Tuesday, May 22, 2012

" काला धन - श्वेत पत्र --- ग्रे - सरकार ! हो गया ,बनटआधार " !!

प्यारे मित्रो , रंग बिरंगा नमस्कार स्वीकार करें !! 
                 भारत की जनता ," कौमा " में चली गयी है और हमारी सरकार प्रतीक्षा में है की कब जनता मरे और देश के नेतागण जनता की अर्थी उठाये !! जब से ये नेता अमेरिका के पिछलग्गू बने हैं भारत का बेडा गर्क ही होता जा रहा है !! जिसको देखो वो ही किसी ना किसी के पीछे ही लगा हुआ है !! विपक्षी दल भी किसी के कहने पे ही काम कर रहे हैं , देश के समाजसेवी संगठन भी किसी न किसी कार्पोरेट घराने से जुड़े हुए हैं ! और जनता कानूनी रूप से देश के नेताओं से जुडी हुई है !                    देश के रूपये की कीमत गिर रही है ,मंदी का दौर चल रहा है ! मंहगाई आम आदमी को मार रही है ,ऐसे में बाबा रामदेव ने सुझाया की जो विदेशों में काला धन पडा है उस से देश को चला लो !! सरकार हैरान हो गयी की बाबा को कैसे पता चला ? जब ज्यादा शोर मचने लगा तो सरकार ने " श्वेत पत्र " जारी कर दिया ! 108. पन्नो का श्वेत पत्र बनाया गया जिसमे वो ही बातें बताई गयीं जो आयकर विभाग ने सरकार को बतायीं या फिर विदेश मंत्रालय को पता चल चुकीं थीं !! लेकिन सर्कार ने ये नहीं बताया की किन - किन लोगों का कितना - कितना धन कौन से बेंक में पड़ा है ?? और उसे भारत वापिस कैसे लाया जाएगा इसका भी ज़िक्र तक नहीं है क्यों .....???? वो इसलिए क्योंकि सरकार सब कुछ जानती है की किसका धन है और वो उसे भरपूर अवसर देना चाहती है की आप इसका इंतजाम  करलो !! जब काला धन सफेद हो चूका होगा तब सरकार कहेगी की , पिछली भूलें माफ़ और अबसे टेक्स दिया करो !!
                     आधा - अधूरा श्वेत - पत्र जारी कर सरकार का रंग भी " ग्रे " यानी काला सा हो गया है !! शक के घेरे में पूरी तरह से आ चुकी है ये यु .पी .ऐ . की सरकार और उसके सारे मंत्री ??? लेकिन जो विपक्ष अब इतनी हाय तौबा मचा रहा है वो ही कल को इन्ही प्रणब मुखर्जी जी को राष्ट्रपति बनाने की सिफारिश भी करता नज़र आयेगा !! या इनके ही किसी और आदमी का समर्थन करेगा क्यों ....??? आज के नेताओं , अफसरों की कार गुजारियों से भारत देश का बंटाधार हो चूका है जिसका खामियाजा आने वाली पीढ़ियों को भुगतना ही पड़ेगा !! आप ही बताइए मित्रो .......!!! कोई है सुझाव आपके ज़हन में !! ??? चलो 3.जून 2012. को दिल्ली के राम लीला मैदान चलते हैं वंहा जाकर सोचेंगे !! की क्या करना है ?? 

            आप हमेशा की तरह हमारा ब्लाग पढ़ते रहिये जिसका नाम है " 5th pillar corrouption killer " इसे पढने हेतु लाग आन करें :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. हमें सोचना होगा की इन नेताओं को कौन सी भाषा समझ आती है ....????? इसे पढने और अपने मित्रों संग बांटने हेतु आपका अग्रिम धन्यवाद !! बोलिए बड़े प्रेम से .....जय श्री राम !!  

No comments:

Post a Comment

प्रेस की स्वतंत्रता के नाम पर अपराधियों के संरक्षण का अड्डा बनता जा रहा है प्रेस क्लब! प्रेस क्लब (PCI) की कुछ प्रेसवार्ताओं, बैठकों, गत...