" क़त्ल कर देते हैं और मांग लेंगे हम भी माफ़ी "? ? ?

सभी कातिल मित्रों को प्यार भरा नमस्कार !! आप कन्हेगे यार ये क्या बात हुई , शरीफ लोग तो कातिलों की गली से भी गुज़रते हुए डरते हैं और आप एक लेखक हो कर कातिलों को प्यार भरा नमस्कार कहते हो ??? तो सभी प्रकार के मित्रो सुनो !! " क़त्ल " सिर्फ चक्कू - छुरियों या बंदूकों से ही होता हो , ऐसा नहीं है ! खूबसूरत लोग तो " नज़रों " से ही क़त्ल कर देते हैं , है की नहीं ??? ऐसे कातिल मित्रों को तो " प्यार " भरा सलाम कहना ही पड़ता है !!तो चलो आज के विषय पर आते हैं .......पिछले दिनों सलमान खुर्शीद साहिब से एक भूल हो गयी , चुनाव - आयोग ने राष्ट्रपति जी को पात्र लिखा , महामहिम जी ने पी.एम्. साहिब को पत्र " रेफर " कर दिया , पी. एम्. साहिब के फोजी लोग बोले :- " ये कोई ऐसी गलती नहीं है जिसके लिए इतनी हाय तोबा मचे " ।। परन्तु फिर भी जब मामला सुलटत। नज़र नहीं आया क्योंकि विपक्ष और मीडिया कुछ ज्यादा ही शोर मचा रहे थे तो हमारे देश के क़ानून मंत्री जी ने " क़ानून तोड़ने की गलती करने पर, चुनाव आयोग से माफ़ी मांग ली "। अब इतनी हिम्मत तो चुनाव - आयोग में है नहीं की वो मंत्री जी को माफ़ न करके कोई छोटी - बड़ी सज़ा सुना दे ....???? जय हो हमारे संविधान की !! और" महा - महिम " ....उनको भी पता नहीं क्या हुआ ?? कोई बयान तक भी देना उचित नहीं समझा इस घटना क्रम पर ...??? " दूध में पड़ी मख्खी की तरह .........!! ?? दो दिन बाद ही दुसरे मंत्री जी बोले " हम भी गलती कर देते हैं और हम भी माफ़ी मांग लेंगे चुनाव - आयोग से " महा - महिम " जी का फिर नाम पिक्चर में नहीं है यानी उनसे तो कोई दर भी नहीं है क्यों ??? तो आज हमने भी सोच लिया की बोल देते हैं की .." क़त्ल कर देते हैं और मांग लेंगे हम भी माफ़ी "? ? ? लेकिन हमारे पिता जी बोले :- " अरे बुध्धू !! किसी भूल में मत रहना , तू अगर कोई छोटी सी भूल भी करेगा तो इस " क़ानून के छोटे से सिपाही के हाथ भी इतने लम्बे हो जायेंगे की तू अगर पाताल में भी जाकर पनाह ले लेगा तो भी तुझे सज़ा मिल जाएगी " ????? ये सुविधा केवल मंत्रियों हेतु ही है !! अपनी ओकात मत भूल समझा !! मैं बोला हाँ पित।  जी !! समझ गया !!  तो मित्रो मैं तो समझ गया और आप भी समझ लो !! .... ये क़ानून , अंग्रेजों द्वारा बनाये गए क़ानून की थोड़े बहुत बदलाव के साथ " फोटो - कापी " ही है ।। इस लिए आप भी कभी मंत्री जी की देखा - देखि न कर देना !!.....अब जय राम जी की तो बोलना ही पड़ेगा .....तो बोलिए ....जय --- श्री --- राम !!!! ज्यदा जानकारी हेतु  लाग इन करें :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com. या फोन करें ०९४१४६५७५११.पर डायल  करें । अपने अनमोल विचार भी ब्लाग पर अवश्य लिखें !! धन्यवाद !!  

Comments

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????