Friday, August 16, 2013

" क्या इस प्रकार मनाये गये स्वाधीनता दिवस पर हम और आप " गर्व " का अनुभव कर सकते हैं ???

         भारत में आज़ादी का जश्न इस बार कुछ अलग तरीके से मनाया गया ! कोई इसे किसी का आखरी झण्डा - रोहण बता रहा था तो कोई जवाबी भाषण को घटिया और बढ़िया बता रहा था !! कोई अपनी उपलब्धियां गिनाते हुए भी नज़रों को उठा नहीं पा रहा था तो कोई प्रादेशिक उपलब्धियों को इस तरीके से बता रहा था , जैसे देश का भला सिर्फ वो ही कर सकता है ? उसे किसी मंत्री - संतरी की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी ?????
                        प्रिय प्रधान-मंत्री जी और लोकप्रिय मोदी जी के भाषण देने के पश्चात जो अलोक-प्रिय " कटाक्ष " किये गये विभिन्न सेनापतियों द्वारा उन्होंने तो ज़हरीले तीरों जैसा काम किया !! बुद्धिजीवी सोचने पर मजबूर हैं कि कोई करे भी तो क्या करे ??????
                   सरदार मनमोहन सिंह जी के लाल किले से दिए गये तथाकथित " अन्तिम " भाषण से केवल यही अन्देशा देश को हुआ की वह स्वयं गैर- राजनितिक  रूप से भाषण दे रहे हैं !! केवल एक " क्लर्क " की रिपोर्ट पढ़ते हुए नज़र आ रहे थे !! देश किसी प्रधान मंत्री के चलाने  से नहीं बल्कि अपनी गति से ही चल रहा था !! देशवासी किसी नए " सूर्य " के उगने की प्रतीक्षा करते नज़र आये !!
                    पिछले दस सालों की मामूली - मामूली उपलब्धियां गिनने से बेहतर होता की आप ये बताते कि देश में इतने बढ़िया शासन के बावजूद इतनी कमियाँ क्यों हैं ??? पाकिस्तान और चाईना के मसले पर विश्व को दिखने हेतु आप बड़े ही " संयम " से बोले लेकिन देशवासियों का होसला बढ़ने हेतु आपने दो शब्द भी नहीं बोले क्यों ?? लालकिले से दिया जाने वाला हर भाषण सारे देशवासी पहले रेडियो और फिर टेलिविज़न पर बड़े ही ध्यान से सुना करते थे , क्या कारन हुआ कि  पिछले दस सालों से लोग बोर होने लगे हैं ???
                    भारत में कोई अकेला नरेंदर मोदी ही तो मुख्यमंत्री नहीं ?? मिडिया ने दुसरे मुख्यमंत्रियों के भाषण को लाईव क्यों नहीं दिखाया केवल मोदी के भाषण को ही क्यों महत्व  दिया ???? क्या मिडिया भी मान चुका  है कि भारत की अगली " आस " मोदी ही हैं ???  ऐसे तो नहीं कभी आस्ट्रेलिया बुलाता है , कभी अन्ना तारीफ़ करते हैं तो कभी " साधू " मिलने जाते हैं !! बहुत कुछ है उस बन्दे मैं जो भारत के जन-जन में आस जगाता है !! चाहे उनके पक्षकार हों या विरोधी तुलना तो सब करते ही हैं इन दोनों की !!


               हालांकि मोदी जी में भारत के व्याप्त समस्याओं का निराकरण कैसे करना है , ये नहीं बताया , शायद सही समय आने पर ही बतायेंगे !! तभी टी भाजपा के अन्दर बैठे तथाकथित " बड़े " नेताओं को भी ये समझ नहीं आ रहा कि अपना छोटा हो रहा कद जनता को कैसे बड़ा करके दिखाएँ ???? इसी लिए आडवाणी जी ने कहा कि पंद्रह अगस्त वाले दिन तो बक्श देना था !! लेकिन लोग कहते हैं कि हमारे प्रधानमंत्री जी उसके इलावा बोलते ही कब हैं ???

               असल में राष्ट्र आज किसी नेता या राजनितिक दल का विकल्प नहीं चाहता , वो तो हमारे देश में व्याप्त विभिन्न समस्याओं की " वैकल्पित - व्यवस्था " चाहता है !! क्योंकि R.T.I.,2 साल की सज़ा वाले व्यक्ति को चुनाव ना लड़ने देने का सुप्रीम कोर्ट का निर्णय और अपना वेतन बढ़ाने वाले मामलों में सभी राजनितिक दलों की अभूतपूर्व " एकता " देख चूका है !! इन " दम्भ " से भरे चोर राजनेताओं हेतु देशवासियों के दिलों से रोजाना ढेरों " श्राप और बद्दुआएं " निकलती हैं !!

                 बुरे नेताओं को भगवान ही बचाए !! क्योंकि हम भारतीय तो दुश्मन का भी बुरा नहीं सोच सकते , करना तो दूर की बात है !!
                    प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL

                    

1 comment:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी का लिंक कल रविवार (18-08-2013) को "नाग ने आदमी को डसा" (रविवासरीय चर्चा-अंकः1341) पर भी होगा!
    स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...