Wednesday, February 22, 2012

" फिफ्थ पिल्लर - करप्शन किल्लर , 5TH PILLAR CORROUPTION KILLER "!


सभी भ्रष्टाचारी और भ्रष्टाचार का विरोध करने वाले " इमानदार मित्रो , सबको इमानदारी से भरा नमस्कार !! मैं लग - भग पांच माह से इस " 5TH PILLAR CORROPTION KILLER " नामक ब्लॉग और फेस - बुक के ग्रुप में विभिन्न विषयों पर १५० लेख लिख चूका  हूँ । इस ग्रुप और ब्लॉग की स्थापना मेरी बेटी सुश्री सुकृति शर्मा ने की या करवाई , क्योंकि मैं लिखना तो कुछ - कुछ जानता था लेकिन कम्पूटर चलाना नहीं के बराबर जानता था , उसने ही मेरा ब्लॉग, ग्रुप और फेसबुक डीसाइन की । नामकरण भी उसी ने किया । हमारे टाइम में तो कोई छोटा अखबार भी हमारा लेख प्रकाशित कर देता था तो हम लोगों को बुला बुला कर ये खबर सुनाते थे । बड़े अखबार में प्रकाशित हो जाने पर तो " दीवाली " मनाई जाती थी !! ये अलग बात है की उस समय बड़े अखबार के पाठकों की संख्या भी मात्र सेंकडों में ही होती थी । अब तो हमारी लेखनी हज़ारों लोगों तलक मिनट में पंहुच जाती है और पाठकों के विचार और अनमोल टिप्पणियाँ भी तुरंत मिल जाती हैं ।। अब हमारी गिनती भी बड़े लेखकों में होने लगी है जी , बड़े बड़े विद्वान हमारे लिखे लेखों पर अपने अनमोल विचार प्रकट करते हैं जिनमे सर्व श्री राजू मिश्रा , हरी ओउम जी कागद , श्री मति मीनाक्षी पन्त , अजित जी गुप्ता , श्री मति डॉ. कविता किरण , दिव्या शुक्ल , शिव ओझा , राजेन्द्र उपाध्याय , शिव सारदा , राजेश चढ्ढा , नीरज शर्मा , आदि कई मशहूर विचारक ,कवी ,शायर और लेखक शामिल हैं ।। कई मित्रों ने तो अपने शहर में आने हेतु बुलावा भी भेजा । मैं मेरे सभी प्रशंसकों का तहे - दिल से आभार प्रकट करता हूँ !! विदेशी पाठक जो अमेरिका , इटली , इरान , पाकिस्तान , बांगला देश , ब्रिटेन और जापान आदि से हैं उनका तो मैं ज्यादा आभारी हूँ क्योंकि भाषा की मुश्किल के बावजूद उन्होंने न केवल लेख पढ़े बल्कि टिप्प्न्नी भी की !! www.pitamberduttsharma.blogspot.com. लोग करने पर ये ब्लॉग गूगेल पर देखा और पढ़ा जा सकता है !! मेरे बारे में पूरी जानकारी भी इसकी प्रोफाइल में लिखी हुई है ! इस ब्लॉग के उद्देश्य भी लिखे गए हैं !! मेरी बेटी सुकृति शर्मा भी पत्रकारिता में एम्.ऐ. पटिआला यनिवर्सिटी से कर रही है ! इसके साथ - साथ वो ई टी.वि. राजस्थान , राजस्थान पत्रिका और t.v.24. में ट्रेनिंग के रूप में काम कर चुकी है ! वो मेरी इस काम में आज भी पूरी मदद करती है ! हम तो बड़े पत्रकार बन नहीं सके अब मेरी बेटी मेरे सपनो को पूरा कर रही है ! मुझे उस पर " नाज़ " है !! आप कहेंगे की आज इसे क्या हो गया ...??? ये भ्रष्टाचार के किसी विषय पर लिखने की बजाय , अपने ब्लॉग , अपनी और अपनी बेटी की जानकारी क्यों देने लग गया ??? तो सर बात ये है की जब देश में चुनाव - आयोग तक मजबूर है तो मैं कौन सा बड़ा " तीस मार खान " हूँ , जो मेरे लेख लिखने भर से , देश से भ्रष्टाचार समाप्त हो जाएगा ???? ये देश तो नेताओं की मर्ज़ी से ही चला था ,चला है और चलेगा !! उन्होंने देश के नागरिकों के ऊपर बहुत बड़ा एहसान किया है जो देश को चलाया है ...??? अब उनके बच्चे और फिर उनके भी आगे वाले बच्चे हम पर ये उपकार करेंगे हम कौन होते हैं जो उनको ये एहसान करने से रोक सकें ?? वो चाहे ये काम इमानदारी से करें या बे-इमानी से ये उनकी मर्ज़ी ! वो चाहे " चारा - घोटाला " करें या पेट्रोल पम्प अपनी मर्ज़ी से बाँटें , वो चाहे बोफोर्स घोटाला करें या 2g. घोटाला ...., हमारी यानी आम आदमी की कीमत तो उन्होंने मात्र 32/- रूपये  दाल दी है ....????, लाखों - करोड़ों तो सिर्फ माननीय सुखराम जी ,सुरेश कलमाड़ी जी या राजा  जी को ही चाहिए !! हम जैसे आम आदमी को तो बस राम - राम जपना चाहिए ,सो इसलिए सारे बोलो :--- जय ...श्री...राम ...!!....हो गया काम !! हम जैसे न जाने कितने आये और चले गए ..भ्रष्टाचार -- बे-इमानी -- लड़ाई , अप हरण मक्कारी सतयुग में भी थी , त्रेता में भी थी ,द्वापर में भी और आज कलयुग में भी विराजमान है तो निश्चित रूप से प्रलय आने तक रहे गी । यही परमात्मा की " माया है जी !! जाते जाते एक फ़िल्मी भजन याद आ रहा है ... " राम चन्द्र कह गए सियासे , ऐसा कलयुग आएगा ! हंस चुगेगा दाना - तिनका , कौआ मोती खायेगा ......हे सिये............!!!!!!!!!! 

No comments:

Post a Comment

"क्या तीन तलाक़ से तलाक़ हो पायेगा"? - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)

ना जाने किसकी प्रेरणा मुस्लिम महिलाओं को मिली , तीन तलाक़ से पीड़ित कई महिलाएं न्यायालय की शरण में चली गयीं !पीड़ित तो वे कई  समस्याओं से भी व...