Thursday, July 19, 2012

" मेरे मनमोहन को कोई कुछ ना कहे " !! ???

                                         मान जाइए !! दोस्तों मान जाइए !! इस तरह किसी को सताना उचित नहीं है!! आज्ञाकारी आदमी की इस तरह मिटटी पलीत मत कीजिये !! ये क्या बात हुई जी की क्या देसी क्या विदेशी सब हमारे प्रिय प्रधानमंत्री जी के पीछे ही पड़                                                            गए !! हम आटा 20/-,सब्जी 50/- , तेल सरसों 125/- , दाल,100/- , फल 100/- , खा लेंगे , ! बिजली , पानी ओर गैसपेट्रोल में जनता को लूटने की छूट दे देंगे !! टोल- टेक्स, सर्विस - टेक्स आदि- आदि से हम अपनी चमड़ी उखडवा लेंगे !!!!!!! लेकिन कोई हमारे प्रधान मंत्री जी को गधा , कुत्ता , चोर , डाकू और लुटेरा कहे ये हमें बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं है जी....!!
                                गठबंधन की     मजबूरी को समझो !! चोरों डाकुओं के आगे आप में से कोई बोल सकता है जो सरदार जी बोले ??? उनको अपनी जान प्यारी नहीं हैक्या ??? आपको पता नहीं क्या आजकल मार देते हैं !! जो ज्यादा बोलता है !! 
                              हमारा   प्रधानमंत्री है , हम चाहे उनका सन्मान करें या बंद कमरेमें " पंजाबी " में समझाएं .......हमारी मर्ज़ी,,, आपको क्या विदेशियों !!खबरदार !! अगर आज के बाद किसी विदेशी ने हमारे किसी भी आदमी को कुछ कहा तो ....!!! ये मजाक नहीं धमकी है  ..... समझे !! 
www.pitamberduttsharma.blogspot.com. " 5th pillar corrouption killer " 

No comments:

Post a Comment

"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...