Tuesday, May 15, 2012

" अब सबको - गैस प्रॉब्लम - होने वाली है " ???

" गैस पीड़ित " सभी मित्रों को मेरा "पोदीन हरा " भरा राम - राम !! कृपया " डकार " मार कर स्वीकार करें !!
             लेकिन मैं जिस गैस - प्रॉब्लम की यंहा बात कर रहा हूँ वो पकाने वाली गैस है !! अजी वो वाला पकाना नहीं , भोजन पकाने वाली गैस प्रॉब्लम की बात कर रहा हूँ !! और मजे की बात ये है की जिस प्रकार से नशे की लत लगाकर यार रफूचक्कर हो जाते हैं ठीक उसी तरह हमारी सरकार हमें गैस की आदत लगा कर अब हमें छोड़ कर जा रही है ! 
                  जी हाँ !! हम माँ के हाथों से बनी चूल्हे पर फूली हुई बढ़िया रोटी खा रहे थे ! सरकार ने प्रचार करवाया जंगल ख़तम हो रहे हैं गैस पर रोटी बनाओ और 500/- का सिलेंडर मात्र 80/- रूपये में देना शुरू करदिया !! गैस कम्पनियों ने उस समय गैस बिकवाने के एवेज़ में उस समय की सर्कार वाली पार्टियों को कितना चंदा दिया , ये तो जांच का विषय है !! या फिर राम ही जानता है !!लेकिन धीरे - धीरे जनता को इस गैस की आदत हो ही गयी !! अब इसकी कीमत 400/- से ज्यादा हो चुकी है , और हमारी सरकार दो किस्तों में इस गैस के सिलेंडर को 900/- रूपये तक पंहुचा कर दम लेगी !! पहले तो सांसदों और अमीरों को गैस प्रॉब्लम होगी फिर 50,000/- से ज्यादा कमाने वालों को अंत में हम जैसे गरीबों की भी बारी आने वाली है !! यानि " बकरे की माँ कब तक खैर मनाएगी " ??
            हमारी पढ़ी - लिखी सरकार का ये अजीब फार्मूला है की सब के रेट बढ़ा दो तो सब अमीर हो जायेंगे ??? कर्मचारी की तनख्वाह 30,000/- गेंहू 1600/-, इसी अनुपात में सब वस्तुओं के दाम भी बढ़ा दिए ...तो मर गया वो बेचारा जो 30,000/- मासिक कमाने में असमर्थ है ..उसके बारे में कोई नहीं सोच रहा क्यों ???? क्योंकि वो अफसर भी नहीं , आरक्षित जाती से भी नहीं ..और मजदूरी करने वाला भी नहीं है वो बेचारा माध्यम दर्जे का ये निम्न माध्यम दर्जे का आदमी है उसके लिए मौत हो गयी है ??? ऐसा भी नहीं है की वो इस देश में कोई कम गिनती में है लेकिन क्योंकि वो संगठित नहीं इसलिए मर रहा है !! सारे राजनितिक दल उसको भरोसा तो देते हैं लेकिन वास्तविकता में उसे कुछ नहीं मिल पा रहा .....खुदा खैर करे , इन नेताओं को अक्ल प्रदान करें !!कार्टून हटाने या लगाने पर नहीं संसद में भारत वासी को सुविधाएं कितनी मिल रही हैं इस पर बहस करें तो बेहतर होगा .....बोलो राम - राम !! आप भी अपने विचार हमारे ब्लॉग पर लिखिए जिसका नाम है :- 5th pillar corrouption killer "लाग आन करें  www.pitamberduttsharma.blogspot.com. अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो आप इसे फेसबुक पर शेयर भी करें ...!! धन्यवाद !!

1 comment:

  1. Ab gareeb ko kabhi pet mein gas problem nahi hogi kyoki pet bhar khana hi nahi milega

    ReplyDelete

"मीडिया"जो आजकल अपनी बुद्धि से नहीं चलता ? - पीताम्बर दत्त शर्मा {लेखक-विश्लेषक}

किसी ज़माने में पत्रकारों को "ब्राह्मण"का दर्ज़ा दिया जाता था और उनके कार्य को "ब्रह्मणत्व"का ! क्योंकि इनके कार्य समाज,द...