Saturday, July 22, 2017

"लोकतंत्र के चारों खम्बे ज़र्ज़र हो चुके,पांचवां खम्बा सोशल मीडिया ही बचाएगा शान हमारी"!! - पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतंत्र टिप्पणीकार)

मैं बुरा या आप बुरे ?की लड़ाई से बाहर निकलते हुए ,कुछ आज ऐसी सकरात्मक चर्चा की जाए ,जिससे हमारे भारत का कुछ भला हो सके !ऐसी ही मुश्किलों का हल ढूंढने हेतु हम संसद में चर्चा करते हैं ! टीवी चैनलों पर बहस देखते-करते हैं !समाचार पत्रों के सम्पादकीय पढ़ते हैं ! इंटरनेट के साधनों का दोहन करते हैं !लेकिन कोई भी रास्ता नहीं निकलता ! क्योंकि हम रास्ता तो निकलना ही नहीं चाहते ,बल्कि हम तो किसी ना किसी तरह अपनी "रोटियां सेंकना" चाहते हैं ! रोटियां सेक सेक कर हम तो मोटे-ताज़े और बलवान हो गए लेकिन हमारा देश अपनी आभा खो चुका है !अपनी ताकत गवाँ चुका है !
                          हमने अपने ऊपर ना जाने कैसे-कैसे मोटे-मोटे लबादे ओढ़ लिए हैं !कोई सेकुलर बन गया तो कोई समाजवादी बन गया !कोई राष्ट्रवादी बन गया तो कोई दलितों का मसीहा बन गया !कोई हिन्दुओं का तो कोई मुसलमानो,ईसाईयों,सिख्खों,जैनियों और बौद्धों का खैरख्वाह बना बैठा है !लेकिन सच्चाई तो ये है की हम ना तो अपने बच्चों के हितेषी हैं ,ना अपने बुज़ुर्गों और समाज के तो देश दुनिया धर्म के तो हो ही नहीं सकते हम !हम इतने बड़े झूठे और मक्कार हैं कि हम किसी को भी धोखा देकर उसके प्राण तक ले सकते हैं !कोई हिचकिचाहट नहीं होती !
                             हमें बोलने में तो ईमानदारी,देश भक्ति और धार्मिकता अच्छी लगती है ,लेकिन व्यवहार में हमें केवल बेईमानी ही अच्छी लगती है !यही कारण है की भारत की जनता को फिर से कांग्रेस और उसकी हमसाया पार्टियां अच्छी लगने लगीं हैं !ईमानदारी से चलने को जो मोदी जी कहते हैं तो हमें अब उनकी बातें नहीं भाती हैं !क्या सारी गलती संविधान या सिस्टम की ही है ?क्या संविधान और सिस्टम को बदल देने से हम सब बदल जाएंगे ?नहीं , हम आदि हो चुके हैं भ्र्ष्टाचार के !अब तो सोशियल मीडिया ही बचा है जो हमें सही रास्ता दिखा सकता है !दूसरे संसाधनों ने तो सच्चाई बताना ही बंद कर दिया था !इनके सहारे अगर देश होता तो बड़े लोग कब का देश बेच के खा गए होते ! परमात्मा कोई ना कोई रास्ता निकाल ही देता है "सत्य की जीत"करने हेतु !तभी तो कहा गया है कि "सत्यमेव-जयते "!!!

प्रिय "5TH पिल्लर करप्शन किल्लर"नामक ब्लॉग के पाठक मित्रो !सादर प्यारभरा नमस्कार ! वो ब्लॉग जिसे आप रोजाना पढना,शेयर करना और कोमेंट करना चाहेंगे !
link -www.pitamberduttsharma.blogspot.com मोबाईल न. + 9414657511.
इंटरनेट कोड में ये है लिंक :- https://t.co/iCtIR8iZMX.
मेरा इ मेल ये है -: "pitamberdutt.sharma@gmail.com.

1 comment:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (24-07-2017) को "क्‍यों माना जाए तीन तलाक" (चर्चा अंक 2676) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete

अगर कोई मोदी को गालियाँ दे रहे है ... तो वह महाशय अवश्य इन लिस्ट में से एक है : ---------------------- . 1. नम्बर दो की इनकम से प्रॉपर्...