित्रता करके मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है ! आपके जनम दिन की आपको हार्दिक बधाई और शुभ कामनाएं !! कृपया स्वीकार करें ! आपका जीवन सदा खुशियों से भरा रहे !! मेरा फेसबुक,गूगल+,ब्लॉग,पेज और विभिन्न ग्रुपों की सदस्य्ता ग्रहण करने का एक ख़ास उद्देश्य है ! मैं एक लेखक-विश्लेषक और एक समीक्षक हूँ ! राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय ज्वलंत विषयों पर लिखना -पढ़ना मेरा शौक है ! मैं एक साधारण पढ़ालिखा और साफ़ स्वभाव का आदमी हूँ ! भारतीय संस्कृति और सनातन धर्म से प्यार करता हूँ ! भारत देश के लिए अगर मेरे प्राण काम आ सकें तो मैं इसे अपना सौभाग्य मानूंगा !परन्तु किसी संत-राजनितिक दल और नेता हेतु नहीं !मैं एक बिन्दास स्वभाव का आदमी हूँ ! मेरी मित्र मण्डली में मेरे बच्चे और रिश्तेदार भी शामिल हैं ! तो भी मैं सभी विषयों पर अपने खुले विचार रखता हूँ !! आप सब का हार्दिक स्वागत है मेरे जीवन में !! मैं आपकी यादों - बातों को संभल कर रखूँगा !!
मित्रो !! मैं अपने ब्लॉग , फेसबुक , पेज़,ग्रुप और गुगल+ को एक समाचार-पत्र की तरह से देखता हूँ !! आप भी मेरे ओर मेरे मित्रों की सभी पोस्टों को एक समाचार क़ी तरह से ही पढ़ा ओर देखा कीजिये !!
" 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " नामक ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) के पाठक मित्रों से एक विनम्र निवेदन - - - !!
आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) पर, जिसका नाम है - " 5TH PILLAR CORRUPTIONKILLER " कृपया इसे एक समाचार-पत्र की तरह ही पढ़ें - देखें और अपने सभी मित्रों को भी शेयर करें ! इसमें मेरे लेखों के इलावा मेरे प्रिय लेखक मित्रों के लेख भी प्रकाशित किये जाते हैं ! जो बड़े ही ज्ञान वर्धक और ज्वलंत - विषयों पर आधारित होते हैं ! इसमें चित्र भी ऐसे होते हैं जो आपको बेहद पसंद आएंगे ! इसमें सभी प्रकार के विषयों को शामिल किया जाता है जैसे - शेयरों-शायरी , मनोरंजक घटनाएँ आदि-आदि !! इसका लिंक ये है -www.pitamberduttsharma.blogspot.com.,ये समाचार पत्र आपको टविटर , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी मिल जाएगा ! ! अतः ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर इसे सब पढ़ें !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :-www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7. मेरा ई मेल पता ये है -: pitamberdutt.sharma@gmail.com.
जो अभी तलक मेरे मित्र नहीं बन पाये हैं , कृपया वो जल्दी से अपनी फ्रेंड-रिक्वेस्ट भेजें , क्योंकि मेरी आई डी तो ब्लाक रहती है ! आप सबका मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer " व इसी नाम से चल रहे पेज , गूगल+ और मेरी फेसबुक वाल पर हार्दिक स्वागत है !!
आप सब जो मेरे और मेरे मित्रों द्वारा , सम - सामयिक विषयों पर लिखे लेख , टिप्प्णियों ,कार्टूनो और आकर्षक , ज्ञानवर्धक व लुभावने समाचार पढ़ते हो , उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स और लाईक देते हो या मेरी पोस्ट को अपने मित्रों संग बांटने हेतु उसे शेयर करते हो , उसका मैं आप सबका बहुत आभारी हूँ !
आशा है आपका प्यार मुझे इसी तरह से मिलता रहेगा !!आपका क्या कहना है मित्रो ??अपने विचार अवश्य हमारे ब्लॉग पर लिखियेगा !!
सधन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।
मोबाईल नंबर-09414657511
" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG . READ,SHARE AND GIVE YOUR VELUABEL COMMENTS DAILY . !!
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh. (raj)INDIA.

