Wednesday, June 19, 2013

" फिफ्थ पिल्लर-करप्शन किल्लर की सूरतगढ़ विधायक हेतु सर्वे-रिपोर्ट,वसुंधरा राजे जी ( प्रदेशाध्यक्ष -भाजपा राजस्थान )को पेश "..!!

मेरे प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !!
जैसा की आपको विदित है कि 5th pillar corruption killer की टीम ने 17फ़रवरी 2013से 30अप्रैल 2013 तक नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा के चरण स्पर्श कर "योग्य एवं लोकप्रिय विधायक चुनने हेतु " पूरे सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में एक कार्यक्रम चलाया था , जिसका नाम " सर्वे व मतदाता जागरूकता अभियान " था !!
            इस अभियान को सूरतगढ़ की जनता और समाजसेवी संगठनों ने भरपूर सहयोग दिया था !!सर्वे के अंत में एक कार्यक्रम भी रख्खा गया था ,जिसमे विधायक पद के प्रमुख दावेदारों से सवाल जवाब भी किये गये थे !! भारी संख्या (5000)लोगों ने इसमें भाग लिया था !! बारह सदस्यीय टीम में 3पत्रकार , 2 वकील ,1डॉक्टर और 4 समाजसेवी शामिल थे ! जिन्होंने पूरे शहर और 38 पंचायतों का दौरा कर सर्वे के प्रपत्र बांटे थे जिनको भरकर 5000लोगों ने हमें वापिस किया था जिससे ये नतीजे वाली रिपोर्ट तैयार हुई थी !! उस समय जनता को हमने ये सर्वे रिपोर्ट जाहिर कर दी थी !जिसे शहर के सभी लोगों ने सही बताया था !!
               उसी सर्वे रिपोर्ट को ब्लॉग के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे जी को सूरतगढ़ आगमन पर भेंट की गयी !! उन्होंने सर्वे रिपोर्ट के आवरण को हटा कर ध्यान से देखा और चार लाईने पढ़कर अपने सुरक्षा कर्मी को पकड़ा दी !!सूरतगढ़ की सभा समाप्त होने के पश्चात वे s.p.s.स्कूल अमरपुरा में रुकीं , वंहा फिर उन्होंने ये रिपोर्ट सारी पढ़ी और इंटरनेट सोशियल मिडिया ब्लॉग प्रेस " फिफ्थ पिलर कोरप्शन किल्लर " के संयोजक को अपना स्नेह से भरा आशीर्वाद दिया और टीम द्वारा किये गए कार्य की सराहना की !!
            भविष्य में भी ऐसे सर्वे और राजनितिक परिचर्चा वाले कार्यक्रम जन सहयोग से करवाए जायेंगे !!
                         आपका आभारी 
                    पीताम्बर दत्त शर्मा , (संयोजक )
              " 5th pillar corruption killer "
                      9414657511




No comments:

Post a Comment

" परेशान है हर कोई " क्यों ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

भारत ,जिसकी संस्कृति में ही ये सिखाया जाता है कि अपने आप से ज्यादा दूसरों की चिंता करो ! दूसरों पर दया करो !अपने हिस्से के भोजन में से किसी...