Monday, June 18, 2012

" भारतीय संस्कृति की दुश्मन , ये सोनिया - मनमोहनी सरकार "???

" पानी पिलाने वाले मेरे प्रिय मित्रो , सावन सी फुहारों से भरा नमस्कार स्वीकार कीजिये !! पानी पिलाना एक मुहावरा है जिसका अर्थ हम सब जानते हैं की दुश्मन को चित कर देना ! दोस्तों हमारी सरकार ही हमें चित्त करने पर उतारू है वो भी विदेशी कम्पनियों के कहने पर !! ये तो हद ही हो गयी ! की इतनी बड़ी खबर को इलेक्ट्रोनिक मिडिया ने तो दिखाया ही नहीं क्योंकि उसको तो देश की जनता का ध्यान बंटाने का काम ही करने के पैसे मिलते हैं !!   प्यासे को पानी पिलाना तो भारतीय संस्कृति का एक हिस्सा है उसे किसी कानून के तहत कैसे समाप्त किया जा सकता है ??? लेकिन इस विदेशी हाथों और साँसों से पलने वाली संप्रग सरकार ने वर्षों पुराना " सराय - कानून " समाप्त कर दिया है !! जिसके अन्दर अब ये होगा की कोई भी किसी को मुफ्त में पानी नहीं पिला सकेगा !
                           आप आने वाली परस्थितियों का अंदाज़ा भली - भाँती लगा सकते हैं ! की इस देश में ये सरकार पानी की कमी जान बूझ कर बनाएगी और विदेशी कम्पनियों के मालिक या माफिया के लोग अपने खजाने भरेंगे जिसमे निश्चित रूप से नेताओं का भी हिस्सा होगा !!कब तक सोते रहेंगे हम ! सब बिकाऊ माल हो गया है बस कीमत का अंतर है मित्रो !! इस लिए आप सब से प्रार्थना है की वोट देते समय हमेशा याद रखें ----- कि अबकी बार हम किसी धर्म के नाम पर अपना वोट नहीं देंगे , किसी जाती या इलाके के नाम पर अपना वोट नहीं देंगे यंहा तक की किसी पार्टी के पीछे लग कर भी अपना वोट बेकार नहीं करेंगे !! पैसे और दारु की पेशकश करने वालों की तो जूतों से सेवा करेंगे !हम सब देख रहेंगे की सभी पार्टियों के नेता अपने सांसदों या विधायकों की राय नहीं ले रहा , बल्कि उनको तो भेड़ें समझ रहा है ! बस सोदे - बाज़ी के चक्कर में पड़े हुए हैं !! तो हम ऐसे नेताओं को दोबारा सांसद और विधायक क्यों चुने .............???????????
                    आप ही बताइए मित्रो क्या मैं गलत हूँ ..?? अपने विचार आप अवश्य मेरे ब्लॉग और ग्रुप को ज्वाईन करके लिखें क्योंकि हम आपके विचारों को भी अपनी पुस्तक में प्रमुखता से प्रकाशित करेंगे !! जिसका नाम है " 5TH PILLAR CORROUPTION KILLER " और इसे खोलने हेतु लोग आन करें www.pitamberduttsharma.blogspot.com. जितना हो सके इसे आप अपने मित्रों संग शेयर भी अवश्य करें क्योंकि ये आवाज़ हमने करोड़ों लोगों तक पन्हुचानी है जी !! .....जय श्री राम !! आपका ...पीताम्बर दत्त शर्मा , सम्पर्क 9414657511. 

No comments:

Post a Comment

" परेशान है हर कोई " क्यों ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

भारत ,जिसकी संस्कृति में ही ये सिखाया जाता है कि अपने आप से ज्यादा दूसरों की चिंता करो ! दूसरों पर दया करो !अपने हिस्से के भोजन में से किसी...