" बच्चे जानते हैं कि उनको भाने वाली चोकलेट कंहाँ से मिलेगी , युवा जानते हैं कि प्रेयसी कैसे मिलेगी , लेकिन " समझदार " अधेड़ नहीं जानते कि उनको " मोक्ष और संतुष्टि " कंहाँ से मिलेगी ???

सभी ज्ञानी जनों को मेरा हार्दिक नमस्कार !! संतुष्टों को प्रणाम !!
                          वो ऐसा है जनाब पिछले एक सप्ताह में , हमारे नगर के पाँच युवक-युवतियों ने समझदारी भरा कदम उठाते हुए घरसे भाग कर कोर्ट मैरिज करली !! अब कोई हया से " हा " कर रहा है तो कोई हा-हा-हा-हा कर रहा है !! शादी-शुदा लोग भी पीछे नहीं हैं !! एक ने अपना मकान बनाने हेतु घर में मिस्त्री लगाया तो 6 माह बाद घर की मालकिन ही मिस्त्री संग भाग गयी !! दूसरी घटना उससे भी ज्यादा भयानक है एक युवक का रिश्ता हुआ तो वो शादी से पहले ही ससुराल में चक्कर काटने लगा , ससुर जी ने " आधुनिकता " के चक्कर में ध्यान नहीं दिया तो होने वाला जमाई राजा , रजामंदी से सासू माँ को ही भगा लेगया !!
                       कहने का मतलब ये है जी आजकल के तो पैदा होने के 1वर्ष बाद ही बच्चे ऐसी-ऐसी हरकतें करने लग जाते हैं की आस-पास के बड़े लोग हैरानी से मुंह में अपनी अंगुलियाँ ही दबा लेते हैं !! बच्चों के हाथ में नोट पकड़ा दो तो वो वापिस नहीं देते ! अपनी मत के सिवा किसी दूरे के पास जाते नहीं और पड़ोस की दुकान पर जाकर अपनी ही पसन्द की चोकलेट खरीदने की जिद्द करते हैं आदि-आदि !! ऐसे ही युवा भी अपनी पसंद की वस्तु को पाने के सभी तरीके भली-भाँती से जानते हैं , और बेचारे मत-पिता मोह वश उनकी इच्छाओं को पूरा करते जाते हैं !! 

                     इसी चक्कर में अधेड़ों को अपना अगला यानि जीवन का असली ठोर - ठिकाना कँहा मिलेगा ये पता नहीं चलता , और वो आसानी से या तो किसी फरेबी बाबा के चक्कर में फंसकर अपनी साड़ी संपत्ति लुटा बैठते हैं या फिर मोह वश अपने बच्चों की डांट-डपट सुनते-सुनते अपना जीवन समाप्त कर लेते हैं !! किन्तु जीवन की असली संतुष्टि और मोक्ष का रास्ता कंहा से गुज़रते हुए कंहा तक जाता है पता ही नहीं चलता !! यंहा तलक कि वो रास्ता कंहा से शुरू होता है ये बताने वाला कोई सच्चा गुरु ढूँढने का समय ही नहीं मिल पाता !! किसी की सुनी-सुनाई बातों पर ही विश्वास करना पड़ता है !! तब इतने सारे ग्रन्थ पढने का समय ही नहीं बचा होता !! " शोर्ट-कट " ढूँढने के चक्कर में धोखा खा जाते हैं !! बाद में वो बाबा चाहे जेल चला जाए , लेकिन जो चूक गया वो तो डूब गया ना !!
                       इसीलिए मित्रो !! जाग जाओ !! इधर-उधर से झूठा ज्ञान प्राप्त करने की बजाय , स्वयं के अध्ययन पर ही विश्वास करें !!!!! शुभकामनाएं !!
                    सभी मेरे साथ मिलकर कहिये :-
         धर्म की जय हो !! अधर्म का नाश हो !! प्राणियों में सद्भावना हो !! विश्व का कल्याण हो !!!! हर-हर-हर महादेव !!!!!!!!
                        
प्रिय मित्रो , सादर नमस्कार !! आपका इतना प्रेम मुझे मिल रहा है , जिसका मैं शुक्रगुजार हूँ !! आप मेरे ब्लॉग, पेज़ , गूगल+ और फेसबुक पर विजिट करते हो , मेरे द्वारा पोस्ट की गयीं आकर्षक फोटो , मजाकिया लेकिन गंभीर विषयों पर कार्टून , सम-सामायिक विषयों पर लेखों आदि को देखते पढ़ते हो , जो मेरे और मेरे प्रिय मित्रों द्वारा लिखे-भेजे गये होते हैं !! उन पर आप अपने अनमोल कोमेंट्स भी देते हो !! मैं तो गदगद हो जाता हूँ !! आपका बहुत आभारी हूँ की आप मुझे इतना स्नेह प्रदान करते हैं !!नए मित्र सादर आमंत्रित हैं !!HAPPY BIRTH DAY TO YOU !! GOOD WISHES AND GOOD - LUCK !! प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! मेरा इ मेल ये है : - pitamberdutt.sharma@gmail.com. मेरे ब्लॉग और फेसबुक के लिंक ये हैं :- www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7
www.pitamberduttsharma.blogspot.com
मेरे ब्लॉग का नाम ये है :- " फिफ्थ पिलर-कोरप्शन किल्लर " !!
मेरा मोबाईल नंबर ये है :- 09414657511. 01509-222768. धन्यवाद !!
आपका प्रिय मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा,
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार,
R.C.P. रोड, सूरतगढ़ !
जिला-श्री गंगानगर।

Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

Comments

  1. सुंदर प्रस्तुति,आप को गणेश चतुर्थी पर मेरी हार्दिक शुभकामनायें ,श्री गणेश भगवान से मेरी प्रार्थना है कि वे आप के सम्पुर्ण दु;खों का नाश करें,और अपनी कृपा सदा आप पर बनाये रहें...

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. हिंदी लेखक मंच पर आप को सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपके लिए यह हिंदी लेखक मंच तैयार है। हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपका योगदान हमारे लिए "अमोल" होगा |
    मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????