Friday, October 23, 2015

भारत का "माहोल" क्यों,किसके लिए,कैसे,और कौन बिगाड़ रहा है ? "फायदा" किसको,कितना और कैसा होगा ? - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक) - मो. न. - 9414657511

अनजाने में गलती एक बार हो सकती है , दो बार हो सकती है , लेकिन हर बार जो हो ,वो गलती नहीं "योजना या षड्यंत्र" हो जाता है जी ! हमारे देश के कुछ पत्रकार,नेता,समाजसेवी,और लेखक ,सिर्फ और सिर्फ मोदी सरकार को हर अन्याय का जिम्मेदार बताने में लगे हुए हैं ! जी हाँ ! हम आज भारत में बिगड़ रहे माहोल की बात कर रहे हैं !जिसकी चिंता , भारत के "पक्षी,विपक्षी,आम जन,लेखक और पत्रकारों के इलावा विदेशी"तलक कर रहे हैं ! कई तो " घड़ियाली आंसू "तक बहा रहे हैं ! ऐसे लग रहा है जैसे उन सबके "अब्बु"अल्लाह को प्यारे हो गए हों ! 
                  हमारे मोदी सरकार के मंत्री तक चुप-चाप बैठे हैं ,जैसे दुबक कर बैठने से वो बच जायेंगे ?लगता है जैसे इनकी कोई "दुखती-रग" कांग्रेस के नेताओं के हाथ में है ?नए बने नेताओं से पहले " घुमा-फिरा "कर प्रश्न पूछना , फिर कोई "प्वॉइंट"ढूँढ कर विरोधी नेतओं से भड़कीले बयान लेना ,फिर उस पर बहस करना और दिनभर रीपीट करना क्या दोष पूर्ण पत्रकारिता नहीं है ?वो ही अगले दिन समाचार-पत्रों की हेड़लाईन बनना, दुश्मन देशों को भी विरोध करने के अवसर प्रदान करता है !तो क्या ये देश के साथ गद्दारी करने का कार्य नहीं हुआ ??
                         इस गंदे खेल का दोषी कौन है ? मोहरे कौन-कौन हैं ??और खिलाड़ी कौन-कौन हैं ??अगर सरकार ऐसे लोगों को दण्ड नहीं दे सकती , तो न्यायालय को स्वयं संज्ञान लेकर ,दोषियों को सज़ा देनी चहिये !सरकार तो आरक्षण की समीक्षा करने से ही डर गयी ??अगर ये सब चुनावों के कारण हो रहा है तो चुनाव आयोग को उन सभी दलों की मान्यता रद्द कर देनी चाहिए,जिस राजनितिक दल के नेता माहोल बिगाड़ रहे हैं  ! जनता को जागरूक रहना होगा !क्यंकि आखिर में जनता को अगर "न्याय"करना पड़ा तो उसका तो अपना तरीका है जी !वो तो कर ही देगी !44 पर तो पंहुचा ही दिया है जनता ने ?लेकिन N.D.A.और भाजपा में बैठे "हिजड़ों"का इलाज तो मोदी जी और अमित-शाह जी को ही करना पड़ेगा !! जय-हिन्द !!
              " आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE





Monday, October 19, 2015

रावण जी की " गैस ट्रबल "!!ऐसे दूर हुई !! आप भी पढ़ें मित्रो !!- पीताम्बर दत्त शर्मा का निवेदन !

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज हमारे बड़े भाई श्री नीरज चतुर्वेदी जी ने हमें रामायण से जुड़ा एक 'आधुनिक' प्रसंग सुनाया ... वही आप सब को पढ़वा रहा हूँ |

"रावण का चमत्कार या राम नाम का...पावर...??"
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~


श्री राम के नाम से पत्थरो के तैरने की 'न्यूज़' जब लंका पहुँची, तब वहाँ की 'पब्लिक' ने सोशल मीडिया मे  काफी 'गौसिप' किया कि भैया जिसके नाम से ही पत्थर तैरने लगें, वो आदमी क्या गज़ब होगा।

इस तरह की बेकार की अफ़वाहों से परेशान रावण ने तैश में आकर घोषणा करवा दी कि कल 'रावण' के नाम लिखे हुए पत्थर भी पानी में तिराये जायेंगे। और अगले दिन लंका में सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया गया।

निश्चित दिन और समय पर सारी जनता रावण का चमत्कार देखने पहुँच गयी। उचित समय पर रावण भी अपने भाई - बँधुओं , पत्नियों तथा 'स्टाफ' के साथ वहाँ पहुँचे और एक भारी से पत्थर पर उनका नाम लिखा गया।

