Monday, February 28, 2011

SAB KO KHUSH NAHIN RAKHA JA SAKTA !! !! !!

प्यारे देश वासियों,बजट के बाद हमारे प्रधानमंत्री जी ने कहा कि सब को खुश नहीं रख सकते !!सब को तो भगवान भी खुश नहीं रख सकते !वो भी कर्मों के फल का सहारा लेकर जनता को आशावादी बनाये रखने का प्रयास करते हैं !परन्तु कांग्रेस ने तो ये कहा था कि "कांग्रेस का हाथ ,गरीब के साथ" तो फिर आज बजट के बाद बड़े उद्योगपति खुश और गरीब परेशान क्यों हैं?? मैं यहाँ साफ़ करदूं कि मैं किस गरीब कि बात कर रहा हूँ?? जो पावर्टी लाइन से नीचे अपना जीवनयापन करते थे वो तो आजकल म्नेरेगा और बी.पी.एल.कार्ड के आसरे मजे से उस मध्यमवर्ग को चिढ़ा रहे हैं जो न तो गरीब की तरह रह सकता और न ही उस अमीर की तरह जिसे बढे हुए भावों से कोई फर्क नहीं पड़ता !! गैस सिलेंडर ७००/-रु.का जिसे मिलेगा, सब्सिडी किसको मिलेगी ??ब्रांडेड गहने,कपडे,खरीदने वालों को या लकड़ी जला कर खाना बनाने वाले को !!आम जनता इसी भागदौड में फंसी है कि रोटी का जुगाड़ कैसे हो??करे भी तो क्या करे??लोकतंत्र में क्रांति कि गुंजाईश भी तो कम होती है!!और फिर क्रांति जगाने वाला नेता भी तो होना चाहिए!!है कि नहीं ??  ??  ??

No comments:

Post a Comment

"अब कि बार कोई कार्यकर्ता ही हमारा जनसेवक (विधायक) होगा"!!

"सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र की जनता ने ये निर्णय कर लिया है कि उसे अब अपना अगला विधायक कोई नेता,चौधरी,राजा या धनवान नहीं बल्कि किसी एक का...