Wednesday, October 23, 2013

" सूरतगढ़ में कौन नेता लायक है जो विधानसभा में प्रतिनिधित्व कर सके हमारा " ? ?

" काटन सिटी " के नाम से सुविख्यात हमारा ये शहर सूरतगढ़ !! जिसका राजनितिक इतिहास विलक्षण है !! यंहा से श्री गुरशन छाबड़ा , श्री हंसराज मिढा , श्री अमर चन्द मिढा , श्री अशोक नागपाल और अब श्री गंगाजल मील विधानसभा में नेत्रित्व कर चुके हैं ! अब आगामी दिसंबर माह में नए विधायक चुने जाने हेतु जनमत माँगा जायेगा ! छाबड़ा जी जंहा कोलेज खुलवाने , हंसराज जी टिब्बा क्षेत्र में पानी पंहुचाने हेतु मशहूर रहे , वन्ही मौजूदा विधायक श्री गंगाजल मील ने पार्क बनवाने , पुल शुरू करवाने ,स्कूल बनवाने और सीवर सिस्टम की शुरुआत करने जैसे कई काम अपने नाम के साथ जोड़ने में सफलता पाई है !! केवल श्री अशोक नागपाल ही ऐसे विधायक हैं जो अपने नाम के साथ कोई विशेष काम अपने पांच साल के कार्यकाल में भी नहीं जोड़ पाए !!

