Friday, August 17, 2012

" फांसी पर चढाओ उनको, जिन्होंने कलमाड़ी जी को चोर कहा था " ???????

 " झूठे इल्जामों से बदनाम " हो चुके मेरे इमानदार मित्रो !! चमकदार सफाई वाला नमस्कार स्वीकारिये जी !                                                                                     आज कलथोडा सा आदमी कुछ बन जाये सही, बस पूछो मत जी, दोस्त कम - दुश्मन ज्यादा बन जाते हैं आदमी के !! ऐसा ही अपने कलमाड़ी जी के साथ हुआ

  है ! अगले  की सारी इज्ज़त मिटटी में मिलादी इन   इलेक्ट्रोनिक  मिडिया  ,प्रिंट मिडिया और सोशल  मिडिया  वालों   ने  !!!!?????        
                           c.b.i. वाले   अब कह  रहे   हैं   की   उनका कंही  नाम ही नहीं था !! वो तो बस ऐसे ही शोकिया जेलयात्रा कर आये थे !! ???
           आप भी अपने विचार लिखिए हमारे ब्लॉग पर जिसका नाम है " 5th pillar corrouption killer " और जिसका लिंक है  :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. हमारी बातें अच्छीं लगें तो शेयर भी अवश्य करें !!

No comments:

Post a Comment

प्रेस की स्वतंत्रता के नाम पर अपराधियों के संरक्षण का अड्डा बनता जा रहा है प्रेस क्लब! प्रेस क्लब (PCI) की कुछ प्रेसवार्ताओं, बैठकों, गत...