Saturday, March 12, 2016

एक परिचय - श्री पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक-समाजसेवी एवं स्वच्छ राजनेता) सूरतगढ़ !(राजस्थान-भारत)

पाठकों की भरी मांग पर आज हम आपको विश्व प्रसिद्ध "5th pillar corruption killer "नामक ब्लॉग के लेखक-विश्लेषक-समाजसेवी और स्वच्छ-राजनीति करने वाले संघर्षशील व्यक्तित्व के धनि श्री पीताम्बर दत्त शर्मा जी से मिलवाते हैं !

जन्म-स्थान - 4 जुलाई 1961 (अबोहर-पंजाब)
व्यवसाय - दुकानदार (प्रॉपर्टी-एडवाईज़र )
माता-पिता - श्रीमती वीना पांणि एवं श्री वेद प्रकाश "दिग्गज"
माता-पिता का व्यवसाय - माता जी सनातन धर्म प्रचारिका एवं पिता                                          जी प्राध्यापक रिटायर हुए !
भाई-बहन - तीन बहने भाई कोई नहीं (कुल चार)
शिक्षा - D.A.V.कॉलेज अबोहर से स्नातक संगीत में !
विवाह - श्रीमती सुनीता शर्मा (MA.Bed.)9.मई 1984 को फ़ज़िलका                    पंजाब में हुई !आजकल पीलीबंगा में सरकारी अध्यापिका !
संतान - एक लड़का -पार्थ सार्थी (दुकानदार)और एक लड़की - सुकृति                 शर्मा (tv.patrika rajasthan jaypur)
समाजसेवा - "आवासन मंडल कालोनी वेलफेयर सोसायटी "                                       (रजि.)सूरतगढ़ 
                     " पंजाबी वेलफेयर सोसायटी "(रजि.)सूरतगढ़ 
                      "राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ "
                      "राष्ट्रीय सनातन धर्म सेवा संघ"(रजि.)हरिद्वार 
                       "डिस्ट्रिक्ट शॉप एम्प्लॉयीज़ यूनियन" सूरतगढ़ 
                        नामक संस्थाओं का सदस्य,अध्यक्ष,जिला संयोजक                          नामक पदों पर रहकर जनहित के कार्य करवाने में                                अपना छोटा सा योगदान दिया !
राजनीती - बचपन में जनसंघ,फिर युवा-कांग्रेस राजस्थान आगमन                       पश्चात कुछ समय कम्युनिस्ट पार्टी और राम मंदिर                             आंदोलन से भाजपा का सदस्य बना !भाजपा में नगर                           मंडल सूरतगढ़ में मंत्री, जिला श्रीगंगानगर  कार्यकारिणी                     सदस्य और फिर भाजपा चुनाव-विश्लेषण एवं सांख्यिकी                        प्रकोष्ठ का प्रदेश-उपाध्य्क्ष रहा !इस दौरान सभी चुनावों में सभी भाजपा प्रत्याशियों को जिताना ही अपना धर्म समझा !लेकिन अब उम्र के इस पड़ाव में सक्रिय राजनीती इसलिए त्याग दी क्योंकि कोई नेता इतना प्रिय नहीं रहा कि उसके लिए अपना समय खराब करूँ !और विरोध सिर्फ मैंने "मुद्दों"पर ही किया है किसी स्वार्थ वाश नहीं !समाजसेवी संस्थाओं में भी राजनीति आ जाने के कारण किसी संस्था का सक्रिय पदाधिकारी बनना भी बंद कर दिया ! अब केवल स्वयं के बल पर ही जितना भला समाज का हो सकता है करने की कोशिश करता हूँ !वैसे अब समाजसेवा करवाने लायक कोई नज़र भी नहीं आता है !सच बोलना मुझे हमेशां पसंद आता है  बहुत काम लोगों को  पसंद आता हूँ ! भगवान ने मुझे सब कुछ दिया है !कोई बड़ी इच्छा बाकी नहीं है ! पिछले चार सालों से अपने ब्लॉग में ज्वलंत-विषयों पर लेख लिखकर अपनी (भड़ास)निकाल लेता हूँ !पूरे विश्व में मेरे ब्लॉग के पाठक हैं ! सोशियल-मीडिया मेरे जैसे साधारण साधनों वाले लेखकों के बहुत काम आता है !साधारण जीवन जिकर अपने आपको कोमल बनाये रखता हूँ इसलिए परमात्मा भी मेरी बात सुनते हैं !जब भी जो मैं"जायज़" मांगता हूँ मुझे वो देते हैं ! 
                                  सूरतगढ़ में सन 1986 में आकर बसा !1947 के बँटवारे के समय मुस्लिम आतताइयों ने मेरे दादा जी को 70 साथियों सहित क़त्ल कर दिया था , हमारी दादी जी और अन्य महिलाओं को जब ये समाचार मिला तो वो सब महिलाएं अपनी इज्जत बचाने हेतु बच्चों सहित सतलुज दरिया में कूद गयीं !मेरे पिता अपने भाई-बहनों से बिछुड़ गए !जो बाद में कई साल बाद रिश्तेदारों द्वारा खोजे जाने पर मिले ! हमारे परिवार को ज़मीं तो राजस्थान में अलॉट हुई और रहने हेतु मकान पंजाब में मिले ! पिता जी ने संघर्ष पूर्ण जीवन बिताते हुए हमें पाल-पोसा !आज भी मैं अपनेआप को भाग्यशाली समझता हूँ क्योंकि मुझे आज भी अपने माता-पिता चाचा-चाही,बुआ और सास-ससुर का जीवंत आशीर्वाद प्राप्त है ! 
                मेरे द्वारा जान-सहयोग से दुकानो पर काम करने वाले कर्मचारियों को साप्ताहिक अवकाश दिलवाया गया ! सूरतगढ़ की विभिन्न समस्याओं हेतु अन्य नेताओं के साथ धरने प्रदर्शन किये गए ! आवासन मंडल कालोनी को नगरपालिका के सुपुर्द करवाया गया !जरूरतमंद परिवारों की कन्याओं की शादी में सहयोग दिलवाया गया !विधवाओं को सिलाई मशीने और कम्बल बांटे गए !पार्को में पौधरोपण करवाये गए !केबल पर सूरतगढ़ के नेताओं की परिचर्चा बनाकर दिखाई लोगों के विचार भी टीवी पर दिखाए ! हमारे ब्लॉग" फिफ्थ पिल्लर करप्शन किल्लर "द्वारा "कौन बनेगा विधायक"और "कौन बनेगा चेयरमैन "नामक सर्वे करवाये गए जो सफल रहे !सभी को मैं आदर से बुलाता हूँ इसीलिए सभी मुझे बहुत चाहते हैं !इसके लिए मैं सबका आभारी हूँ !
                    बाकी चित्रों की जुबानी ...... !





 " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG .

 प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं ! the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com.  , गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !!

मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !

1 comment:

  1. सुन्दर व सार्थक रचना प्रस्तुतिकरण के लिए आभार!

    मेरे ब्लॉग की नई पोस्ट पर आपका स्वागत है...

    ReplyDelete

"कुछ नहीं ,है भाता ,जब रोग ये लग जाता".....!!! - पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतंत्र टिप्पणीकार) मो.न.+ 9414657511

वैसे तो मित्रो,! सभी रोग बुरे होते हैं !लेकिन कुछ रोग तो हमारा पीछा छोड़ देते हैं और कुछ आदमी की मौत तलक साथ देते हैं !पुराने जमाने में ऐसे ...