                         यंहा की भाजपा फिर पूरे जोश में दिखाई पड़ रही है , ना जाने क्यों ??? भारत में आजकल नरेंद्र मोदी के नाम की लहर चल रही है , तो इसका मतलब ये हरगिज़ नहीं निकाला जाना चाहिए कि विधानसभा के चुनावों में भी जनता भाजपा को ही जिताएगी ! भाजपा के कार्यकर्त्ता और नेता बहुत जल्दी " जोश " में आ जाते हैं !! शायद इसी लिए सूरतगढ़ विधानसभा हेतु अकेले भाजपा से 14 नेता टिकट मांग रहे थे ! कुछ दिन पहले 9 दावेदारों का जोश " झाग " की तरह से बैठ भी गया ! इन्होने जयपुर जाकर अपने आकाओं से ये बोल दिया कि " हम में से चाहे किसीको टिकेट दे दो , लेकिन राजेन्द्र भादू को टिकेट मत देना " !! प्रादेशिक नेत्रित्व को भी आभास हो गया कि इन 9 दावेदारों में से 8 तो फ़र्ज़ी टिकटार्थी हैं ????
                    " निष्ठावान " का प्रश्न पैदा किया जा रहा है भाजपा में !! जबकि प्रदेश से लेकर मण्डल तक किसी व्यक्ति विशेष के तो निष्ठावान बहुत मिल जायेंगे , लेकिन संगठन और सिद्धांतों के निष्ठावान भाजपा से जैसे गुम ही हो गये हैं !! पिछले 2 बार के  संगठन चुनावों में  संगठन की निष्ठा के नाम पर ऐसे-ऐसे नेताओं को जिलों और मंडलों के पदों पर " मनोनीत " किया गया जिनके इतिहास दलबदल और बगावत से भरे पड़े हैं !! वोही नेता आज दुःख दे रहे हैं !! श्री मति वसुन्धरा राजे की यही बड़ी मजबूरी है कि  वो उन्हें चाहते हुए भी बदल नहीं सकतीं क्योंकि चुनाव सर पर हैं और केंद्रीय नेत्रित्व भी कोई बदलाव नहीं चाहता !! इसलिए अबकी बार बगावत होने के बड़े आसार दिखाई पड़ रहे हैं !! टिकेट चाहे किसी को मिले बगावत अवश्यम्भावी है !! क्योंकि पिछले चुनावों में भी कई भाजपा नेताओं ने अपने संगठन के आकाओं के कहने पर अपनी पार्टी के साथ " भीतरघात " किया था !! जिसकी " प्रतिक्रिया " अब देखने को अवश्य मिलेगी !! अतः कहा जा सकता है कि भाजपा को सूरतगढ़ सीट से जीत पाना बड़ा ही कठिन है !
                          कोंग्रेस में भी श्री गंगाजल जी द्वारा करवाए गए निर्माण कार्य,उनको बचा नहीं पाएंगे क्योंकि एक तो यंहा के चैयरमैन सारा क्रेडिट खुद लेना चाह रहे हैं , दुसरे यंहा से कोंग्रेस की द्वितीय लाईन के नेता भी अपनी दावेदारी विधानसभा टिकेट पर पूरे दम-ख़म के साथ ठोक रहे हैं ! तीसरा सूरतगढ़ में " कब्ज़े ",भ्रष्टाचार ", क़ानून व्यवस्था "और गुंडा-गर्दी " अपनी चरम सीमा पर है !! चौथा कोंग्रेस की राष्ट्रीय स्तर की छवि भी बड़ी धूमिल है ! मंहगाई से तो जनता त्रस्त है ही लेकिन राष्ट्रीय शिक्षानीति, विदेश निति और देश का सुरक्षा तंत्र पूरी तरह से छिन्न-भिन्न हो गयी है !!
                       आरक्षण एवं सरकारी योजनाओं के अधीन आने वाले B.P.L.लाभार्थी और करोड़ पतियों के घर पैदा हुए लोग ही सुखी हैं , बीच वाले स्वर्ण जाती के I.P.L. कार्ड धारक और निम्न-मध्यम परिवारों में जन्मे अभागे आज " हाथ-पसारने " को मजबूर हैं , वो भला कोंग्रेस को क्यों अपना वोट देने लगे ??? इस लिए कोंग्रेस के लिए भी दिल्ली दूर है !! लेकिन कोंग्रेस के सभी नेता ये  जानते-समझते हैं ! उनको पता है कि जो हमसे दुखी हैं वो " गिनती " में कम हैं ! इसीलिए सरकारें ऐसी योजनायें बना रही हैं जिनसे गरीब तबके और आरक्षित तबके को ज्यादा फायदा पंहुचे ताकि उनके वोट उन्हें ही मिलें !!
                  लेकिन क्या जो कोंग्रेस के नेता जो सोच रहे हैं वास्तव में वैसा ही होगा ??? यही वो " यक्ष " प्रश्न है जिसका उत्तर हमें आने वाले विधानसभा चुनावों  में और अगले वर्ष होने वाले लोक सभा चुनावों में मिलेगा !!
                     जंहा तक सूरतगढ़ विधानसभा में नेत्रित्व का प्रश्न है तो सूरतगढ़ की जनता को किसी ऐसे जनप्रतिनिधि को इसबार चुनना होगा जो जानता हो की विधानसभा में कैसे अपने क्षेत्र की जनता के हितों और सपनों को साकार कराया जा सकता है !! सच्चा नेत्रित्व वोही नेता कर सकता है जो क़ानून का और प्रशासनिक कार्यवाहियों का भी जानकार हो !! इमानदार मिलनसार होना भी आवश्यक है !! सूरतगढ़ की जनता को किसी पार्टी , जाति , धर्म , लालच और क्षेत्रवाद के भुलावे में भी नहीं आना चाहिए !! सोच - समझ कर अपना वोट अवश्य पोल करना चाहिए !! फिर इस देश का और हमारा सबका भाग्य उदय हो जायेगा !!
                 इसी आशा के साथ आपका हितैषी ,
                   पीतांबर दत्त शर्मा , ( समाजसेवी ),
                      सूरतगढ़। (9414657511 )
                        

BY :- " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG . READ,SHARE AND GIVE YOUR VELUABEL COMMENTS DAILY . !!
प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं !!HAPPY BIRTH DAY TO YOU !! GOOD WISHES AND GOOD - LUCK !! प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7
www.pitamberduttsharma.blogspot.com
मेरे ब्लॉग का नाम ये है :- " फिफ्थ पिलर-कोरप्शन किल्लर " !!
मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)
(4 photos)
                         

No comments:

Post a Comment

" परेशान है हर कोई " क्यों ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

भारत ,जिसकी संस्कृति में ही ये सिखाया जाता है कि अपने आप से ज्यादा दूसरों की चिंता करो ! दूसरों पर दया करो !अपने हिस्से के भोजन में से किसी...