मजदूर लोगों ने पत्थर उठाया और उसे समुद्र में डाल दिया -- पत्थर सीधा पानी के अंदर !
सारी पब्लिक इस सब को साँस रोके देख रहे थी जबकी रावण लगातार मन ही मन में मँत्रोच्चारण कर रहे थे।
अचानक, पत्थर वापस पानी के ऊपर आया और तैरने लगा। पब्लिक तो पागल हो गयी , और 'लँकेश की जय' के कानफोड़ू नारों ने आसमान को गुँजायमान कर दिया। एक पब्लिक सेलिब्रेशन के बाद रावण अपने लाव लश्कर के साथ वापस अपने महल चले गये और लंका की पब्लिक को भरोसा हो गया कि ये राम तो बस ऐसे ही हैं पत्थर तो हमारे महाराज रावण के नाम से भी तिरते हैं।

पर उसी रात को मँदोदरी ने नोटिस किया कि रावण बैड में लेटे हुए बस सीलिंग को घूरे जा रहे थे।

“ क्या हुआ स्वामी ? फिर से एसिडिटी के कारण नींद नहीं आ रही क्या ?” इनो दराज मे पडी है ले कर आऊँ ? - मँदोदरी ने पूछा।
“ मँदु ! रहने दो , आज तो इज़्ज़त बस लुटते लुटते बच गयी। आइन्दा से ऐसे एक्सपरिमेंट नहीं करूंगा। " सीलिंग को लगातार घूर रहे रावण ने जवाब दिया।
मँदोदरी चौंक कर उठी और बोली , “ऐसा क्या हो गया स्वामी ?”

रावण ने अपने सर के नीचे से हाथ निकाला और छाती पर रखा , “ वो आज सुबह याद है पत्थर तैरा था ?”
मँदोदरी ने एक स्माइल के साथ हाँ मे सर हिलाया।

“ पत्थर जब पानी में नीचे गया था , उसके साथ साथ मेरी साँस भी नीचे चली गयी थी।" रावण ने कहा।

इस पर कन्फूज़ मँदोदरी ने कहा, “ पर पत्थर वापस ऊपर भी तो आ गया था ना। वैसे ऐसा कौन सा मँत्र पढ़ रहे थे आप जिस से पानी में नीचे गया पत्थर वापस आकर तैरने लगा ?”

इस पर रावण ने एक लम्बी साँस ली और बोले, “ मँत्र-वँत्र कुछ नहीं पढ़ रहा था बल्कि बार बार बोल रहा था कि ... 'हे पत्थर ! तुझे राम की कसम, प्लीज डूबियो मत भाई !!"

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
.
तो भैया राम नाम मेँ है दम !!
बोलो
जय श्री राम !!
सादर आपका
शिवम् मिश्रा
साभार !लिया गया है जी !!
" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE


Sunday, October 18, 2015

"चैन से हमको कभी,तुमने सोने ना दिया नेता जी " !!- पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)मो. न. - 9414657511 .

फिल्म में इस तरह के एक गीत को एक हीरोइन ने गाया था ! जिसके अंदर उसकी विरह और उसका प्यार झलकता था !वो अभिनय इतना बढ़िया था कि दर्शक को भी यही लगता था कि उसकी ही भावना को प्रकट किया जा रहा है !इसी तरह का एक वक्तव्य हमारी दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल जी ने दिया !उन्होंने ने कहा कि "मैं प्रधानमंत्री मोदी जी को चैन से सोने नहीं दूंगा अगर उन्होंने हमें दिल्ली का पोलिस डिपार्टमेंट नहीं सौपा तो " !उनके इस कथन में भी एक विशेष तरह की दुश्मनी झलक रही थी,जैसे गुड में ज़हर मिला हो !
          आखिर क्यों चाहिए उनको दिल्ली का पोलिस-विभाग ??क्या बाकी सारे विभाग सही चल रहे हैं ??नहीं !!दरअसल में दिल्ली पोलिस के कुछ लोगों से उन्होंने बदला लेना है ! क्योंकि जब वो आंदोलन रत थे तो उन्हें बहुत 'घसीटा"गया था,शायद इसीलिए उन्हें पोलिस विभाग चाहिए ही चाहिए !उन्होंने ये भी कहा कि वो शीला दीक्षित जैसे नहीं हैं !वैसे तो मोदी जी के कार्यकाल शुरू होते वक़्त शीला जी मुख्यमंत्री थीं ही नहीं !तो उनसे तुलना कैसी ?वैसे तो केजरीवाल जी के हर बयान से उदण्डता-शरारत और षड्यंत्र नज़र आता ही है लेकिन इस बार ज़रा ज्यादा ही बोल गए हैं !क्योंकि अगर मोदी जी के प्रशंसकों को ये एहसास हो गया कि केजरीवाल ने जिनसे चंदा लिया है ,उनके इशारों पर ये सब कर रहे हैं तो वो सब मिलकर "आप"को भी "आराम"नहीं लेने देंगे
! ये तो पक्की बात है जी !

