Monday, May 1, 2017

"जंग"कर दो,नहीं तो "जँग"लग जायेगा ! - पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतंत्र टिप्पणीकार)

माननीय मोदी जी ! सादर प्रणाम !निवेदन यह है कि आपको जनता ने देश का प्रधानमंत्री बनाया है ,ये सोच कर कि "आप तुरंत फैसले लेंगे"! कठोर निर्णय देश हित हेतु अगर लेने पड़ेंगे तो भी आप हिचकेंगे नहीं !आप ज्यादा मेहनत करेंगे !आप एकमुश्त निर्णय लेकर बदलाव ला देंगे !देश के अंदर "बस"रहे दुश्मनों और "बाहर के दुश्मनों को कड़ा सबक सिखाएंगे !देश से बेरोजगारी,भ्रष्टाचार और अनाचार मिटाकर क़ानून का राज्य स्थापित करेंगे !आदि आदि !!
                         आप ये सब कर रहे हैं ,ये देश की जनता और पूरा विश्व भलीभांति जानता भी है और समझता भी है जी !तभी आपको हर और से सफलता भी मिल रही है !सफलता मिलने का सिलसिला आगे भी चलता रहेगा ,चाहे भाजपा के अन्य नेता 40%तक अच्छे"ना हों !आपके बनाये मुख्यमंत्री तलक अच्छे काम कर रहे हैं !सभी मंत्रियों की रिपोर्ट भी "पास मार्क्स" जितनी आ रही है !देश के बेईमान लोगों के मनों में भय का वातावरण साफ़ दिखाई पड़ रहा है !मुझे ये मानने में कतई कोई संकोच नहीं है कि पूर्व के सभी प्रधानमंत्रियों से ज्यादा " असरकारक "प्रधानमंत्री आप हो !
                     लेकिन मान्यवर मोदी जी ! देश पिछले 67 वर्षों में इतने नुक्सान झेल चुका है कि अब ज्यादा समय तक रुका नहीं जा सकता !देश के दुश्मनों ने बहुत ताक़त इकठ्ठी कर ली है ! इसलिए देश की जनता आपके श्रीमुख से वैसे ही निर्णय प्रति सप्ताह सुनना चाहती है ,जो आपने देश को सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी करते वक़्त सुनाये थे !जनता आपको और भाजपा को पूर्ण समर्थन देते हुए पूरी छूट देती है कि "बंद कर दो कुछ समय हेतु ये चुनाव प्रक्रिया"!बदल दो एक मुश्त संविधान को ! व्यवस्थित करदो फिर से इस देश की "तंत्र-व्यवस्था"को !! ले लीजिये जितना धन जनता से आपको चाहिए उतना !सब देशवासी भारत हेतु झोलियाँ भर भर देंगे ! 
                          बरसों बाद देश को एक "विश्वास पात्र "प्रधानमंत्री मिला है !जिसकी सेना (पार्टी सदस्य)भी सबसे कम बेईमान है !उसे क़ानून का डर है ! वो बदल सकती है बहुत अच्छी बन सकती है !देश भी सुधरना चाहता है !बस निवेदन इतना ही है कि हमारे देश के जवानों की एक बूँद रक्त की अब बहनी नहीं चाहिए !जयदा कहना मेरा काम नहीं ! समझदार को इशारा ही काफी होता है ! इंदिरा जी अगर अपने हित के लिए देश  आपातकाल लगा सकती हैं तो क्या आप देश हित में एकबार फिर आपातकाल नहीं लगा सकते ?करिये आह्वान ! 15 अगस्त 2017 तक का समय है आपके पास इस पवित्र कार्य हेतु !बाद में लोग "वहमों"में पड़ जाएंगे !
 "जय जवान - जय किसान "जय हिन्द - जय भारत "



प्रिय "5TH पिल्लर करप्शन किल्लर"नामक ब्लॉग के पाठक मित्रो !सादर प्यारभरा %!आप मेरा साथ पिछले 7 वर्षों से दे रहे हैं !मैं आपका हृदय से आभारी हूँ !आपने ना केवल मेरे और मेरे मित्रों के लेखों को पढ़ा,बल्कि उसे अपने मित्रों संग शेयर भी किया ,पसंद किया और उस पर जाकर कॉमेंट भी लिखे ! जो मेरे लिए ना केवल अनमोल थे , साथ ही साथ मेरे लिए वो प्रेरणादायी भी थे !कई मित्रों ने तो मेरा ब्लॉग ज्वाइन भी किया है !कई समाचार पत्रों-पत्रिकाओं ने मेरे लेख प्रकाशित भी किये ! उनका भी मैं आभारी हूँ !आप सबकी इस अनुकम्पा से ही आज मेरे पाठकों की संख्या अगर मैं सभी माध्यमों की जोड़ दूँ तो तक़रीबन दस लाख(१०,०००००. )बनती है !क्योंकि ब्लॉग पर लिखी सामग्री गूगल+,ट्वीटर,फेसबुक और उसके कई ग्रुपों के साथ साथ मेरे पेज पर भी डाली जाती है !
                         मैं बड़े ही गर्व के साथ कह सकता हूँ की मेरे ब्लॉग को माननीय प्रधानमंत्री श्री मान नरेंद्र मोदी जी और माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा श्री मान अमित शाह जी भी पढ़ते हैं !उन्होंने मुझे ट्वीट भी किये हैं ! कई बड़े लेखक और लेखिकाएं,कवी-कवित्रियाँ और स्वतंत्र टिप्पणीकार आदि भी जुड़े हैं जिससे मैं अपने आपको गौरवान्वित समझता हूँ !आशा करता हूँ की आप सबका मुझे और ज्यादा साथ मिलेगा ! फिर मैं बारी बारी से आप सबके शहरों में आकर मिलूंगा !आपसे और ज्यादा सीखूंगा !
                           आप सबसे अनुरोध है कि आप मुझे अपने अनमोल सुझाव देते रहा करें !
                               सधन्यवाद !
                                                  आपका अपना ,
                                                   पीताम्बर दत्त शर्मा,
                                                     सूरतगढ़ !

"5th पिल्लर करप्शन किल्लर", "लेखक-विश्लेषक एवं स्वतंत्र टिप्प्न्नीकार", पीताम्बर दत्त शर्मा ! 
वो ब्लॉग जिसे आप रोजाना पढना,शेयर करना और कोमेंट करना चाहेंगे !
 link -www.pitamberduttsharma.blogspot.com मोबाईल न. + 9414657511.
 इंटरनेट कोड में ये है लिंक :- https://t.co/iCtIR8iZMX.
 "5th pillar corruption killer" नामक ब्लॉग अगर आप रोज़ पढ़ेंगे,उसपर कॉमेंट करेंगे और अपने मित्रों को शेयर करेंगे !तो आनंद आएगा !मेरा इ मेल ये है -: "pitamberdutt.sharma@gmail.com.

No comments:

Post a Comment

"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...