Tuesday, May 5, 2015

" समय की मांग स्वरूप रचा जाने वाला है एक ऐतिहासिक " सनातन - वेब ग्रन्थ ", आप सब के सहयोग से ! आइये साथ चलें भारत-भ्रमण पर 2018 से ! - पीताम्बर दत्त शर्मा ( लेखक-विश्लेषक)

माननीय मित्र जनो ! सादर नमस्कार ! जैसा कि आप सब जानते हैं , हर तरफ , हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार सहित कई बुराइयों ने अपना घर बना लिया है ! धार्मिक कार्य , ज्ञान और स्वयं धर्म भी इस से बच नहीं पाया है !!ऐसा लगने लगा है कि जैसे बुराइयों से युक्त जीवन गुज़ारना ही हमारा भाग्य है ! लेकिन अगर इंसान चाहे तो क्या नहीं हो सकता है ?? ऐसी ही भावना के मन में जागने पर आपके इस मित्र ने भगवान की प्रेरणा , माता-पिता द्वारा मिले संस्कारों और आप सब मित्रों की सांगत से मिले ज्ञान एवं सहयोग की आशा से एक ग्रन्थ रचने की भावना मन में पैदा हुई है ! ये शुभ कार्य इतना बड़ा और कठिन है कि आप के सहयोग के बिना पूरा नहीं हो सकता है ! इसी लिए ३ वर्ष पहले ही इसकी योजना बनायीं जा रही है ! आपके सुझाव और सहयोग सादर आमंत्रित हैं ! अभी मोती-मोती रूप-रेखा ही तैयार हो रही है ! आपके सुझावों को जोड़ने के पश्चात ये कार्य योजना सफलता को छूने वाली बन जायेगी !

आप सबसे अनुरोध है कि आप इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि ये विषय सबको मालूम हो जाए !अपने अनमोल सुझाव भी हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें ! "लो मित्रो !! वानप्रस्थाश्रम और आध्यात्म यात्रा की ओर जाने की तैयारी शुरू कर रहा हूँ "!!बात ये है कि सन 2015 की 1 जनवरी से मैंने सभी प्रकार की राजनितिक-सामाजिक सक्रिय गतिविधियों को त्याग दिया है ! सभी प्रकार की बुरी आदतें 31 दिसंबर 2010 से ही छोड़ दी थीं !इसी के साथ भोजन भी एक समय कर दिया है !क्योंकि - जीवन के ऐसे मोड़ पर आ चुका हूँ, जहाँ ये सोचना आवश्यक हो गया है कि हमारा जन्म इस धरती पर किस उद्देश्य की पूर्ती हेतु हुआ है ?गृहस्थाश्रम की लगभग सभी जिम्मेदारियाँ पूरी होने को हैं !जो एक-आध बाकी है वो भगवान पूरी करवा ही देंगे !राजनितिक और समाजसेवी संगठनों के रंग, जो हमें हमारे जीवन में दिखे,वो मुझे अपने साथ ज्यादा कभी भी बाँध ही नहीं पाये !जब तक इनमे रहा भी, तो, मैं एक प्रकार की असहजता ही महसूस करता रहता था !इसलिए इनको छोड़ने में भी मुझे ज़रा सी भी दिक्कत महसूस नहीं हुई ! मित्रो !! अपने आगामी जीवन काल में, मैं आपके साथ मिलकर एक बड़ा ही नेक उद्देश्य पूरा करना चाहता हूँ ! मुझे पूर्ण विश्वास है की आप सबका साथ इस उद्देश्य को पूरा करने हेतु मुझे अवश्य मिलेगा ! मैं आज आपके साथ अपना वो उद्देश्य भी साँझा करना चाहता हूँ ! उद्देश्य ये है -: जीवन के अनुभव से मुझे ये ज्ञात हुआ है कि सनातन धर्म के ज्ञान से भरे ग्रंथों,स्थानों एवं अन्य बहुमूल्य वस्तुओं को पहले मुस्लिम लुटेरों और फिर अंग्रेजी शासकों ने खूब लूटा जलाया और अपने साथ भी ले गए ! आज जो हमारे पास ग्रन्थ बचे हैं , वो अधूरे और टूटी-फूटी कड़ियों वाले हैं ! जिनका फायदा उठाकर कई आडंबरी ठगों ने साधू बनकर या अपना धर्म बनाकर एक प्रकार की दुकानें खोल ली हैं ! कई नेता और फिल्म-नाटक निर्माता भी इसका फायदा उठाकर करोड़ों कमा चुके हैं ! ठगे हमारे भोले सनातन-धर्मी लोग ही जाते हैं !आज हमें किसी देवता की पूरी जानकारी एक जगह नहीं मिलती और नाही सनातन-धर्म के अनुसार परमात्मा को पाने की विधियाँ प्रमाणित रूप से एक जगह मिलती हैं !समय का अभाव मनुष्य को रहता ही है ! किसी के पास समय नहीं है जिस से वो सारे ग्रन्थ पढ़ कर स्वयं निर्णय ले सके कि उसे किधर जाना है ?! इन्हीं बातों से प्रेरित होकर मैंने ये निर्णय लिया है कि मैं फेसबुक,गूगल+,ब्लॉग और ग्रुप्स की मदद से , आप सब दोस्तों के ज्ञान का फायदा उठाकर , एक टीम का गठन करूँ और फिर गाँव-गाँव, शहर-शहर और पूरे भारत में भ्रमण करके , आप सभी मित्रों से मिलकर आपकी मदद से वो,ऐतिहासिक जानकारियां एकत्रित करूँ, जो हमारे धर्म-ग्रंथों में वर्णित नहीं हैं ! और फिर विद्वानों के माध्यम से नयी व पुरानी जानकारियां मिलाकर इंटरनेट पर नए सिरे से सभी देवताओं की जीवनियाँ , उनके उपदेश आदि एक जगह पर डाल दें ! ताकि भविष्य में ना तो कोई भ्रमित हो सके , और नाही कोई किसी को भ्रमित कर सके !जिसको किसी देवता की जानकारी चाहिए होगी , वो उसे एक क्लिक करने पर मिल जाएगी और जिसको परमात्मा पाने की सनातन-धर्म की विधियां जाननी होंगी वो भी उसे एक ही क्लिक करने पर उपलब्ध हो जाएंगी ! इस पवित्र कार्य को पूरा करने हेतु इसकी शुरुआत 1 नवम्बर 2015 को सूरतगढ़ राजस्थान से करने की इच्छा है ! इस भारत-भ्रमण यात्रा में एक वैन में इंटरनेट के साथ प्रिंटर-कंप्यूटर लगे होंगे , एक वैन में साउंड-टेन्ट और रसोई की व्यवस्था होगी !जिस गाँव-शहर में जाएंगे वहाँ थोड़ा सत्संग करेंगे,अपना आने का उद्देश्य बताएँगे और वहाँ के लोगों से जानकारी लेंगे कि क्या उनके पास कोई धार्मिक पुरानी किताब है ? क्या उनके यहां कोई पुरातन धार्मिक स्थान है ?जहां ये सब होगा वहाँ जरूरत के मुताबिक रुकेंगे और जहां ऐसा कुछ नहीं होगा वहाँ सत्संग करके आगे बढ़ जाएंगे ! ये है मोटा-मोटा हमारा प्लान ! अब आप इस कार्यक्रम में अपनी बुद्धि से और चार-चाँद लगाइये ! और जो मित्र इसमें अपना जो सहयोग जैसा भी , देना चाहे , वो भी हमें सूचित करें !

