या........इलाहा इल्लाह !!! कातिल भी ‪#‎मुसलमान‬, और मकतूल भी #मुसलमान.!!!

या अल्लाह
सोचता हूँ कि ‪#‎परिन्दे‬ क्यू नही आते,
‪#‎कंकर‬ क्यू नही गिराते.
देखता हूँ कि ‪#‎बन्दूक‬ उठती है,गोली चलती है,
चलाने वाले की आवाज़ आती है.
‪#‎ला_इलाहा_इल्लल्लाह‬...
‪#‎गोली‬ जिस्म के पार हो जाती है,
मरने वाले की सदा आती है.
#ला_इलाहा_इल्लल्लाह....
परिंदे क्यू नही आते,
कंकर क्यू नही गिराते.
जब ‪#‎कातिल‬ का भी वही ‪#‎नारा‬,
जो ‪#‎मकतूल‬ का नारा.
कातिल का भी वही ‪#‎काबा‬,
जो मकतूल का काबा.
कातिल का भी वही ‪#‎रब‬,
जो मकतूल का रब.
कातिल का भी वही ‪#‎मज़हब‬,
जो मकतूल का मज़हब.
कातिल का भी वही ‪#‎ईमान‬,
जो मकतूल का ईमान.
कातिल का भी वही ‪#‎कुरान‬,
जो मकतूल का कुरान.
कातिल भी ‪#‎मुसलमान‬,
और मकतूल भी #मुसलमान.
कातिल कहलाये ‪#‎मुंसिफ‬,
और मकतूल ‪#‎शहीद‬.
तो #परिन्दे किसकी मदद को आयें,
#कातिल की या #मकतूल की.
#कंकर किस पर गिराये,
#कातिल पर या #मकतूल पर.
हाँ हाँ,,
परिंदे इसीलिए नही आते,
कंकर नही गिराते..
क्युँकि,
‪#‎ज़ालिम‬ भी #मुसलमान,
और ‪#‎मज़लूम‬ भी #मुसलमान.....



                                                       आइये मित्रो ! आपका स्वागत है !आपके लिए ढेर सारी शुभकामनाएं ! कृपया स्वीकार करें !फिफ्थ पिल्लर करप्शन किल्लर नामक ब्लॉग में जाएँ ! इसे पढ़िए , अपने मित्रों को भी पढ़ाइये शेयर करके और अपने अनमोल कमेंट्स भी लिखिए इस लिंक पर जाकरwww.pitmberduttsharma.blogspot.com. है !इसे आप एक समाचार पत्र की तरह से ही पढ़ें !हमारी इ-मेल आई. डी. ये है - pitamberdutt.sharma@gmail.com. f.b.id.-www.facebook.com/pitamberduttsharma.7 . आप का जीवन खुशियों से भरा रहे !इस ख़ुशी के अवसर पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !!
आपका अपना - पीताम्बर दत्त शर्मा -(लेखक-विश्लेषक), मोबाईल नंबर - 9414657511 , सूरतगढ़,पिनकोड -335804 ,जिला श्री गंगानगर , राजस्थान ,भारत ! इस पर लिखे हुए लेख आपको मेरे पेज,ग्रुप्स और फेसबुक पर भी पढ़ने को मिल जायेंगे ! धन्यवाद ! आपका अपना - पीताम्बर दत्त शर्मा , ( लेखक-विश्लेषक) मो. न. - 9414657511      

Comments

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (28-09-2015) को "बढ़ते पंडाल घटती श्रद्धा" (चर्चा अंक-2112) (चर्चा अंक-2109) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    अनन्त चतुर्दशी की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????