"जिसका कोई नहीं , वो हिन्दु है"! - पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतंत्र-टिप्पणीकार)

एक फिल्म का गीत था कि "जिसका कोई नहीं,उसका तो खुदा है यारो !मैं नहीं कहता किताबों में लिखा है यारो ! बहुत ही अच्छा लगता था जब ये गीत फिल्म में अमिताभ बच्चन जी ने और असल में किशोर जी ने गया था ,या जब भी बजता था तो मन को एक शांति सी मिलती थी !क्यों? सवाल ये पैदा होता है कि क्यों हमें हिन्दू होते हुए भी शान्ति मिलती थी ,जब खुदा की तारीफ़ होती थी?क्योंकि हमें हमारे धर्म ने ये सिखाया कि अपने घर आये मेहमान का स्वागत करो!उसकी बात सुनो!उसे खाने-पहनने और सोने की जगह दो ! जितने दिन आपके पास रहना चाहे उसे रहने दो !आदि आदि !हमें ये भी बताया गया कि सत्य की हमेशां जीत होती है वोकभी मरता नहीं !शायद इसी विश्वास के चलते हमारे पुरखों ने अनेक छोटे मोटे धर्मों-पंथों को भारत में आने दिया ,बसने दिया और पनपने दिया !उस समय ये भी नहीं पता था किसी को कि ये देश केवल और केवल वोटों की गिनती पर चलेगा !राजनितिक दल और उनके नेता सभी राक्षसों का रिकार्ड तोड़ देंगे !सिर्फ ये देखेंगे कि वोट कैसे मिलते हैं और सत्ता कैसे हाथ में आती है !
                      येन - केन -प्रकरेण सत्ता चाहिए !अन्यथा हम दंगे करवाएंगे,बलात्कार,लूट-पाट ,हत्याएं खुलेआम करवाएंगे !सभी मूल संस्थाओं को गलत बताएंगे !भारतीय होते हुए भी भारत की संस्कृतिओं ,रीतियों-नीतियों को गलत बताएँगे !यहां तलक कि आवश्यकता पड़ने पर अपने बाप को भी बदल देंगे और माँ-बहन को भी लूट लेंगे मार देंगे !यही तो राक्षसीय गुण होते हैं !अब भारत हिन्दुओं का नहीं बाकी सबका है !अब लोग खुलेआम कहने भी लगे हैं कि हिंदुस्तान किसी के बाप का नहीं है !
                            लोकतंत्र में अगर विपक्ष को जनता सत्ता नहीं देना चाहती है तो क्या वो जनता को भड़काएंगे?दंगे करवाएंगे ?हिन्दुओं को किसी के भी बहकावे में नहीं आना चाहिए !मौजूदा राजनितिक दलों में से कोई भी पार्टी हिन्दुओं के हितों के लिए काम नहीं करती है !केवल इन सबको वोटों से मतलब है !इसलिए कोई भी हिन्दू किसी के बहकावे में आकर कोई उत्पात ना मचाये !केवल मेहनत करके देश के क़ानून के मुताबिक अपना जीवन बसर करे !अपने परिवार का ध्यान रख्खे !बचाव में ही बचाव है !किसी अनर्गल विरोध-प्रदर्शन का हिस्सा ना बनें !क्योंकि सच में यारो !!
                  "हिन्दुओं का कोई नहीं है !जब इस देश में राम के होने या ना होने पर ही सालों से फैसला नहीं हो पा रहा तो राम भी नहीं है !कोई अगर है तो वो खुदा है ! खुदा को याद करो ! वो ही बचाएगा हम हिन्दुओं को भी !भविष्य में "कल्कि-अवतार"प्रकट होगा !इन अत्याचारियों को समाप्त करेगा ! फिर हिन्दू राज्य स्थापित होगा !उतनी देर तलक फिलहाल होशियारी दिखाओ !! rss -भाजपा और शिव सेन से ही काम चलाओ ! बस ! इनको उतना ही अपने पास आने देना जितनी आपको अपनी सुरक्षा के लिए आवश्यकता हो !हमेशां याद रख्खो !ये सब मिले हुए हैं !हिन्दुओं का कोई नहीं है !
आपके क्या विचार हैं ???जनाब !अवश्य बताइयेगा !



प्रिय "5TH पिल्लर करप्शन किल्लर"नामक ब्लॉग के पाठक मित्रो !सादर प्यारभरा नमस्कार ! वो ब्लॉग जिसे आप रोजाना पढना,शेयर करना और कोमेंट करना चाहेंगे !
link -www.pitamberduttsharma.blogspot.com मोबाईल न. + 9414657511.
इंटरनेट कोड में ये है लिंक :- https://t.co/iCtIR8iZMX.
मेरा इ मेल ये है -: "pitamberdutt.sharma@gmail.com.

Comments

  1. सच्चाई यही है कि भारत में तो हिन्दू बेसहारा है,
    वोट बैंक से ज्यादा कुछ नहीं है।

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (07-07-2015) को "शब्दों को मन में उपजाओ" (चर्चा अंक-2660) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????