अब होगी एक और " सरल सनातन धर्म वेब- ग्रन्थ " की रचना !! 

मानव जाति को सच्चा रास्ता दिखाने हेतु समय समय पर पहले ऋषियों मुनियों ने फिर कई धर्म-गुरुओं ने कई ग्रन्थ लिखे हैं जिनमे सनातन-धर्म के बारे में विस्तार से बताया गया है !उनका अनुभव हमारे लिए रास्ता आसान करता है ! लेकिन पहले वाले धर्म-ग्रन्थ संस्कृत, फ़ारसी और अन्य कई भाषाओँ में लिखे गए थे ! जिनको पढ़ने हेतु ना तो आज के इन्सान के पास इतना भाषा-ज्ञान है और ना ही इतना समय ! लेकिन वो ईश्वर को प्राप्त तो करना चाहता है लेकिन जल्दी ! इसी बात का फायदा उठाकर इस कलयुग में कई स्वयंभू भगवान बन बैठे हैं ! वो आम जनता को भगवान की फोटो दिखाकर स्वयं को ही पुजवाते हैं !
                                 इसीलिए मैंने ये सोचा है कि आप जैसे विद्वान मित्रों के सहयोग से एक वेबसाईट बनायीं जाए , जिसमे सनातन धर्म से सम्बंधित सभी मुख्य देवी-देवताओं की जन्म से लेकर देवलोक गमन तक की सच्ची गाथाएं और परमात्मा को पाने की प्रमाणिक विधियां लिखी हुई हों ! उसमे जीवन के आदर्शों और संस्कारों का भी पूर्ण विवरण हो ! सृष्टि की रचना और प्रलय के बारे में भी विस्तार से बताया गया हो ! 
                      आज जो धर्म ग्रन्थ हमारे पास उपलब्ध हैं वो केवल 40% ज्ञान ही उपलब्ध करवाते हैं ! इसलिए सन 2018 में एक यात्रा शुरू की जाएगी जो पुरे भारत में तो जायेगी ही ,आवश्यकता पड़ने पे अगर विदेश भी जाना पड़ेगा तो जाएंगे लेकिन धार्मिक जिज्ञासुओं हेतु सम्पूर्ण सामग्री उस वेबसाईट में उपलब्ध रहेगी आप सबके सहयोग से ! इस टीम मैं ऐसे विद्वान भी शामिल करने होंगे जो सनातन ग्रंथों के बारे में जानकारी रखते हैं ! उनके साथ कंप्यूटर टाइपिस्ट और ऑपरेटर भी जोड़े जाएंगे ! भारत के अलग-अलग हिस्सों में इस कार्य हेतु कार्यालय खोले जायेंगे !इनका कार्य होगा कि  उपलब्ध सभी ग्रंथों का अध्ययन कर उनमे लिखे ज्ञान को क्रमबद्ध करके नयी वेब साइट पर डालना ! यात्रा का उद्देश्य ये होगा की नगर-नगर,गाँव-गाँव जाकर पूछना कि क्या आपके पास कोई पुराण ग्रन्थ , लिपि या कोई ऐतिहासिक मंदिर या स्थान है जिससे सनातन धर्म के किसी अंश का पता चल सके !
                            एक रथ बनाकर , उसमें सारे उद्देश्य अंकित करके,छोटी सी भजन-मण्डली का गठन करके भारत-भ्रमण किया जायेगा जो 2018 से उद्देश्य पूर्ति तक चलेगा ! ये अभी एक मोटा -मोटा खाका है ! इसमें आप सभी मित्रों के सुझाव शामिल करके इसे और प्रभावी बनाया जायेगा ! अब आप  धर्म-प्रेमी मित्रों से निवेदन है कि आप इस पवित्र कार्य में कैसे कितनी और किस रूप में मदद कर सकते हैं , वो हमें जल्द से जल्द बताने का कष्ट करें ! ताकि ये बड़ी योजना समय पर शुरू की जा सके ! आपके पास जितना भी समय इस पवित्र कार्य हेतु हो हमें बताएं !मुझे पूर्ण विश्वास है कि प्रभु-प्रेरणा से आप सब मित्र हमारा इस पवित्र कार्य में सहयोग करेंगे ! मैं आपसे वडा हूँ की हमारी वेबसाईट में किसी को ना तो बुरा कहा जायेगा और नाही किसी तथ्य को तोडा-मरोड़ा जायेगा ! 