            बात चाहे महल्ले की हो उन्होंने उसमें घसीटना मोदी जी को ही है तो फिर ठीक है जी !! हो जाएँ दो-दो हाथ !मैं कहता हूँ कि वो ही ऐसी भयानक वारदातें पहले करवातें हैं फिर ऐसे ब्यान देकर सरकारी धन बाँटते हैं और देश का वातावरण बिगाड़ते हैं !पंजाब का किसान आंदोलन हो या गुजरात का हार्दिक पटेल हो सब इनकी पैदाइश हैं जी ! क्योंकि ये छिपे हुए वाम-पंथी हैं जी ! एक न एक दिन ये सच उजागर होगा जी ! "आप"देख लेना जी !!     " इन्टरनेट सोशियल मीडिया ब्लॉग प्रेस "" फिफ्थ पिल्लर - कारप्शन किल्लर "- आपका अपना ऑन - लाईन समाचार-पत्र !! रोज़ाना पढ़िए , मित्रों संग शेयर कीजिये और अपने अनमोल कॉमेंट भी अवश्य लिखिए !!
प्रिय मित्र,सादर नमस्कार !!
आपसे मित्रता करके मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है ! आपके जनम दिन की आपको हार्दिक बधाई और शुभ कामनाएं !! कृपया स्वीकार करें ! आपका जीवन सदा खुशियों से भरा रहे !! मेरा फेसबुक,गूगल+,ब्लॉग,पेज और विभिन्न ग्रुपों की सदस्य्ता ग्रहण करने का एक ख़ास उद्देश्य है ! मैं एक लेखक-विश्लेषक और एक समीक्षक हूँ ! राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय ज्वलंत विषयों पर लिखना -पढ़ना मेरा शौक है ! मैं एक साधारण पढ़ालिखा और साफ़ स्वभाव का आदमी हूँ ! भारतीय संस्कृति और सनातन धर्म से प्यार करता हूँ ! भारत देश के लिए अगर मेरे प्राण काम आ सकें तो मैं इसे अपना सौभाग्य मानूंगा !परन्तु किसी संत-राजनितिक दल और नेता हेतु नहीं !मैं एक बिन्दास स्वभाव का आदमी हूँ ! मेरी मित्र मण्डली में मेरे बच्चे और रिश्तेदार भी शामिल हैं ! तो भी मैं सभी विषयों पर अपने खुले विचार रखता हूँ !! आप सब का हार्दिक स्वागत है मेरे जीवन में !! मैं आपकी यादों - बातों को संभल कर रखूँगा !!
मित्रो !! मैं अपने ब्लॉग , फेसबुक , पेज़,ग्रुप और गुगल+ को एक समाचार-पत्र की तरह से देखता हूँ !! आप भी मेरे ओर मेरे मित्रों की सभी पोस्टों को एक समाचार क़ी तरह से ही पढ़ा ओर देखा कीजिये !!
" 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " नामक ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) के पाठक मित्रों से एक विनम्र निवेदन - - - !!
आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) पर, जिसका नाम है - " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " कृपया इसे एक समाचार-पत्र की तरह ही पढ़ें - देखें और अपने सभी मित्रों को भी शेयर करें ! इसमें मेरे लेखों के इलावा मेरे प्रिय लेखक मित्रों के लेख भी प्रकाशित किये जाते हैं ! जो बड़े ही ज्ञान वर्धक और ज्वलंत - विषयों पर आधारित होते हैं ! इसमें चित्र भी ऐसे होते हैं जो आपको बेहद पसंद आएंगे ! इसमें सभी प्रकार के विषयों को शामिल किया जाता है जैसे - शेयरों-शायरी , मनोरंजक घटनाएँ आदि-आदि !! इसका लिंक ये है - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , ये समाचार पत्र आपको टविटर , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी मिल जाएगा ! ! अतः ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर इसे सब पढ़ें !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7. मेरा ई मेल पता ये है -: pitamberdutt.sharma@gmail.com.
जो अभी तलक मेरे मित्र नहीं बन पाये हैं , कृपया वो जल्दी से अपनी फ्रेंड-रिक्वेस्ट भेजें , क्योंकि मेरी आई डी तो ब्लाक रहती है ! आप सबका मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer " व इसी नाम से चल रहे पेज , गूगल+ और मेरी फेसबुक वाल पर हार्दिक स्वागत है !!
आप सब जो मेरे और मेरे मित्रों द्वारा , सम - सामयिक विषयों पर लिखे लेख , टिप्प्णियों ,कार्टूनो और आकर्षक , ज्ञानवर्धक व लुभावने समाचार पढ़ते हो , उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स और लाईक देते हो या मेरी पोस्ट को अपने मित्रों संग बांटने हेतु उसे शेयर करते हो , उसका मैं आप सबका बहुत आभारी हूँ !

" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE


                   

Friday, October 16, 2015

हिन्दुस्तान में हिन्दुओं के सभी छोटे-बड़े त्योहारों को केंद्र एवं राज्य स्तर पर सरकारी स्थानों में मनाया जाना आवश्यक किया जाए ! - पीताम्बर दत्त शर्मा ( लेखक-विश्लेषक) मो. न. - 9414657511

   भारत को आजाद हुए ६५ वर्ष हो गए हैं लेकिन आज तक हमें अपने त्यौहार सरकारी स्तर पर मनाने की आजादी नहीं है ! केवल आजादी के दो त्योहारों से ही हम अपनी देश भक्ति तो दिखा पाते हैं लेकिन हमारी संस्कृति क्या है क्यों है और किसके लिए है, ये हमने आज तलक विश्व को आधिकारिक तौर पर नहीं बताया है ! क्यों हम ऐसा नहीं कर पाये ? क्यों ये आवश्यक नहीं समझा गया ? हिन्दुस्तान हिन्दुओं का था , हिन्दुओं का है और हिन्दुओं का रहेगा !! मानवीयता , आत्मीयता और सर्व धर्म समभाव हमें किसी से सिखने जाने की आवश्यकता नहीं बल्कि विश्व को हमने सिखाया है कि "बंदर"से  आदमी कैसे बना जाता है !
                    फिर भी अमेरिका अपने आपको विश्व में "जगत गुरु" सिद्ध करने की असफल कोशिश करता रहता है ! उसकी ये गुंडा गर्दी चलने देने में उसके क़र्ज़ तले दबे चंद यूरोपीय देश और अन्य देशों में विभिन्न रूपों में छिपे बैठे उसके एजेंट मदद करते और करवाते हैं ! ऐसे ही कई एजेंट भारत में भी विराजमान हैं ! जिन्होंने पिछले पंद्रह महीनो से मोदी सरकार और भारत के खिलाफ इतना ज़हर उगला है कि अमेरिका को एक हथियार भारत के खिलाफ मिल गया है ! वो काम कितना आ पायेगा ,ये अलग बात है ! लेकिन विदेशी एजेंटों ने कोई कसर नहीं छोड़ी है मित्रो ! धिक्कार है ऐसे लोगों पर जो गद्दारों जैसे काम करते हैं और रोटी भारत माता की खाते हैं !
                  जमाखोरी, भ्रष्टाचार और नक़ली मुद्रा चलना भी इन्ही लोगों का काम है !साहित्यक पुरूस्कार  भी इसी श्रेणी के लोग हैं ! कई लोग अनजाने में भी ऐसे लोगों के चुंगल में फंस जाते हैं ! हम सबको सजग रहने की आवश्यकता है !और सरकार को तो युद्ध जैसी स्थिति में ही रहना चाहिए हमेशां !युवाओं को नशे, गंदे साहित्य और बुरे नाटक-फ़िल्में दिखाकर खराब कर देना भी देश-द्रोह में आना चाहिए ! कानून में संशोधन करके ऐसे कृत्यों को रोका जाना चाहिए ! जागो सरकार जागो !! मंत्रियो !! आप भी कुछ काम करलो !!!!!!!!!!!!!!!!!!!! 
                       मोदी जी ने "योग-दिवस"मनाकर इस का इशारा तो कर दिया कि अब वो आदमी प्रधानमंत्री बन गया है जो भारतीयता हेतु भी काम करेगा ! लेकिन ऐसे टांग खींचने वाले अपने ही आदमी हमें आगे नहीं बढ़ने देते मित्रो ! मुगल हमारे देश में लूटेरे बनकर आये हम पर शासन किया , अत्याचार भी किया ! हमने उन्हें ८०० सालों तक झेला ! हमारी कई जातियां डर से मुसलमान बन गयीं और आज वही हमारे भाई हमारे ही खिलाफ खड़े हो जाते हैं ! अँगरेज़ व्यापारी बनकर आये ३०० साल राज किया जाते-जाते अपने चेलों को शासन सौंप गए , दुनिया को झूठ बोला गया कि हम आजाद हो गए ! लेकिन सच ये है कि आज भी हिन्दू अपने ही देश में "झूठे-सेकुलरवाद "की जंजीरों में जकड़ा हुआ है !आज भी हिन्दू के निर्णय ऐसे लोग लेते हैं जो विदेशी आकाओं के खुद गुलाम हैं ! 
                             मोदी जी ! मत प्रतीक्षा करो १० -१५ वर्षों तक शासन करने की ,लागू कर दो हिन्दू हित के निर्णय ! बाकी जनता संभाल लेगी ! जय-हिन्द !!
