"दायरा हमारे पेट और R.T.I.का बढ़ता ही जा रहा है ".....!!!!

" बड़े दायरे वाले " सभी सखियों और सखाओं को मेरा हार्दिक अभिनन्दन व प्यार !!
          " बड़े " तो बड़े ही होते हैं जी,चाहे वो उम्र में बड़े हों या शारीर में, ज्ञान में बड़े हों या धन से, इस तरह के सभी प्राणियों को तो प्रणाम करना ही पड़ता है जी,नहीं तो ये लोग अपने प्रभाव से हमें झुकने पर मजबूर कर देंगे !
           आज एक सुखद समाचार प्राप्त हुआ कि " R.T.I." जी का दायरा सुचना आयोग जी ने बढ़ा दिया है !! किसके कहने से ये पता नहीं चल पाया है ???अब सभी राजनितिक पार्टियां R.T.I.के अधीन आ गयीं हैं !! यानी पार्टी का आम कार्यकर्त्ता अपने दिए हुए चंदे का अब अपने नेताओं से हिसाब भी मांग सकेगा !!
              काश !! हमारी क्रिकेट कम्पनी भी इस R.T.I.के दायरे में आ जाती तो भारत की सरकार भी B.C.C.I.या I.C.C.I.आदि से पूछ पाती कि कितना पैसा कंहा से आ और कंहा को जा रहा है !! लेकिन जो घटनाक्रम पिछले बीस दिनों से चल रहा है, उससे तो यही समझ में आ रहा है कि B.C.C.I. को ना तो हमारी दिल्ली और मुम्बई पुलिस का कोई डर है और न ही किसी मंत्री या सरकार का !!
              एक तरफ तो श्री नारायण मूर्ति जी हैं जो इनफ़ोसिस कम्पनी को अपनी ओलाद मानते हुए मात्र एक रूपये मासिक वेतन पर काम कर रहे हैं और दूसरी तरफ श्री निवासन जी हैं जिन्होंने साबित कर दिया है कि इस देश में ना तो कोई सिद्धांत हैं और ना ही कोई मुझे मेरी मर्ज़ी के बिना मुझे पदच्युत कर सकता है !!
              अब तो एक ही हथियार बचा है भारत की जनता के पास " सिद्धांतों की प्रतिष्ठा " एक बार फिरसे स्थापित करने हेतु,और वो ये कि ......
 अब अपने A.C.घरों,कार्यालयों आदि में बैठ कर किसी व्यक्ति,पार्टी,सरकार और घटना की निन्दा,बहस,आरोप लगाना और तू-तू मैं-मैं करना छोड़ ,जनता बाहर निकल आये , आलस्य प्रदान करने वाले या आरामदायक वस्तुओं का त्याग करे और आने वाले चुनावो मे अपने आपको नेताओं द्वारा तैयार किये गए बन्धनों से मुक्त करे, जैसे पार्टी कार्यकर्त्ता होने का बंधन, जातीय,धर्म,आरक्षण,और इलाकावाद का बंधन आदि आदि !! 


        चुने हम किसी ऐसे व्यक्ति को जो एक बार फिर से भारत का नव निर्माण करने का प्रण ले !!!!
              अगर फिर भी कुछ ना होता दिखाई दे तो फिर अगले चुनावों में किसी को चुनना नहीं ....फिर तो मैं करूँगा भारत का नव निर्माण !!
               क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है , इस विषय पर ???????
            " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " THE BLOG , PLZ OPEN IT , READ IT, SHARE IT AND GIVE YOURS VELUABLE COMMENTS ON IT DAILY !! THE LINK IS -: www.pitamberduttsharma.blogspot.com.प्रिय सखियो और सखाओ , सादर नमस्कार !! !CURRENT- AFFAIRES WRITER , " 5TH PILLAR CORROUPTION .KILLER" इंटरनेट के सभी माध्यमों पर लिखते - पढ़ते कब 4वर्ष पूरे हो गए पता ही नहीं चला !! आप मेरे ब्लॉग "5th pillar corruption killer"जिसका लिंक ये है :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com. को इतना महत्त्व दे रहे हैं कि मैं आप के प्यार में अभिभूत हुआ पाता हूँ अपने आपको !! मैं अपने मित्रों की रचनाएँ भी पसंद आने पर आप सबके संग ब्लॉग के साथ साथ गूगल +,मेरे पेज़, फेसबुक और उसके कई ग्रुप्स में भी शेयर करता हूँ !! जिन्हें आप सेंकडों की गिनती में रोज़ाना पढ़ते है , लाईक करते हैं और अपने अनमोल कोमेन्ट्स भी लिखते हैं !! जिन्हें मैं आपके आशीर्वाद के रूप ग्रहण कर दिशा निर्देश पाता हूँ !! मुझे आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आपका प्यार ता उम्र मुझे इसी प्रकार से मिलता रहेगा !!
हम इस अपने ब्लॉग में आन - लाईन चेनेल और न्यूज़ वेबसाइट भी शुरू करना चाहते हैं !! इस कार्य में भागिदार बनने के इच्छुक मित्र हमसे शीघ्र संपर्क करें !
पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , सूरतगढ़ . फोन न. -01509-222768,मो.+919414657511.
आप सबको ढेर सारी शुभकामनाएं !!सदा प्रसन्न रहें !! नए मित्र शीघ्र अपनी फ्रेण्ड-रिक्वेस्ट भेजें 

Comments

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा कल बुधवार (05-06-2013) के "योगदान" चर्चा मंचःअंक-1266 पर भी होगी!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. dr. sahib ji saadar namaskar !! aapka aashirwaad mujhe milta hi rahta hai ji !! tabhi to aapka sneh paakar mera hosla badhta hai ,or main naye vishya par likh paataa hoon. koi kami bhi awshya bataya kijiye jisko main aapke saath baant saku or sudhar sakun aapke disha nirdesh se !! thanks !!

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????