Tuesday, May 16, 2017

"मत टूटने दो मासूम फूलों को,पढ़ जायेंगे,जल्दी क्यों"? - पीताम्बर दत्त शर्मा(स्वतंत्र-टिप्पणीकार)

हाय !! कितना दुखद ये समाचार आया है !दिल बैठा -बैठा सा जा रहा है मेरा ये समाचार सुनकर ही ,लेकिन जिस माता-पिता,भाई-बहन,दादा-दादी,भैया-भाभी,चाचा-चाची,मामा-मामी,बुआ-फूफा और नाना-नानी के सामने दसवीं-बारहवीं के छात्र-छात्रा की लाश पड़ी होगी उन का क्या हाल होगा ?अडोसी-पड़ोसियों के आंसू भी नहीं थम पा रहे होंगे !कल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ने अपने"भांजे-भांजियों"के लिए एक सन्देश भी प्रसारित करवाया था कि "बच्चो ! घबराना मत!अबकी बार अगर सफल नहीं हो पाए तो कोई बात नहीं ! फिर मेहनत करना !अगली बार पास हो जाएंगे अच्छे नंबर लेकर !जीवन एक धारा है ! इसे बहता रहना चाहिए रुकने नहीं देना है हमको इस धारा को" !!
                      लेकिन हाय !! हमारे मध्य-प्रदेश के कई शहरों में 12 नन्हें बच्चों ने घबरा कर ऐसे निर्णय ले लिए जिस से  ना केवल परिवारों बल्कि उनके विद्यालयों और पूरे देश में कोहराम मच गया !रो-रो कर सबका बुरा हाल है सबका !एक "सन्नाटा सा फ़ैल गया है जैसे जीवन में ! कौन,कौन किस-किस को कैसे ढाढस बँधाये ?शब्द ही नहीं मिल रहे !आंसू ही नहीं रुक पा रहे !क्या किया जाए ?क्यों गिरी ये बिजली ? कौन दोषी हैं इस पाप के ?क्या वो स्कूल वाले ?या फिर वही माँ-बाप,जिन्होंने ज्यादा नंबर पाने की चाह में ,आसानी से अपना बुढ़ापा गुज़र जाए,आराम से उनका बच्चा अफसर बनकर अपना जीवन-यापन करे ,इस चाह में उस पर दबाव डाला ?कौन दोषी है ?
                           अफ़सोस ! किसी भारतीय अदालत में तो कोई केस नहीं चलेगा ,लेकिन भगवान् की अदालत में ही इसका निर्णय होगा ! जो दोषी होगा उसे फिर सज़ा मिलेगी ?या फिर ये दुःख सहना ही उनके किसी पिछले जन्म के कुकर्म की सज़ा है ?जो वो भुगत रहे हैं !आज मैं बड़े ही भावुक मन से ये लेख लिख पा रहा हूँ !इस लिए सभी मृत बालकों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए ,परिवार के सदस्यों को ये दुःख सहन करने की परमात्मा शक्ति प्रदान करे !ऐसी कामना करता हूँ ! 
                         


प्रिय "5TH पिल्लर करप्शन किल्लर"नामक ब्लॉग के पाठक मित्रो !सादर प्यारभरा नमस्कार वो ब्लॉग जिसे आप रोजाना पढना,शेयर करना और कोमेंट करना चाहेंगे !
 link -www.pitamberduttsharma.blogspot.com मोबाईल न. + 9414657511.
 इंटरनेट कोड में ये है लिंक :- https://t.co/iCtIR8iZMX.
 मेरा इ मेल ये है -: "pitamberdutt.sharma@gmail.com. आप मेरा साथ पिछले 7 वर्षों से दे रहे हैं !मैं आपका हृदय से आभारी हूँ !आपने ना केवल मेरे और मेरे मित्रों के लेखों को पढ़ा,बल्कि उसे अपने मित्रों संग शेयर भी किया ,पसंद किया और उस पर जाकर कॉमेंट भी लिखे ! जो मेरे लिए ना केवल अनमोल थे , साथ ही साथ मेरे लिए वो प्रेरणादायी भी थे !कई मित्रों ने तो मेरा ब्लॉग ज्वाइन भी किया है !कई समाचार पत्रों-पत्रिकाओं ने मेरे लेख प्रकाशित भी किये ! उनका भी मैं आभारी हूँ !आप सबकी इस अनुकम्पा से ही आज मेरे पाठकों की संख्या अगर मैं सभी माध्यमों की जोड़ दूँ तो तक़रीबन दस लाख(१०,०००००. )बनती है !क्योंकि ब्लॉग पर लिखी सामग्री गूगल+,ट्वीटर,फेसबुक और उसके कई ग्रुपों के साथ साथ मेरे पेज पर भी डाली जाती है !
                         मैं बड़े ही गर्व के साथ कह सकता हूँ की मेरे ब्लॉग को माननीय प्रधानमंत्री श्री मान नरेंद्र मोदी जी और माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा श्री मान अमित शाह जी भी पढ़ते हैं !उन्होंने मुझे ट्वीट भी किये हैं ! कई बड़े लेखक और लेखिकाएं,कवी-कवित्रियाँ और स्वतंत्र टिप्पणीकार आदि भी जुड़े हैं जिससे मैं अपने आपको गौरवान्वित समझता हूँ !आशा करता हूँ की आप सबका मुझे और ज्यादा साथ मिलेगा ! फिर मैं बारी बारी से आप सबके शहरों में आकर मिलूंगा !आपसे और ज्यादा सीखूंगा !
                           आप सबसे अनुरोध है कि आप मुझे अपने अनमोल सुझाव देते रहा करें !
                               सधन्यवाद !
                                                  आपका अपना ,
                                                   पीताम्बर दत्त शर्मा,
                                                     सूरतगढ़ !

No comments:

Post a Comment

प्रेस की स्वतंत्रता के नाम पर अपराधियों के संरक्षण का अड्डा बनता जा रहा है प्रेस क्लब! प्रेस क्लब (PCI) की कुछ प्रेसवार्ताओं, बैठकों, गत...