                       " इन्टरनेट सोशियल मीडिया ब्लॉग प्रेस "" फिफ्थ पिल्लर - कारप्शन किल्लर "- आपका अपना ऑन - लाईन समाचार-पत्र !! रोज़ाना पढ़िए , मित्रों संग शेयर कीजिये और अपने अनमोल कॉमेंट भी अवश्य लिखिए !!
प्रिय मित्र,सादर नमस्कार !!
आपसे मित्रता करके मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है ! आपके जनम दिन की आपको हार्दिक बधाई और शुभ कामनाएं !! कृपया स्वीकार करें ! आपका जीवन सदा खुशियों से भरा रहे !! मेरा फेसबुक,गूगल+,ब्लॉग,पेज और विभिन्न ग्रुपों की सदस्य्ता ग्रहण करने का एक ख़ास उद्देश्य है ! मैं एक लेखक-विश्लेषक और एक समीक्षक हूँ ! राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय ज्वलंत विषयों पर लिखना -पढ़ना मेरा शौक है ! मैं एक साधारण पढ़ालिखा और साफ़ स्वभाव का आदमी हूँ ! भारतीय संस्कृति और सनातन धर्म से प्यार करता हूँ ! भारत देश के लिए अगर मेरे प्राण काम आ सकें तो मैं इसे अपना सौभाग्य मानूंगा !परन्तु किसी संत-राजनितिक दल और नेता हेतु नहीं !मैं एक बिन्दास स्वभाव का आदमी हूँ ! मेरी मित्र मण्डली में मेरे बच्चे और रिश्तेदार भी शामिल हैं ! तो भी मैं सभी विषयों पर अपने खुले विचार रखता हूँ !! आप सब का हार्दिक स्वागत है मेरे जीवन में !! मैं आपकी यादों - बातों को संभल कर रखूँगा !!
मित्रो !! मैं अपने ब्लॉग , फेसबुक , पेज़,ग्रुप और गुगल+ को एक समाचार-पत्र की तरह से देखता हूँ !! आप भी मेरे ओर मेरे मित्रों की सभी पोस्टों को एक समाचार क़ी तरह से ही पढ़ा ओर देखा कीजिये !!
" 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " नामक ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) के पाठक मित्रों से एक विनम्र निवेदन - - - !!
आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) पर, जिसका नाम है - " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " कृपया इसे एक समाचार-पत्र की तरह ही पढ़ें - देखें और अपने सभी मित्रों को भी शेयर करें ! इसमें मेरे लेखों के इलावा मेरे प्रिय लेखक मित्रों के लेख भी प्रकाशित किये जाते हैं ! जो बड़े ही ज्ञान वर्धक और ज्वलंत - विषयों पर आधारित होते हैं ! इसमें चित्र भी ऐसे होते हैं जो आपको बेहद पसंद आएंगे ! इसमें सभी प्रकार के विषयों को शामिल किया जाता है जैसे - शेयरों-शायरी , मनोरंजक घटनाएँ आदि-आदि !! इसका लिंक ये है - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , ये समाचार पत्र आपको टविटर , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी मिल जाएगा ! ! अतः ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर इसे सब पढ़ें !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7. मेरा ई मेल पता ये है -: pitamberdutt.sharma@gmail.com.
जो अभी तलक मेरे मित्र नहीं बन पाये हैं , कृपया वो जल्दी से अपनी फ्रेंड-रिक्वेस्ट भेजें , क्योंकि मेरी आई डी तो ब्लाक रहती है ! आप सबका मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer " व इसी नाम से चल रहे पेज , गूगल+ और मेरी फेसबुक वाल पर हार्दिक स्वागत है !!
आप सब जो मेरे और मेरे मित्रों द्वारा , सम - सामयिक विषयों पर लिखे लेख , टिप्प्णियों ,कार्टूनो और आकर्षक , ज्ञानवर्धक व लुभावने समाचार पढ़ते हो , उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स और लाईक देते हो या मेरी पोस्ट को अपने मित्रों संग बांटने हेतु उसे शेयर करते हो , उसका मैं आप सबका बहुत आभारी हूँ !

" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,SuraTGARH



Wednesday, October 14, 2015

My thoughts My writings: विरोध का ये कैसा तरीकादादरी कांड और गुलाम अली का क...

My thoughts My writings: विरोध का ये कैसा तरीकादादरी कांड और गुलाम अली का क...: विरोध का ये कैसा तरीका दादरी कांड और गुलाम अली का कंसर्ट रोके जाने और इस जैसी अन्य घटनाओं का एक छत्र विरोध सह रहे प्रधानमंत्री नरेंद्...

देश-प्रेम से जुड़े लेखको-साहित्यकारो !!जोर से जवाब दो इन पुरुस्कार लौटाने वाले वामपंथी फासीवादीयों को !!- पिताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक) मो. न. - 9414657511.

   कांग्रेस और उसके "माल"पर पलने वाले नेता,लेखक,पत्रकार साहित्यकार,इतिहासविद,अफसर और शिक्षाविद मित्रो ! आप सबको एक निवेदन है कि जनता ने आपको 2014 के लोकसभा चुनावों में नापसन्द घोषित कर दिया है !कृपया अब आप भारत देश पर एक एहसान कीजिये ! ना तो पूर्व की तरह जगह-जगह लड़ाई-झगड़े-फसाद करवाओ और ना ही ये पुरुस्कार लौटाने जैसे नाटक कीजिए ! जनता आपके सारे खेल जान चुकी है ! पिछले 13 वर्षों से आप लोग जितना मोदी जी का विरोध करते हो जनता उनकी पार्टी को उतना ही ज्यादा चुनाव जितवा रही है !लेकिन आप सबको फिर भी समझ नहीं आ रहा है ! मोदी जी के प्रभाव से पूरा विश्व रंग गया है ! तो आप 10 साल शान्ति से बैठकर उचित मुद्दों पर जायज़ विरोध क्यों नहीं करते हो ?? क्यों रोज़ाना कोई नया षड्यंत्र घड़ कर आ जाते हो ?सत्ता पाने की इतनी ललक और हड़बड़ाहट क्यों???
               पहले तो भाजपा के पास सत्ता नहीं थी तो उनके समर्थक लेखक-कर्मचारी-साहित्यकार नहीं थे अब तो उनके समर्थक भी बनने लगे हैं तो पोलपट्टी तो खुलेगी न !इसलिए शांत हो जाओ और उचित समय का इंतज़ार करो !"अच्छे दिन आएंगे " की माला जपते रहो जी आप तो बस !ऐसा कोई विशेष हुआ भी तो नहीं यारो !केजरीवाल तो ऐसे ही राई का पहाड़ बनाकर 10 - 20 लाख दिल्ली सरकार के खर्चने का जुगाड़ बना लेता है,अपना और अपनी पार्टी को चला लेता है ! हरिओम !! कहके लम्बा सा डकार मार देता ही और माल हजम -पैसा खत्म और खेल भी खत्म !
            ये चेनेल वाले भी आधे से ज्यादा भारत की ख़बरें दिखाते ही नहीं !10 प्रदेशों के  मुख्यमंत्रियों के क्रिया- कलाप बताते ही नहीं क्यों ? क्यों ये सिर्फ वही समाचार दिखाते और समझते हैं जिनसे भारत में अल्पसंख्यक भड़कें,हिन्दू बदनाम हों और विश्व के अन्य देशों को ऊँगली उठाने का अवसर मिल सके !कांग्रेस और उसके पिच्छलग्गुओं का ये अल्पसंख्यक प्रेम भी नक़ली है ! क्योंकि 65 वर्षो के शासन में हमारे देश के ना तो अल्पसंख्यकों की और ना ही शोषित जातियों की हालत में कोई सुधार आ पाया है ! 
इसलिए चलने दो कुछ वर्ष मोदी जी को भी सरकार ! देखो क्या होता है 5 - 10 वर्षों में बदलाव ?? 
                      हे छद्म-सेकुलरो !! अभी तो आप माफ़ ही करो हमें ! जय हिन्द !!
                                 " इन्टरनेट सोशियल मीडिया ब्लॉग प्रेस "" फिफ्थ पिल्लर - कारप्शन किल्लर "- आपका अपना ऑन - लाईन समाचार-पत्र !! रोज़ाना पढ़िए , मित्रों संग शेयर कीजिये और अपने अनमोल कॉमेंट भी अवश्य लिखिए !!
प्रिय मित्र,सादर नमस्कार !!
