Tuesday, July 14, 2015

माननीय नेता जी ! मैं "गधा" जाती से हूँ ,हमारी भी संख्या करोड़ों में है !- पीताम्बर दत्त शर्मा ( लेखक-विश्लेषक) - 9414657511

कल भाजपा के अध्यक्ष जी ने कहा कि भजपा ने पहला obc.प्रधानमंत्री और सबसे ज्यादा मुख्यमंत्री इस देश को दिए हैं ! माननीय नेता जी ने शायद ये बयान बिहार और उत्तर प्रदेश के भविष्य के चुनावों के मद्देनज़र दिया है !उन्होंने सोचा होगा कि obc.जाती के वोटरों की गिनती इन प्रदेशों में ज्यादा है !इससे वो सब खुश हो जायेंगे और इस तरह उन्हें ज्यादा वोट मिल जायेंगे ! ऐसे तो नेता जी देश में गधों की भी संख्या बहुत ज्यादा है  !  तो क्या आप उनको भी वोटर बना  देंेगे ? उनमे से भी किसी को इस देश का प्रधानमंत्री बना दोगे ??किसी भी पद को पाने का अधिकारी सिर्फ वो होता है जो उस पद के अनुसार ज्ञान रखता हो या उस पद के समकक्ष कोई डिग्री धारक हो ! कोई रंग,जाती,या धर्म देख कर किसी को चपड़ासी भी बनाया जा सकता है क्या ??
                         लेकिन अमित जी आपको शायद ये आभास नहीं रहा कि आप उस भाजपा के माननीय अध्यक्ष हैं जिसका एक अदना सा कार्यकर्त्ता बड़े से बड़े नेता के भी गलत होने पर कान तक मरोड़ देता है !इतना लोकतंत्र है हमारी भाजपा में ! पिछले कुछ समय से पार्टी को एक कम्पनी बनाने हेतु प्रयास चल रहे हैं ! जिनको कामयाब नहीं होने दिया जायेगा ! ये जो हर छोटे बड़े काम हेतु फार्मूला चल रहा है ना कि स्टेज लगाओ,माला पहनो-पहनाओ स्वागत करवाओ और भाषण पिलाओ और चल दो ! बाकी का काम अगले दिन मीडिया कर देगा उनको भी नाश्ता करा दो !ये सब बंद हो जायेगा जल्दी ही ! बता देता हूँ आपको !ईमानदारी से सब हेतु काम करना पड़ेगा !पैसे का हिसाब देना पडेगा ! और चंदे को किफ़ायत से खर्च करना पडेगा ! 
                      देश के आजाद होने पर भारत के संविधान-निर्माताओं ने पिछड़े लोगों के उथ्थान हेतु चंद वर्षों के लिए आरक्षण का फार्मूला सुझाया था लेकिन विश्वनाथ प्रताप सिंह जी ने मंडल का कमंडल ऐसा खोला की सब वोट बैंक की आस में आरक्षण देते ही चले गए ! और ये इस हद तक बढ़ गया कि ये देश हेतु कैंसर बन गया ! दान करने वाले महान भारतीय आज दान लेने वाले हो गए !पहले तो कांग्रेस और समाजवादी लोग जातिवाद भड़काते थे तो भाजपा और इसके साथी दल विरोध किया करते थे चाहे वो दिखावटी ही था !
                              लेकिन अमित जी ने ये बयान पार्टी के मंच से देकर बहुत बड़ी गलती कर दी है ! जनता अब उन्हें 25 साल तो क्या अगले 5 साल शासन करने हेतु देने में ही कत्राएगी ! और हम जैसे भाजपा के कार्यकर्त्ता तो भाजपा के सभी स्तर के उम्मीदवारों को हरगिज़ भी जिताने में पार्टी की कोई मदद नहीं करेंगे !और ये संभव भी नहीं है !
                            आपका क्या कहना है मित्रो ! आप अपने अनमोल विचारों को मेरे ब्लॉग पर आकर लिखने का कष्ट अवश्य करें ! और अगर आपको मेरे ये विचार पसंद आएं तो इस लेख को शेयर भी करें ! सधन्यवाद !
                                 आपको बरसात के सुहाने मौसम की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाइयां ! मित्रो !!"5TH PILLAR CORRUPTION KILLER",नामक ब्लॉग रोज़ाना अवश्य पढ़ें,जिसका लिंक -www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !इसे अपने मित्रों संग शेयर करें और अपने अनमोल विचार भी हमें अवश्य लिख कर भेजें !इसकी सामग्री आपको फेसबुक,गूगल+,पेज और कई ग्रुप्स में भी मिल जाएगी !इसे आप एक समाचार पत्र की तरह से ही पढ़ें !हमारी इ-मेल ईद ये है - pitamberdutt.sharma@gmail.com. f.b.id.-www.facebook.com/pitamberduttsharma.7 . आप का जीवन खुशियों से भरा रहे !इस ख़ुशी के अवसर पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !!
आपका अपना - पीताम्बर दत्त शर्मा -(लेखक-विश्लेषक), मोबाईल नंबर - 9414657511 , सूरतगढ़,पिनकोड -335804 ,जिला श्री गंगानगर , राजस्थान ,भारत !


                                    

                           

3 comments:

  1. Itna kyo likhte he hum ? Who cares after all ? Kisi ko koi fark pad raha he kya ? Poora Hindustan ek behayaai ka gilaaf od ke baitha hai sahab ...samvaden hin desh kaha pahunch raha hai aakhir...? Fantasies me choor upper classes , bread butter ki jugaad me hairaan pareshaan middle class, daroo aur blanket pe apna iman qurbaan kar dene wali lower class , where are we heading for...? Is it disintegration or instability ....?

    ReplyDelete
  2. Itna kyo likhte he hum ? Who cares after all ? Kisi ko koi fark pad raha he kya ? Poora Hindustan ek behayaai ka gilaaf od ke baitha hai sahab ...samvaden hin desh kaha pahunch raha hai aakhir...? Fantasies me choor upper classes , bread butter ki jugaad me hairaan pareshaan middle class, daroo aur blanket pe apna iman qurbaan kar dene wali lower class , where are we heading for...? Is it disintegration or instability ....?

    ReplyDelete

"कुछ नहीं ,है भाता ,जब रोग ये लग जाता".....!!! - पीताम्बर दत्त शर्मा (स्वतंत्र टिप्पणीकार) मो.न.+ 9414657511

वैसे तो मित्रो,! सभी रोग बुरे होते हैं !लेकिन कुछ रोग तो हमारा पीछा छोड़ देते हैं और कुछ आदमी की मौत तलक साथ देते हैं !पुराने जमाने में ऐसे ...