" हैवी - डाईट , वाले सरकारी चूहे ".....????

" हैवी - डाईट " वाले मित्रो , भारी - भरकम नमस्कार !! कृपया स्वीकार करें !! 
                                आपको जान कर अति प्रसन्नता होगी की भारत के " इमानदार खाद्य - अफसरों " ने सरकार को बताया की 50,000 टन अनाज जो गोदामों में रख्खा था और जिनकी रक्षा हेतु चौकीदार भी नियुक्त थे, के बावजूद एक वर्ष में " हैवी - डाईट " वाले चूहे खा गए !! लेकिन उन शरीफ़ अफसरों की " सच्ची- बात " बड़े साहिबों को पसंद नहीं आई या यूँ क्न्हें की उन्हें विश्वास नहीं हुआ तो उन " इमानदार छोटे अफसरों"  पर थाणे  में  रपट लिखा दी गयी ।। इतना ही नहीं बल्कि उस अनाज की कीमत इन्ही अफसरों से वसूलने की कार्यवाही करदी ....!! है ना मित्रो " घोर अन्याय " ...????? 
                                 इन अफसरों का अनाफिश्यली ये कहना है की यही काम अगर नेताओं ने किया होता तो ना जाने कितनी देर तो आरोप - प्रत्यारोप चलते , चेनलों पर बहस होती , फिर संसद ठप्प होती तब कंही जाकर रपट दर्ज होती और फिर 10.- 20. सालों में जाकर निर्णय आता और वो शर्तिया ये निर्णय तो हरगिज़ नहीं होता की उस गायब हुए अनाज की कीमत ही उन नेताओं से वसूली जाए ....!! आज तक का इतिहास निकाल कर चाहे देख लीजिये कंही भी ऐसा उदाहरण आपको नहीं मिलेगा !!!??
                          ये नेता लोग अपने आपको तो संसद - विधानसभा के पीछे रख कर , उनकी इज्ज़त का हवाला देकर बचा लेते हैं क्या हम अफसर लोगों की कोई " इज्ज़त " नहीं है ???  हम भी तो सरकारी हैं और सरकार की भी तो कोई " आभा " है की नहीं ...??
हमारे प्रधान मंत्री जी कोयले की खदाने कम कीमत पर अलाट करदें तो वो सरकारी निति हो जाती है की जनता को कम कीमत पर बिजली उपलब्ध हो इसलिए ओउने - पौने दामों में कोयले के ब्लोक अलाट सस्ते करदिये , उनके मंत्री जी खेलों में बढ़िया के नाम पर करोड़ों का फर्क डाल  देंवे और 2.जी . में यू .पी .ऐ .की सभी पार्टियों  के चुनावों हेतु चंदे की व्यवस्था हो गयी ..??? और अगर हमने चूहों को थोड़ा सा दाना खिला दिया तो पहाड़ टूट गया ??? वो एक लायीं है ना जो वाहनों पर लिखी होती है ..." हम करें तो आवारा गर्दी , वो करें तो रास लीला " ...????? 
                                ना जाने इस देश का क्या होगा जनाब !! जिधर देखो उधर " गिद्ध " घूम रहे हैं मित्रो , आपके क्या विचार हैं ...??? कृपया आप अपने विचार हमारे ब्लॉग और ग्रुप पर जाकर टाईप करें जी , जिसका नाम है " 5th pillar corrouption killer " और इसे खोलने हेतु लाग आन करें :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. इसे आप अपने फेस-बुक मित्रों के संग बाँट भी सकते हैं ,या फिर कंही प्रकाशित भी कर सकते हो ...बिलकुल फ्री !! और ज्यादा जानकारी हेतु निम्न पते पर सम्पर्क करें जी :- पिताम्बर दत्त शर्मा , हेल्प - लायीं - बिग - बाज़ार , आर . सी . पी. रोड , सूरतगढ़ । जिला श्री गंगानगर ( राजस्थान , भारत ) मोबाईल नंबर :-919414657511,01509 - 222768. आप चाहें तो आप हमारे ब्लॉग को ज्व्यीं भी कर सकते हैं जी !! 

                       धन्यवाद !! जय श्री राम !! 

Comments

Popular posts from this blog

बुलंदशहर बलात्कार कांड को यह ‘मौन समर्थन’ क्यों! ??वरिष्ठ पत्रकार विकास मिश्रा - :साभार -सधन्यवाद !

आखिर ये राम-नाम है क्या ?..........!! ( DR. PUNIT AGRWAL )

भगवान के कल्कि अवतार से होगा कलयुग का अंत !!! ????