"अखियों"से नहीं बातों से गोली मारे नेता हमार ! - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)मो.न. +9414657511

पाकिस्तान के खिलाफ जब जनता गोली का जवाब गोली से चाहती है तो हमारे विपक्षी और सरकारी नेता केवल बातों से ही गोलियां चला कर अपना काम निकाल रहे हैं !और उस पर तुर्रा ये कि हम सब उनको "समझदार" भी कहें !नेता जी !!"उल्लू ना बनायिंग"!!
                        "पुत्तर-प्रदेश"में मुलायम नेता जी से जब पार्टी नहीं चली और पुत्तर अखिलेश से सरकार नहीं चली तो पहले तो नेता जी ने शिवपाल और अखिलेश जी को स्वयं धमकाया , जब काम नहीं बनता दिखा तो लड़ाई-मार कुटाई से भरपूर एक ड्रामा भी किया गया !सबको दोबारा से "सेट"करने के बाद नेता जी ने अपने "अमर सिंह"को पार्टी का राष्ट्रिय महासचिव बनाकर सबको चौन्का दिया ! उन्होंने अमर सिंह को प्यार और लाड से उनकी छिपी हुई शक्तियों के बारे में बताया जैसे रामायण में हनुमान जी को उनकी शक्तियां याद करवाई गयीं थीं !वे बोले हे अमर सिंह -:
                     उठ सुस्ती छोड़ !खटिया उठा राहुल की !खुद को"मुलायम"बना !कोई चक्कर चला !जोड़कर तोड़कर !पनघट देख लार संभाल !मुखोटा लगा मौका ताड़ !चूक मत ! साइकिल उठा !! कोई करतब दिखा !सत्ता फिर से दिलाने का कोई इंतज़ाम कर !आज कर कल कमा !अकेला  जयाप्रदा और विद्या बालन को साथ लेले !फिसलन कहाँ है देख कर साथी ढूंढ !  तालमेल बिठा !'हाथी"से बच ! हाथ से हाथ मिला ! कमल को अंगूठा दिखा !कॉमरेडों  हंसिया - हथौड़ा पकड़ !बाली तोड़ टिकट बाँट ! समीकरण जमा !चाहे कोई बखेड़ा खड़ा कर !विवाद बढ़ ! नायकों को पकड़ !महानायक,पंडित के पाँव पकड़ !लखनऊ लाकर "नचा" !जात - पात देख !फुट डाल !राज कर और करवा ! बलि देख महा बलि देख !अब मत हिचक खुलकर बोल !किसी से भी डील कर , झंडा उठा डंडा दिखा !आँखें मिला !आँखें फेर या तरेर !कदम बढ़ा,आग लगा ,तीली दिखा !भड़क उठे तो पानी दाल !ठंडा कर खुद को आंक !गिरेबान में झाँक !कुछ भी बोल !आरोप जड़ मुंह खोल !मुद्दे उठा बना ,कांफ्रेंस कर !चिरौरी कर मख्खन लगा !मेहनत कर फल चख पैसा फैंक !तमाशा देख !फिर उत्तर प्रदेश की सत्ता मेरे पुत्तर को दिला शिवपाल को नहीं !
                        उधर कोंग्रेस्सी पता नहीं किसके नेतृत्व में , "PK"की सलाह पर खाट-यात्रा कर रही है !जिनके नाम आये थे वो तो कहीं दिखाई नहीं दे रहे , जूता बेचारे राहुल को पड़ा और माला पहले पहनाने के लिए हाथापाई तक हो गयी  और खाट बेचारी जनता के काम आ गयी !ये हालत कोंग्रेस की क्यों हुई ये भी हमसे जान ! लीजिये !जो हमने किसी से सुनी वो आपको  बता रहे हैं जी !
                            कहानी लंबी है क्योंकि कोंग्रेस ने राज भी 65 सालों तक किया है जी भारत पर !क्या हाल रख दिया है हिंदुस्तान का देखिये !-:
                  पूरे 65 सालों तक कोंग्रेस भारत पर तम्बू की तरह तानी रही,गुबारे की तरह फैली रही,हवा की तरह सनसनाती रही, बर्फ की तरह जमी रही ! कोंग्रेस ने अपनी मर्ज़ी का इतिहास अफसरों से लिखवाया,संसद और विधानसभा सदस्यों से पढ़वाया !जमकर उसका प्रचार अपने चेलों से करवाया !जर्रे जर्रे पर कोंग्रेस का नाम लिख्खा जाने लगा !रेडियो, टीवी, डॉक्युमेंट्री ,सरकारी बैठकों,सम्मेलनों में कोंग्रेस का नाम पढ़ा जाने लगा !कोंग्रेस हमारी आदत बन गयी क्योंकि दासों दिशाओं में कोंग्रेस की ही गूँज थी !हम सब दिलो-दिमाग और तोड़ से कोंग्रेसी हो गए !भारतवासियों के पेट में कोंग्रेस "गैस" की तरह समा गयी !आज जो देश के हालात हैं वो हमारे सामने हैं ! बुराई के गर्भ में कोंग्रेस ही है मित्रो !इसका और इतिहास आपको आगे बताता रहूँगा काफी लंबा है !जनता को बड़ा ही जागरूक बन कर रहना होगा अन्यथा हमारे "चोकीदार" ही हमें लूट ले जाएंगे !

 क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

Comments

  1. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (30-09-2016) के चर्चा मंच "उत्तराखण्ड की महिमा" (चर्चा अंक-2481) पर भी होगी!
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ-
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????