" कृपया भारत के बेईमान नेताओं - करमचारियों और भ्रष्ट व्यापारियों हेतु उचित भाषा का प्रयोग करें " !!

भारत सरकार नए मीडिया हेतु नए क़ानून बना कर , उनका सख्ती से पालन करवाकर फेसबुक , ट्विटर और ब्लॉग पर लिखने वालों को " उचित भाषा " का प्रयोग करना सिखाना चाहती है , ताकि भविष्य में नेताओं की " गरिमा " बनी रहे !!
                              एक कहावत है जिसे हमारी माता श्री हमें बचपन में बहुत सुनाया करती थी ! और यकीन मानिए की हमें काफी समय तलक समझ ही नहीं आई थी !! वो कहावत यूँ थी कि - : " अपनी इज्ज़त अपने ही हाथ में होती है " !! हालांकि जिस भाषा का उपयोग कई मित्र  फेसबुक आदि नए साधनों पर करते हैं वो मुझे भी बिलकुल पसंद नहीं है और ना ही मैं कोई उनका किसी भी तरह से बचाव कर रहा हूँ !!लेकिन ऊंचे पदों की मर्यादा की दुहाई देकर भ्रष्ट व्यक्तियों को अमर्यादित डिग्रियों द्वारा नवाज़े जाने से कैसे बचाया जा सकता है ???? वो तो सब स्वयं के व्यवहार पर ही निर्भर होता है ना !! 


                         अभी हाल में ही हमारे 5 सैनिकों को पाकिस्तान की सेना के जवान मार कर चले गए जिस पर हमारे नेताओं , रक्षा-विशेषज्ञों और मानवाधिकार के रक्षकों ने ऐसे - ऐसे बयान दिए कि बस पूछो मत !! इतनी " इज्ज़त - बख्शने " का मन हुआ कि तुरंत ही उन सबके नाम का एक सामूहिक " मकबरा " बनवा दूँ !!
                   हमारे नेता इतने " कड़े " शब्दों " का प्रयोग करते हैं की दुश्मन देश की सेना और उनकी सेना घबराकर और ज्यादा हमले करने लगती है !!
रात को ZEE न्यूज़ पर दिखाया जा रहा था कि
भारत के पास इतनी मिसाइल हैं इतने टैंक इतनी पनडुब्बी हैं
ये लड़ाकू विमान है वो ऐसे हैलीकॉप्टर हैं परमाणु बम है
हम चाहें तो पाकिस्तान तीन मिनट में को नेस्तोनाबूद कर दें
लेकिन यह नही बताया कि
हमारे पास एक बुजदिल कायर निकम्मी सरकार भी है
जिसके पास इन हथियारों को इस्तेमाल करने की हिम्मत ही नही है
कोई निर्णय क्षमता नही है -
फिर क्यूँ अरबों रु. इन हथियारों पर बर्बाद किये जा रहे हैं शो पीस पर
समुन्द्र में विसर्जित कर दो सब हथियारों को यदि ये सब किसी कम के नही हैं तो
उस पर तुर्रा भी देखिये - अभी यह भी विचार ही किया जा रहा है कि
पाकिस्तान के साथ बातचीत जारी रखी जाये या नही......!!!!
Photo: रात को ZEE न्यूज़ पर दिखाया जा रहा था कि
भारत के पास इतनी मिसाइल हैं इतने टैंक इतनी पनडुब्बी हैं
ये लड़ाकू विमान है वो ऐसे हैलीकॉप्टर हैं परमाणु बम है
हम चाहें तो पाकिस्तान तीन मिनट में को नेस्तोनाबूद कर दें
लेकिन यह नही बताया कि
हमारे पास एक बुजदिल कायर निकम्मी सरकार भी है
जिसके पास इन हथियारों को इस्तेमाल करने की हिम्मत ही नही है
कोई निर्णय क्षमता नही है -
फिर क्यूँ अरबों रु. इन हथियारों पर बर्बाद किये जा रहे हैं शो पीस पर
समुन्द्र में विसर्जित कर दो सब हथियारों को यदि ये सब किसी कम के नही हैं तो
उस पर तुर्रा भी देखिये - अभी यह भी विचार ही किया जा रहा है कि
पाकिस्तान के साथ बातचीत जारी रखी जाये या नही......!!!!
जनता की पसंद अब इन्ही कारणों से बदले लगी है !! लोग नमो-नमो करने लगे हैं !! दोनों ये सवाल भारत की सरकार से पूछ रहे हैं - :
* शिक्षा क्यों बन गई है मनी मेकिंग मशीन?
* आजादी के वक्त डॉलर और रुपये की कीमत बराबर थी। फिर आज डॉलर के सामने
रुपये की कीमत 60 रुपये से ज्यादा क्यों?
* मालदीव और बांग्लादेश जैसे देशों की करंसी स्थिर है फिर भारत के अर्थशास्त्री पीएम रुपये को कमजोरहोता क्यों देख रहे हैं?
* कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार ने 100 दिन में महंगाई कम करने का वादा किया था, उस वादे का क्या हुआ?
* कांग्रेस ने दशकों पहले गरीबी हटाओ का नारा दिया था तो फिर आज गरीबी क्यों नहीं हटी?
* 10 साल पहले भारत की दो यूनिवर्सिटी दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज में थीं, लेकिन आज
सिर्फ एक क्यों?
* 10 साल पहले चीन की एक भी यूनिवर्सिटीदुनि या की टॉप यूनिवर्सिटीज में नहीं थीं पर आज 32 हैं, ऐसा क्यों?
* महंगाई, बेरोजगारी की बात आते ही कांग्रेस सेक्युलरिज्म का बुर्का क्यों पहन लेती है?
* रेलवे स्टेशनों पर सड़ रहा अनाज शराब बनाने वालों को क्यों बेचा गया, जबकि सुप्रीम कोर्ट ने उस अनाज को गरीबों में बांटने का आदेश दिया था?
* रेलमंत्री पवन बंसल के खिलाफ सबूत होने के बाद भी सीबीआई ने उन्हें गवाह क्यों बनाया?
* कोलगेट में सीबीआई रिपोर्ट बदलवाने के पीछे कौन था, पीएमओ इस बारे में देश को सच क्यों नहीं बताते?
* भारतीय सैनिकों को सिर काट ले जाने के कुछ दिनों बाद ही पाकिस्तानी अधिकारियों को चिकन क्यों खिलाया गया?
* भारतीय मछुआरों की हत्या के बाद इटली के नौसैनिक क्यों वापस भेजे गये?
* महंगाई, बेरोजगारी जैसे सवालों पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, सोनिया गांध देश
को जवाब क्यों नहीं देते हैं?
* सरदार सरोवर बांध की फाइल पर क्यों बैठे हैं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, क्यों फाइलें आगे नहीं बढ़ती हैं?
* बिजली बनाने के लिये कोयले की जरूरत है तो क्यों उसे पूरा नहीं किया जा रहा है?
* यूपीए शासनकाल में हर फाइल को बढ़ाने में इतना समय क्यों लग रहा है?
* पाकिस्तान के साथ आंख में आंख डालकर बात क्यों नहीं करती है सरकर ?
 प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
आपका मित्र ,
पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511

Comments

  1. AB TO NARENDRA MODI JI KO AANAA HI HOGA ,TABHI DESH KI TARAKKI HOGI,

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी का लिंक कल शनिवार (10-08-2013) को “आज कल बिस्तर पे हैं” (शनिवारीय चर्चा मंच-अंकः1333) पर भी होगा!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????