Saturday, May 12, 2012

" इण्डिया - इन - निंदिया , फिर भी है - जिन्दिया " राम है - राम है !!

" सोने वाले व सोते - सोते कई काम करने वाले " मेरे मलटी  टेलेंटेड मित्रों को मेरा राम राम !! 
                     कल मैंने हमारे मशहूर फ़िल्मी कलाकार श्री आमिर खान जी का एक विज्ञापन देखा , जिसमे वो अपने कार्यक्रम " सत्यमेव - जयते " के बारे में बताते हुए जनता से कहते हैं की सोते रहने वालो , रविवार को भी खूब सोना , नो बजे तक दस बजे तक , ग्यारह बजे तो मैं आकर आपको जगा ही दूंगा ! इस कार्यक्रम को मैं अभी देख नहीं पाया लेकिन उन्होंने बहुत ही प्रशंसनीय काम शुरू किया है !! किसके कहने से , क्यों और कौन है उनके पीछे , किसको फेल करना चाहते हैं ?? क्यों कांग्रेसी मुख्यमंत्री उनको समय दे रहे हैं ??? मई इन कामों में नहीं पडूंगा केवल अच्छे काम की तारीफ़ ही करूँगा !! राम देव जी अन्ना हजारे जी के नंबर कम होते हैं तो होयें मुझे क्या ??? शोले फिल्म में असरानी जी के दो - चार डायलाग बड़े मशहूर हुए थे :- इतनी बदलियों के बाद भी हम नहीं बदले ...!! उसी तरह इस भारत की जनता या पूरे विश्व की जनता भी अगर कन्हे तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी की मनुष्य को सुधरने हेतु परमात्मा ने कितने अवतार लिए , कितने साडू - संत और महापुरुष हुए काहे के लिए ??? फिर भी क्या हम सुधरे ....???? बिलकुल नहीं बल्कि हम तो इतने होशियार हैं की हम सुधारने वाले को ही पागल साबित कर देते हैं ??
                                       ठीक इसी तरह आमिर जी आप हमें क्या जगायेंगे हम तो जागते हुए सोने का नाटक कर रहे हैं !!! हम सारे माखन चोर को पूजते हैं और हम सारे अन्दर से चोर हैं , फिरभी हमारा देश तरक्की कर रहा है !! वो सिर्फ इसलिए की इस देश के सर पर राम है ....राम है ....और केवल राम ही है !! वरना आदमी की क्या ओकात ??? हमारे सारे गंदे काम तो भगवन करता है और अच्छे काम हम करते हैं !!हम सारा श्रेया खुद ही लेना चाहते हैं आपकी जो ये तारीफ़ हो रही है ये तो पैसों के बल पर कुछ ही समय हेतु है , थोड़े दिनों बाद आप ही देखना भारत की जनता आपकी और आपके इस कार्यक्रम की कैसे बखियां उधेड़ती है क्योंकि सरकार द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम थोड़ी देर ह चलते हैं !! सरकारी N.G.O. को भी जनता खूब पहचानती है जो चेनलों पर आकर उल - जलूल बोलते रहते हैं !! अभी एक फिल्म आई है जिसमे " भारत माता की जय " नामक गीत में अपने देश की ही इज्जत मिटटी में मिलायी गयी है !! वो भी काम कलाकारों ने ही किया है और अच्छा काम भी कलाकार ने ही किया है !! इसलिए इण्डिया इन निंदिया ही ठीक है , राम जी हैं ना जैसे शाहरुख़ खान बोलता है मैं हूँ न !! हमारे तो राम जी हैं सब ठीक कर देंगे , कसब को भी , नेता को भी अफसर को भी , माफिया ठेकेदार को भी यानी सबको अब अगर मैं सब के नाम गिनाने चलूँ तो ये लेख लम्बा हो जायेगा ...आप ही बताओ मित्रो आपके विचार आपके अपने ग्रुप और ब्लॉग पर जिसका नाम है " 5TH PILLAR CORROUPTION KILLER " रोजाना लाग आन करें www.pitamberduttsharma.blogspot.com. और अपने अनमोल विचार हमें बताएं जी !! कंही मैं आपको बोर तो नहीं करता ?????? धन्यवाद !!!!  जय श्री राम !! 

No comments:

Post a Comment

" परेशान है हर कोई " क्यों ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

भारत ,जिसकी संस्कृति में ही ये सिखाया जाता है कि अपने आप से ज्यादा दूसरों की चिंता करो ! दूसरों पर दया करो !अपने हिस्से के भोजन में से किसी...