आपसे मित्रता करके मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है ! आपके जनम दिन की आपको हार्दिक बधाई और शुभ कामनाएं !! कृपया स्वीकार करें ! आपका जीवन सदा खुशियों से भरा रहे !! मेरा फेसबुक,गूगल+,ब्लॉग,पेज और विभिन्न ग्रुपों की सदस्य्ता ग्रहण करने का एक ख़ास उद्देश्य है ! मैं एक लेखक-विश्लेषक और एक समीक्षक हूँ ! राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय ज्वलंत विषयों पर लिखना -पढ़ना मेरा शौक है ! मैं एक साधारण पढ़ालिखा और साफ़ स्वभाव का आदमी हूँ ! भारतीय संस्कृति और सनातन धर्म से प्यार करता हूँ ! भारत देश के लिए अगर मेरे प्राण काम आ सकें तो मैं इसे अपना सौभाग्य मानूंगा !परन्तु किसी संत-राजनितिक दल और नेता हेतु नहीं !मैं एक बिन्दास स्वभाव का आदमी हूँ ! मेरी मित्र मण्डली में मेरे बच्चे और रिश्तेदार भी शामिल हैं ! तो भी मैं सभी विषयों पर अपने खुले विचार रखता हूँ !! आप सब का हार्दिक स्वागत है मेरे जीवन में !! मैं आपकी यादों - बातों को संभल कर रखूँगा !!
मित्रो !! मैं अपने ब्लॉग , फेसबुक , पेज़,ग्रुप और गुगल+ को एक समाचार-पत्र की तरह से देखता हूँ !! आप भी मेरे ओर मेरे मित्रों की सभी पोस्टों को एक समाचार क़ी तरह से ही पढ़ा ओर देखा कीजिये !!
" 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " नामक ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) के पाठक मित्रों से एक विनम्र निवेदन - - - !!
आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग ( समाचार-पत्र ) पर, जिसका नाम है - " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " कृपया इसे एक समाचार-पत्र की तरह ही पढ़ें - देखें और अपने सभी मित्रों को भी शेयर करें ! इसमें मेरे लेखों के इलावा मेरे प्रिय लेखक मित्रों के लेख भी प्रकाशित किये जाते हैं ! जो बड़े ही ज्ञान वर्धक और ज्वलंत - विषयों पर आधारित होते हैं ! इसमें चित्र भी ऐसे होते हैं जो आपको बेहद पसंद आएंगे ! इसमें सभी प्रकार के विषयों को शामिल किया जाता है जैसे - शेयरों-शायरी , मनोरंजक घटनाएँ आदि-आदि !! इसका लिंक ये है -www.pitamberduttsharma.blogspot.com.,ये समाचार पत्र आपको टविटर , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी मिल जाएगा ! ! अतः ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर इसे सब पढ़ें !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :-www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7. मेरा ई मेल पता ये है -: pitamberdutt.sharma@gmail.com.
जो अभी तलक मेरे मित्र नहीं बन पाये हैं , कृपया वो जल्दी से अपनी फ्रेंड-रिक्वेस्ट भेजें , क्योंकि मेरी आई डी तो ब्लाक रहती है ! आप सबका मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer " व इसी नाम से चल रहे पेज , गूगल+ और मेरी फेसबुक वाल पर हार्दिक स्वागत है !!
आप सब जो मेरे और मेरे मित्रों द्वारा , सम - सामयिक विषयों पर लिखे लेख , टिप्प्णियों ,कार्टूनो और आकर्षक , ज्ञानवर्धक व लुभावने समाचार पढ़ते हो , उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स और लाईक देते हो या मेरी पोस्ट को अपने मित्रों संग बांटने हेतु उसे शेयर करते हो , उसका मैं आप सबका बहुत आभारी हूँ !

" आकर्षक - समाचार ,लुभावने समाचार " आप भी पढ़िए और मित्रों को भी पढ़ाइये .....!!!
BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .  प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,SuraTGARH




"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...