Saturday, July 9, 2016

"हृदय - परिवर्तन""दुर्योधन और ओवेसी"का,क्यों-कैसे और किसके लिए ? - पीतांबर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक) मो.न. - +9414657511

 मित्रो ! सोनी टीवी चैनल पर आजकल  सीरियल चल रहा है , जिसका नाम है "सूर्यपुत्र कर्ण"!जिसमे कर्ण की मृत्यु का प्रसंग चल रहा है !उसमे दुर्योधन कर्ण की मृत्यू पर द्रवित होकर "श्मशान वैराग्य"से ग्रसित होकर सभी पांडवों,वैद्यों और द्रोपदी से गुहार लगाता है कि आप सब मेरा चाहे जो हश्र कर दो ! चाहे मेरा सारा राज्य ले लो ! मुझे माफ़ कर दो !लेकिन मेरे मित्र और तुम्हारे बड़े भाई को मृत्यु के मुंह से बचालो !उसकी इस वेदना को सच्चा समझकर पांडव समझौता करने को राज़ी भी हो जाते हैं !लेकिन भगवान कृष्ण पांडवों को याद दिलाते हैं कि इसका ये पारिवारिक प्रेम उस दिन कहाँ था जब अभिमन्यु को ये सब मिलकर मार रहे थे !इसलिए इस पर विश्वास ना करो और "धर्म-युद्ध" को जारी रख्खो पांडवो !
                     ठीक उसी तरह "असदुद्दीन ओवेसी" साहिब को आज आतंकवाद बुरा दिखाई पड़ रहा है !isis "कुत्ता"नज़र आ रहा है !बेसहारा लड़कियां और अशिक्षा नज़र आ रही है !मरने के बजाये मुस्लिम नोजवानो को "जीने की राह"बताई जा रही है !किसी "पँहुचे"हुए "फ़क़ीर"की तरह अमन की बातें कर रहे हैं !भोले-भले लोग हो सकता है उनके इन झूठे "जुमलों"में भक जाएँ !लेकिन मैं अपने लेखन से आप सबको चेताना चाहता हूँ कि ऐसे हज़ारों झूठे देश भक्तों से होशियार रहना होगा हम सब भारत वासियों को !! गली, मोहल्लों,कस्बों और छोटे शहरों के अनपढ़ गँवार मोलवियों और मौलानाओं ने तो अनजाने में कभी उग्रवाद या आतंकवादियों का समर्थन ऐसे लोगों के बहकावे में आकर कर दिया होगा !वो लोग इतने दोषी नहीं हैं जबकि नुक्सान उनकी वजह से भी बहुत हुआ है हिंदुस्तान को ! लेकिन असली भारत के दुश्मन ये पढ़े-लिखे"ज़ाकिर नाईक"जैसे मुस्लिम धर्म गुरु, महेश भट्ट जैसे फिल्मकार , रविश कुमार जैसे पत्रकार और द्विग्विज्य सिंह जैसे नेता हैं जो समझते हुए उग्रवाद को समर्थन करते हैं और बड़ी चालाकी से उनको बहके हुए नौजवान और पीड़ित समुदाय बताते हैं ! 
                          अब ये जानने की कोशिश करते हैं की ओवेसी ने ये "मधुर"बयान दिया तो क्यों दिया ?मुझे तो इसके पीछे एक ही कारण नज़र आ रहा है मित्रो ! वो ये है कि काश्मीर में रोज़ाना कोई ना कोई आतंकवादी मारा जा रहा है ! मोदी सरकार की आतंकवादियों से लड़ने की विशेष रणनीति से कुछ ऐसा "बड़ा झटका "ओवेसी को लगा है जिससे ये श्मशान वैराग्य उतपन्न हुआ है ! लेकिन जनता ओवेसी जैसे लोगों के झांसे में नहीं आएगी !मोदी  काम करने के तरीके को देखते हुए उन्हें अपना समर्थन देती रहेगी !झूठे सेकुलर नेताओं,राजनितिक दलों और बिकाऊ पत्रकारों के झांसे में भारत की जनता कभी नहीं आएगी !
         जय - हिन्द !! जय भारत ! वन्दे मातरम !
प्रिय मित्रो !सादर नमस्कार !कुशलता के आदान-प्रदान पश्चात जिन भी मित्रों का आज जन्म-दिन या विवाह दिवस है , उनको मेरी तरफ से हार्दिक बधाई और शुभ कामनाएं !आप अपने ब्लॉग "फिफ्थ पिल्लर करप्शन किल्लर"को बहुत पसंद कर रहे हैं,रोज़ाना इसमें प्रकाशित लेखों को पढ़ कर शेयर करते हैं ,उन पर अपने अनमोल कॉमेंट्स भी देते हैं !उस सब के लिए भी आपका हार्दिक आभार प्रस्तुत करता हूँ !इस ब्लॉग का लिंक ये है - www.pitamberduttsharma.blogspot.com 
मेरा e -mail ऐड्रेस ये है - 
pitamberdutt.sharma@gmail.com
मेरा मोबाईल नंबर ये है - +9414657511 . 
कृपया इसी तरह इस ब्लॉग को मेरे गूगल+,पेज,विभिन्न ग्रुप ,ट्वीटर और फेस बुक पर पढ़ते रहें , शेयर और कॉमेंट्स भी करते रहें क्योंकि ये ही मेरे लिए "ऑक्सीजन"का काम करती है ! धन्यवाद !आपका अपना - पीतांबर दत्त शर्मा !



3 comments:

  1. सुन्दर व सार्थक रचना प्रस्तुतिकरण के लिए आभार!

    मेरे ब्लॉग की नई पोस्ट पर आपका स्वागत है...

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (11-07-2016) को "बच्चों का संसार निराला" (चर्चा अंक-2400) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

2014 की कॉरपोरेट फंडिग ने बदल दी है देश की सियासत !!

चुनाव की चकाचौंध भरी रंगत 2014 के लोकसभा चुनाव की है। और क्या चुनाव के इस हंगामे के पीछे कारपोरेट का ही पैसा रहा। क्योंकि पहली बार एडीआर न...