Tuesday, January 31, 2017

"बजट हमारा-आपके द्वारा" !क्यों नहीं हमें पूछते ?- पीताम्बर दत्त शर्मा मो.न.+ 9414657511

लो जी !एकबार फिर हमारे ही द्वारा जो चुने गए हैं  कर्णधार,वो बनाएंगे हमारा बजट ,बताएंगे हमें कि क्या हमने अगले वर्ष खाना-पीना है ,कितना हमने अपनी सरकार को टेक्स देना है ,कितना धन देश की जनता का उसकी रक्षा पर लगना है और कितने धन से हमारे लिए साधन उपलब्ध करवाये जायेंगे ,जैसे रेल,बसें,बिजली-पानी और कपडा-मकान आदि !लेकिन हमारे नेता लोग ,समाजसेवी लोग और देश भक्त पत्रकार लोग अपनी "छिपी हुई सहूलियतें"कैसे प्राप्त करते आये हैं और कैसे भविष्य में प्राप्त करेंगे ?ये नहीं बताते !
                       कल हमेशां की तरह हमारे विपक्षी नेताओं ने एक मीटिंग करी और उसमे ये विचार तो किया की संसद को चलने से कैसे रोकेंगे , लेकिन ये नहीं विचार किया कि जनता को वो फायदे कैसे पहुंचेंगे ?जो उन्होंने अपने घोषणा-पत्रों में कर दिए हैं उनके वोट लेने हेतु !ऐसा सुनने में आया है कि "चतुर विपक्षी नेताओं" ने आज ऐसे तरीके अपनाये ,माननीय राष्ट्रपति जी का भाषण रोकने हेतु पहले तो भाषण के दौरान संसद का साउंड सिस्टम खराब करवा दिया ,बाद में एक सांसद ने बीमार होने का नाटक किया ! इसकी जांच होनी चाहिए !क्योंकि अगर विपक्ष के कुछ षड्यन्त्रकारी सोच वाले नेताओं ने ऐसा करवाया है तो देश की जनता को उन्हें अवश्य दण्ड देना चाहिए !
                     आजकल राजनीतिक दल चुनावों में जनता को फ्री घोषणाओं द्वारा एक प्रकार की रिश्वत-प्रलोभन दिया जाने लगा है , जिसका संज्ञान सर्वोच्च-न्यायालय को अवश्य लेना चाहिए !माननीय मोदी जी को मैं दो निवेदन करना चाहता हूँ !1. मोदी जी !भारत का विपक्ष और R.S.S. आपको दोबारा सत्ता में आने नहीं देगा !इन्होंने वाजपेयी जैसे नेता को ढंग से काम नहीं करने नहीं दिया !क्योंकि दोनों नहीं चाहते कि कोई उनसे भी बड़ा नेता बने !और दूसरी ये कि आप अमेरिका के नए चुने गए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प जी की तरह ही एकमुश्त निर्णय लेकर अपने कार्यकाल के अंत में अगला ठोस रोडमैप जनता को बताएं !घोषणापत्र बन्द होना चाहिए !शपथ-पत्र होना चाहिए !वो भी स्टाम्प-पेपर पर !कृपया नोटबन्दी पर श्वेत-पत्र अवश्य जारी करवाएं !ताकि जनता को विपक्ष के झूठ का पता चल पाए !कलयुग चल रहा है महाराज !! फिर भी हमें पूरी उम्मीद है कि "अच्छे दिन आएंगे "!!


                   



5th पिल्लर करप्शन किल्लर" "लेखक-विश्लेषक पीताम्बर दत्त शर्मा " वो ब्लॉग जिसे आप रोजाना पढना,शेयर करना और कोमेंट करना चाहेंगे ! link -www.pitamberduttsharma.blogspot.com मोबाईल न. + 9414657511

No comments:

Post a Comment

"क्या तीन तलाक़ से तलाक़ हो पायेगा"? - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)

ना जाने किसकी प्रेरणा मुस्लिम महिलाओं को मिली , तीन तलाक़ से पीड़ित कई महिलाएं न्यायालय की शरण में चली गयीं !पीड़ित तो वे कई  समस्याओं से भी व...