Wednesday, June 24, 2015

"गोवंश के नाम पर चल रहे हैं कई तरह के व्यापार और सध रहे कइयों के गैरवाजिब हित "!! - पीताम्बर दत्त शर्मा (लेखक-विश्लेषक)-मो. न. -9414657511

चोर चोरी करे तो ज्यादा दुःख नहीं होता उसे समझाया जा सकता है , सज़ा देकर सुधारा जा सकता है ! लेकिन अगर कोई पुण्यकर्म  आड़ में अपनी रोटियां सेकें , सरकार द्वारा प्राप्त सहूलियतों का नाज़ायज़ फायदा उठाये और समाज में अपना एक विशेष स्थान बनाने की कुचेष्टा करे, तो इसे  आप लोग क्या कहेंगे ??घोर कलयुग ही कहेंगे ना मित्रो !
                       पूरे भारत में करोड़ों गोशालाएं चल रही हैं ! सभी ऐसी हों ऐसा तो नहीं हैं ! लेकिन कहावत है ना कि "एक गन्दी मछली , सारे तालाब को ही गन्दा कर देती है !ज्यादा समय नहीं गुज़रा है जब लोग पाप करने से डरते थे , किसी और के हक़ व धन को हड़पते नहीं थे ! हराम समझा जाता था किसी के धन पर नज़र रखने को ! लेकिन आजकल पता नहीं लोगों को क्या हो गया है ?जिसे देखो वो ही गलत तरीके से धनवान बनने की योजनाएं बनाता नज़र आ रहा है !जिसके दो आसान तरीके आजकल प्रचलन में हैं ! पहला तरीका तो नेतागीरी और दूसरा तरीका समाजसेवी संस्था बनाकर चंदा हड़पना !
                         मोदी सरकार ने इस और ध्यान देना शुरू किया है और इस मौजूदा सरकार ने 4075 समाजसेवी संस्थाओं के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं !लेकिन किसी गोशाला इसमें शामिल नहीं है ! शायद ये सरकार भी ऐसे लोगों के हंगामे से डरती है कि कंही उसे गोवंश विरोधी ना मान लिया जाये !जबकि निम्न लिखित गलत तरीके अपनाने वाली गोशालाओं को भी बंद कराया जाना अति आवश्यक है !या फिर इनका प्रशासनिक ढांचे में विशेष बदलाव लाये जाएँ !देखने में आया है कि भारत में कई गोशालाओं के प्रबंधक निम्न प्रकार के गलत कार्य कर सकते हैं -:
1. - गोशाला की ज़मीन पर चारे की जगह कोई दूसरी        फसल बीजना !
2. - केवल दुधारू गायों को ही गोशाला में रखना ,              बछड़े और नंदीगण की सेवा नहीं करना !
3. - गोशाला की सम्पत्ति व पैसे को निजी हित में                प्रयोग करना !
4. - किसी दूसरे द्वारा अगर गोवंश को कोई नुकसान          हो जाये तो "प्रबल-विरोध"करना , और अगर            कोई गोवंश स्वयं बीमार हो जाये या फिर                    प्रकिर्तिक मौत मर जाए,  तो उसे जल्द मदद नहीं        पंहुचाना !!
5. - गौशाला में रहते पशुओं की प्रबंधन की गलती से         मौत हो जाना !
                         मेरे दृष्टिकोण से अगर सरकार सभी गोशालाओं में उपरोक्त कारणों की जांच का आदेश देती है तो उसका  स्वागत ही करेंगे !और गोवंश के नाम पर चल रही दुकानें बंद होंगी ???????
                      मित्रो !!"5TH PILLAR CORRUPTION KILLER",नामक ब्लॉग रोज़ाना अवश्य पढ़ें,जिसका लिंक - www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !इसे अपने मित्रों संग शेयर करें और अपने अनमोल विचार भी हमें अवश्य लिख कर भेजें !इसकी सामग्री आपको फेसबुक,गूगल+,पेज और कई ग्रुप्स में भी मिल जाएगी !इसे आप एक समाचार पत्र की तरह से ही पढ़ें !हमारी इ-मेल ईद ये है - pitamberdutt.sharma@gmail.com. f.b.id.-www.facebook.com/pitamberduttsharma.7 . आप का जीवन खुशियों से भरा रहे !इस ख़ुशी के अवसर पर आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !!
आपका अपना - पीताम्बर दत्त शर्मा -(लेखक-विश्लेषक), मोबाईल नंबर - 9414657511 , सूरतगढ़,पिनकोड -335804 ,जिला श्री गंगानगर , राजस्थान ,भारत !
                                                           


No comments:

Post a Comment

मुसलमानो का असली दूश्मन कौन है ..???? अगर भारतीय मुसलमानो से पूछो की तुम्हारा सबसे बड़ा दुश्मन कौन है,तो वो बोलेंगे... आरएसएस वीएचपी बीज...