Thursday, August 16, 2012

" डरो-मत , मुकाबला करो,इन दंगाइयों का " !!

 मुकाबला करने वाले सभी मित्रों को मेरा झुक कर सलाम !!                                                                                                                                   गुंडे - बदमाश चाहे वो कंही के हों, उनका डट कर मुकाबला करना ही चाहिए !! सरकार चाहे उनसे डर कर उनकी हिंसा की जांच ना कराये , उन पर कंट्रोल ना कर सके, मीडिया चाहे अपना मुंह बंद करले , तो भी आप सब मिलकर अपनी सुरक्षा करें !! मिडिया  की तो हमेशां से  यही चाल रही है की जब हम अपनी रक्षा  करने लगते  हैं तभी वो चीखता है की देखो हिंदुस्तान में " सेकुलर " मारे जा रहे हैं !! 
                   हमें अपनी जान बचाने का पूर्ण अधिकार इस देश संविधान ने दे रख्खा है !!
 सब " साम्प्रदायिक शक्तियों " एक हो जाओ !!
  चुप मत बैठो,उठो !! लड़ो !! भाजपा, चाहे चुप रहे !!....... भागो मत !!!

No comments:

Post a Comment

" परेशान है हर कोई " क्यों ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

भारत ,जिसकी संस्कृति में ही ये सिखाया जाता है कि अपने आप से ज्यादा दूसरों की चिंता करो ! दूसरों पर दया करो !अपने हिस्से के भोजन में से किसी...