Saturday, September 7, 2013

" ज्ञान बांटते चलो - माल अपनों को खिलाते चलो , प्रेम से मूर्ख बनाते चलो " ! ! !

सभी " सन्त " जनों को मेरा हार्दिक प्रणाम !! मानव जाति के हितैषियों को भी मेरा सादर नमस्कार !! कृपया स्वीकारने का कष्ट करें !!
                         मुझे आज ये महसूस हो रहा है कि हमारे देश और हिन्दु सभ्यता के दुश्मन कामयाब हो गये हैं , हमें बर्बाद करने में !! हम चाहे कितना भी अपने आप को कहते फिरें कि हम " शेर-बहादुर " हैं , ग्यानी हैं , अर्थ-शास्त्री हैं , चतुर हैं और कूट्नितिग्य हैं , लेकिन हमारे दुश्मनों ने ये सिद्ध कर दिया है की हम बेवकूफ , डरपोक , सेक्स के भूखे , लालची , बेईमान और अपनों को ही धोखा देने वाले नीच प्रक्रति के आदि मानव हैं !!
                        पिछले सत्तर सालों से हमारे भारत के दुश्मन , हमें हराने में लगे हुए थे !! वैसे तो लूट - खसूट का काम पांच सौ सालों से मुगलों और अंग्रेजों ने शुरू कर ही रख्खा था लेकिन हमारी संस्कृति को दूषित करने का काम , हमारी नैतिकता को समाप्त करने का काम और हमारी आध्यात्मिकता की शक्ति का ह्नास करने का काम हमारे दुश्मनों ने बाखूबी से पूरा कर लिया है !! इस कार्य को पूरा करने मैं हमारे ही देशवासियों ने एक अहम् भूमिका निभाई है !! 


                      हम वासना के गुलाम बनकर रह गये हैं !! हवस के हम पुजारी बन गये हैं !! बाप बेटा अपनी बहन और पुत्री से सेक्स करता नज़र आ रहा है जिस में  सहयोग उसकी माँ कर रही है !! संत लोग देह शोषण के इल्जामों में फंसते नज़र आ रहे हैं !! फंसे हुए संत के खिलाफ अब और महिलाओं ने भी आरोप लगाया है कि उन पर भी अत्याचार हुआ है !! जो अब तलक चुप बैठी रहीं क्या वो दोषी नहीं हैं ?? जिस प्रकार से रिश्वत लेने वाला भी दोषी होता है ,और देने वाला भी दोषी होता है उसी तरह क्या लम्बे देह शोसन के केसों में भी महिला-पुरुष दोनों को सज़ा नहीं मिलनी चाहिए ???
                       कैसे सुधरेगा ये देश और इसकी संस्कृति !! कैसे बचेगी इसकी आन-बाण और शान ??
कैसे होगा भारतवासी पुनः सभ्य - शालीन और गुणवान ?? क्या आजके किसी भी राजनितिक दल को " वोट " दे देने से ये संभव है ????  क्या संसद द्वारा दस-बीस संशोधन कर देने से ये संभव है ??? क्या मौजूदा नेत्रित्व , न्याय-व्यवस्था ,और क़ानून व्यवस्था जो केवल अमीरों और बिकाऊ मिडिया के सहारे से चलती है पार लगा पायेगी हमारी नैया को ???
                      सोचिये !! विचार कीजिये !! गहन विचार कीजिये !! नेताओं द्वारा खोदे गये , जातिवाद , धार्मिक उन्माद , इलाकावाद और पार्टियों की निष्ठा रुपी खड्डों से अपने आपको बाहर निकालिए !!  कीजिये एक नयी क्रान्ति की शुरुआत 1857 की तर्ज़ पर !! बिलकुल नया  नेत्रित्व हो , नयी योजना हो , पूरा भारत साथ हो !! आज के कंसों का नाश हो !! कोई न्य शूरवीर भारत की सत्ता को संभाले !! नयी सभी व्यवस्थाएं बनें !! और फिर से हमारा हिंदुस्तान सोने की चिड़िया और विश्व - विजेता बने !! आमीन !!
             मेरे साथ सब मिलकर कहिये :-
धर्म की जय हो !! अधर्म का नाश हो !! प्राणियों में सद्भावना हो !! विश्व का कल्याण हो !! हर - हर - हर महादेव !!!!!!
                            
प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं !!HAPPY BIRTH DAY TO YOU !! GOOD WISHES AND GOOD - LUCK !! प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7
www.pitamberduttsharma.blogspot.com.
मेरे ब्लॉग का नाम ये है :- " फिफ्थ पिलर-कोरप्शन किल्लर " !!
मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

2 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल में शामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल {रविवार} 8/09/2013 को मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा | सादर ....ललित चाहार

    ReplyDelete
  2. सुंदर प्रस्तुति,आप को गणेश चतुर्थी पर मेरी हार्दिक शुभकामनायें ,श्री गणेश भगवान से मेरी प्रार्थना है कि वे आप के सम्पुर्ण दु;खों का नाश करें,और अपनी कृपा सदा आप पर बनाये रहें...

    ReplyDelete

प्रेस की स्वतंत्रता के नाम पर अपराधियों के संरक्षण का अड्डा बनता जा रहा है प्रेस क्लब! प्रेस क्लब (PCI) की कुछ प्रेसवार्ताओं, बैठकों, गत...