प्रिया पाठक मित्रो ! सादर नमस्कार ! सन २०१८ से शुरू होने 

वाले नए सनातन वेब. ग्रन्थ को लिखने में पूरे भारत से 

अपना 

सहयोग देने हेतु कई मित्रों के प्रस्ताव प्रापत हो रहे हैं ! 

जिनमे 

वो सब अपनी क्षमता अनुसार भरपूर सहायता का विश्वास 

दिला रहे हैं ! मित्रो ! हमें हर संभाग में एक कार्यालय खोलना 

है जिसमे कम से कम 4 सदस्य होंगे ! एक धर्म ग्रंथों को 

पढ़कर सरल भाषा में क्रमबद्ध वेबसाईट पर लिखवा सके ! 

दूसरा सदस्य कम्प्यूटर-ऑपरेटर होगा ! तीसरा रिकार्ड 

संभलकर  और लेखाधिकारी होगा और चौथा सदस्य 

कार्यालय की देखभाल और सम्भाल करने वाला होगा ! मैं जो 

बातें आपके समक्ष आपके सामने रख रहा हूँ , वो सब मोटे-

मोटे सुझाव हैं इनमे बारीकियां आपके सुझाव लाएंगे जिससे 

ये पवित्र काम एक बड़ा काम बन जायेगा !

जो भी जानकारी हमें जिसकी लिखी जो भी जानकारी मिलेगी उसे उसी के नाम से वेबसाईट में दर्शाया जायेगा ! हमें सिर्फ संकलन ही करना है ! अतः निष्काम भाव से आप हमारे साथ आइये ! इस पुण्य कार्य को करने हेतु ,हमारा पता नोट करें :-
                       पीताम्बर दत्त शर्मा 
                         1/120,आवासन मण्डल कालोनी,
                             सूरतगढ़ ! पिन-कोड -335804,
                                (जिला - श्रीगंगानगर),
                                  (राजस्थान - भारत)
                                 मो.न.-91-9414657511  
ई-मेल आई डी :- pitamberdutt.sharma@gmail.com
ब्लॉग - " फिफ्थ पिल्लर करप्शन किल्लर "
           "5TH PILLAR CORRUPTION KILLER"
लिंक - www.pitamberduttsharma.blogspot.com.
फेसबुक आई डी - www.facebook.com.pitamberdutt.sharma7
आप सबसे अनुरोध है कि आप इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि ये विषय सबको मालूम हो जाए !अपने अनमोल सुझाव भी हमारे ब्लॉग पर जाकर अवश्य लिखें !  



            


No comments:

Post a Comment

2014 की कॉरपोरेट फंडिग ने बदल दी है देश की सियासत !!

चुनाव की चकाचौंध भरी रंगत 2014 के लोकसभा चुनाव की है। और क्या चुनाव के इस हंगामे के पीछे कारपोरेट का ही पैसा रहा। क्योंकि पहली बार एडीआर न...