Saturday, March 16, 2013

" इंडियन पत्रकार, हो गए हैं…पवित्र - पापी "……??

सरकारी अफसर की डायरी का पन्ना : ये है महीना पाने वाले पत्रकारों की लिस्ट



छत्तीसगढ़ में एक कोरिया जिला है. वहां के एक सरकारी अफसर की डायरी का एक पन्ना मनीष सोनी नामक एक नौजवान, जो कि खुद पत्रकार भी है, ने चोरी से फाड़ लिया और उसे भड़ास पर डाल दिया है. उस डायरी के पन्ने को यहां आपके सामने पेश किया जा रहा है, जो नीचे है.

सरकारी अफसर के डायरी का पन्ना और मनीष सोनी लिखित अपनी भड़ास इस प्रकार है...
...कोरिया जिले के कुछ कथित चोट्टे किस्म के "खर पतवारों" की ये वो लिस्ट है जिसे जिले के एक सरकारी विभाग के डाइरेक्टर ने अपने याददाश्त के लिए (कि उन्होंने 500 रुपये और 1000 हजार रुपये किसे-किसे दिया) अपनी निजी डायरी में लिख रखा था. गलती से डायरी को मैंने चुरा लिया. चोरी इसलिए की ताकि रायपुर में बैठे तमाम समाचार चैनलों के स्टेट हेड और कुछ ऐसे भी स्टेट स्टोपर जिन्होंने अपनी पॉलिसी के तहत चैनल की ''आईडी' 'बेची है, अब उन्हें भी पता चले की उनके शागिर्द आईडी खरीद कर क्या कर रहे हैं. प्रदेश की राजधानी में बैठे ब्यूरो से मेरा आग्रह है कि यहाँ के भोले भाले ग्रामीणों को पत्रकार बनाने के नाम पे झांसा देकर उन्हें इस तरह से भीख मांगने को मजबूर न करें. या उन्हें इतनी ट्रेनिग दें कि कम से कम मांगने के बाद मिलने वाली रकम इनके जमीर को जिन्दा रखने में मददगार हो. डायरी के पन्ने में लाल घेरा इलेक्ट्रानिक मीडिया के लिए है और पीले घेरे में कैद हैं यहां के बड़े-बड़े अखबार के जिला प्रतिनिधि.
 — !!!!
                                     
                                       क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com. " 5th pillar corruption killer " ब्लॉग सबका है …. !!!
प्रिय ब्लोगर मित्रो,सादर नमस्कार !! 

सोशियल मिडिया में लेखन कार्य करने वाले सभी मित्रों से प्रार्थना है कि वो कभी भी हमारे लेखों को अपने ब्लॉग पर शेयर कर सकते हैं और अपना लेख हमारे ब्लॉग पर प्रकाशित भी कर सकते हैं !! इसे चोरी नहीं कहा जाना चाहिए और नाही इसे चोरी मानना चाहिए !! क्योंकि हम लोग समाज की भलाई हेतु ही तो लिखते हैं !! अगर कोई आपके लेख को कोपी कर पेस्ट करता है आपके ही नाम सहित तो वो चोरी नहीं होती लेकिन अगर कोई आपके लेख को आगे पीछे करके अपने नाम से कंही लिखता है तो वो चोरी होती है !!
हम तो पहले भी सबको निमंत्रण दे चुके हैं और आज भी सबको निमंत्रण दे रहे हैं कि आइये हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है जितनी चाहें अपनी रचनाएँ प्रकाशित करवाएं……बिलकुल मुफ्त लेकिन शर्त सिर्फ ये है कि विषय समाज की भलायी वाला हो बस !!!!! क्योंकि…….
" जो तेरा है - वो मेरा…और जो मेरा है वो तेरा….!!

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511

No comments:

Post a Comment

2014 की कॉरपोरेट फंडिग ने बदल दी है देश की सियासत !!

चुनाव की चकाचौंध भरी रंगत 2014 के लोकसभा चुनाव की है। और क्या चुनाव के इस हंगामे के पीछे कारपोरेट का ही पैसा रहा। क्योंकि पहली बार एडीआर न...