Thursday, May 16, 2013

" ये क्या हो रहा है ???? ये क्या हो रहा है" ???
                  
विज्ञान तरक्की पर-प्रकृति संतुलन पर:

हर तरफ सौन्दर्य बिखरा, प्रकृति की गोद में
आदमी मगर लगा है, प्रकृति के शोध में

शोध करके प्रकृति में, करता है ये उलट-फेर
रोज़ उलझनें सुलझाये, फिर भी उलझनों का ढेर

प्रकृति से, प्रकृति को, जन्म हुआ आदमी का
पर ये खुराफाती हुआ, रूप छोड़ा सादगी का

क्रिया-प्रतिक्रिया खोजी, पर नहीं ये समझ पाया
विश्व उँगली तले लिया, क्यों नहीं फिर चैन आया

बम एटम का बनाकर, विश्व में है मर्द बना
सोचता अब, रखूं कहाँ, ये तो है सिर दर्द बना .....?

मशीनी दुनिया बनाकर, खुद मशीन बन गया है
अकेला रहकर वो जिए, रिश्तों में घुन लग गया है

न्यूज़ चेनल बताते हैं, विश्व मुट्ठी में लिया अब
पडौसी मर गया अपना, पता चला तेरहवीं जब

खाली बैठी पत्नी, 'कुकिंग रेंज' में बनाकर खाना
बदन थुलथुला हुआ, और 'बोर हो गई' देती ताना

बदन को स्लिम बनाने, हेल्थ क्लब में अब वो आती
समय तो कुछ बचा नहीं, फालतू में फीस जाती

श्रम और समय बचाने को, सभी ये यंत्र बने
उबला खाओ ज़िम में जाओ, डाक्टरों के मन्त्र बने

संतुलन प्रकृति रखती, हमेशा हर हाल में
खुश रहो और प्यार बाँटो , मत फँसो जंजाल में
(कवि अशोक कश्यप)
                   
          
-:- .............. जागो ग्राहक जागो .............. -:-
सब "बकवास" है, सब "झूठ" है ! कौन है ये उपभोक्ता ?
ज़रा गौर करे ..
च्वनप्राश में सोना चांदी, पान मसाले में सोना चांदी 
(जिसे खा कर थूक देते है)
शर्बत में "केसर बादाम", कांच की "बोतल" में है आम
साल भर (बारह महीने हाज़िर)
फेसपैक में पपीता सेब बादाम, साठ रूपये का एक रुमाल
और भैया "कपडे धोने" का "पाउडर" में " नींबू " की ताजगी
यहाँ "नकली" मिलती है दवा और चिप्स के पैकट में भरी हवा
यहाँ साबुन में दूध मलाई मिलती है और दूध में सल्फर, सलेरी
सत्यानाश हो तुम्हारा ManKind`s वालो 'निरोध' में भी अब
चाकलेट और स्टाबरी "फलेवर" ! .....
MANKIND'S MANFORCE CONDOMS (STRAWBERRY FLAVOUR)
         कुछ तो आदमी के खाने के लिए भी छोड़ दो ..
                        
                            CURRENT- AFFAIRES WRITER , " 5TH PILLAR CORROUPTION .KILLER" 
क्यों मित्रो !! आपका क्या कहना है ,इस विषय पर...??
प्रिय मित्रो, ! कृपया आप मेरा ये ब्लाग " 5th pillar corrouption killer " रोजाना पढ़ें , इसे अपने अपने मित्रों संग बाँटें , इसे ज्वाइन करें तथा इसपर अपने अनमोल कोमेन्ट भी लिख्खें !! ताकि हमें होसला मिलता रहे ! इसका लिंक है ये :-www.pitamberduttsharma.blogspot.com.

आपका अपना.....पीताम्बर दत्त शर्मा, हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार , आर.सी.पी.रोड , सूरतगढ़ । फोन नंबर - 01509-222768,मोबाईल: 9414657511
Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.)

No comments:

Post a Comment

"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...