"वो कहते हैं हमसे …, अभी उमर नहीं है तकरार की !! करने दो हमें घोटाले , प्यार से …. !!

प्यार और तकरार करने वाले सभी मित्रों को मेरा बेकरारी भरा नमस्कार !! क्योंकि मैं हो रहा हूँ परेशानइन नेताओं की हेराफेरी से , सीनाज़ोरी से और मासूम दिखने की होशियारी से …। शायद कुमार विश्वास जी ने लिखा है , लेकिन लिखा दिल से है … आप भी पढ़िए और अपने अनमोल विचारों से हमें अवगत अवश्य करवाइए !!
                            

  *****सीधे दिल से लिखा है..उम्मीद है इस ख़त को दिलवाले ही पड़ेंगे..दिल से****
सियासत चाहती है….....
*हम भूल जाएं कि हमें कार में दुनिया का सबसे महंगा पेट्रोल क्यों डलवाना पड़ता है ... सिर्फ ये याद रखें कि वह कार ले कर हमें मंदिर जाना है या मस्जिद ?
सियासत चाहती है...
*हम भूल जाएं कि हमारे टैक्स के कितने पैसे वो मिल- बाँट कर खा गए... सिर्फ ये याद रखें कि हम चरणामृत से उपवास खोलते हैं, या खजूर से ?
सियासत ये चाहती है...
*हम भूल जाएं कि उस नेता का नाम क्या था जिसने शहीद सैनिक को कुत्ता कहा था... सिर्फ ये याद रखें कि हमारे नाम में पांडे लगा है या मुहम्मद ?
सियासत चाहती है....
*हम भूल जाएं कि लोकपाल जैसे कड़े कानून के पन्ने किस तरह फाड़ कर संसद में लहरा दिए गए थे... सिर्फ ये याद रखें कि हमारे घर के सब से पवित्र जगह पर जो जिल्द वाली किताब रखी है, वो कुरान शरीफ है या श्रीमद्भागवद्गीता ?
सियासत चाहती है....
*हम भूल जाएं कि बलात्कारी भेडियों के हत्थे चढ़ी लड़की को मिलने के नाम पर किस औरत ने कहा था 'आज तो इतवार की छुट्टी है'... सिर्फ ये याद रखें कि हमारी बहन का नाम सरस्वती है या शाइस्ता ?
सियासत चाहती है....
*हम भूल जाएं कि हमारे बच्चों को भोजन में ज़हर दे कर किसने मार डाला... सिर्फ ये याद रखें कि हमारा बच्चा स्कूल जाता है या मदरसा ?
सियासत चाहती है.....
*हम भूल जाएं कि उस नेता का चेहरा कैसा था, जिसने कहा था कि 'बारिश नहीं हो रही तो क्या पेशाब से किसानो के खेत भर दें?' ... सिर्फ ये याद रखें कि हम दाढ़ी रखते हैं या चोटी ?
... दुःख तो ये हैं, कि हो वही रहा है जो सियासत चाहती है...लेकिन अब बस और नहीं....क्यूंकि...
सहज सत्य के सामने क्या रुकेंगे सियासी आदमखोर ....!!!!
प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511

Comments

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????